पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

प्रेरणादायी खबर:सोशल डिस्टेंस रख निभाई जल संरक्षण की 194 साल पुरानी परंपरा

झुंझारपुरा4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • ज्येष्ठ माह की अमावस्या पर पूरा गांव हिमोलाई तालाब में करता है श्रमदान, इसलिए नहीं झेला कभी सूखा, बारिश के मौसम में पौधे भी लगाते हैं ग्रामीण

परबतसर उपखंड ग्राम झुंझारपुरा के सबसे पुराने हिमोलाई तालाब में लोगों ने यहां की जल संरक्षण से जुड़ी 194 साल पुरानी परंपरा को निभाते हुए श्रमदान किया। कोरोना महामारी के बीच मास्क ओर सोशल डिस्टेंस के साथ यहां गांव के हर रास्ते से ग्रामीण तालाब में पहुंचते नजर आए। यहां की 194 साल पुरानी परंपरा को जीवित रखने और समाज में जल संरक्षण का संदेश देने की पहल के लिए ग्रामीणों ने तालाब पर श्रमदान किया। ग्राम झुंझारपुरा में ग्रामीणों ने ज्येष्ठ माह की तपती गर्मी के बीच तालाब पहुंचकर खुदाई की। पर्यावरण व जल संरक्षण की इस मुहिम को जीवित रखने के लिए युवा वर्ग भी इस कार्यक्रम में सक्रिय भागीदार रहा। वहीं आस-पास के गांवों के ग्रामीणों ने भी श्रमदान में सहयोग किया।
झुंझारपुरा सेवा समिति के अध्यक्ष ईश्वर राम आंचरा ने बताया कि 194 वर्ष पूर्व समाज के हेमाराम आंचरा ने आज के दिन ही ज्येष्ठ कृष्ण अमावस्या के दिन तालाब खुदवाकर श्रमदान की परंपरा शुरू की थी। तब से अब तक हर वर्ष तालाब के स्थापना दिवस पर श्रमदान होता है। ग्रामीणों की ऐसी मान्यता है कि झुंझार बाबा की कृपा से इस तालाब में पूरे साल पानी भरा रहता है। 
मास्क लगाकर श्रमदान करने के लिए तालाब पहुंचे ग्रामीण, कोरोना महामारी के दौर में जल संरक्षण को प्राथमिकता
ग्रामीणों के अनुसार करीब 194 वर्ष पूर्व जब इस परंपरा की शुरुआत की गई तो उस समय कई चुनौतियां भी आई होंगी। लेकिन ग्रामीणों की दृढ़ इच्छाशक्ति और संकल्प के कारण आज तालाब मॉडल के रूप में विकसित है। इसके साथ ही वर्तमान पीढ़ी भी अपने गांव की इस परंपरा को कायम रखने के लिए अपनी ओर से जी-जान से जुटी हुई है। वे बताते हैं कि अपने स्तर पर प्रयास कर हम वर्षा जल का संग्रहण कर काफी हद तक पानी को बचा सकते हैं।
सख्ती: कोई गांव से पेड़ नहीं काट सकता 
झुंझारपुरा के युवा कैलाश आंचरा ने बताया कि हिमोलाई तालाब का क्षेत्रफल 93 बीघा में है। इसके क्षेत्र से कोई हरा पेड़ एवं सूखे पेड़ों की टहनियां तक नहीं ले जा सकता। 
दयालपुरा में 200 युवाओं ने किया तालाब में श्रमदान
कोरोना महामारी के दौर के बीच गांव के युवाओं ने शुक्रवार सुबह तालाब में श्रमदान किया। मनीष पारीक ने बताया कि सुबह 6 बजे से दोपहर 12 बजे तक धोलपालिया  तालाब की खुदाई कर साफ-सफाई की। दयालपुरा व रणवां की ढाणी के 200 ग्रामीणों ने तालाब की सफाई की। इस अवसर पर प्रेम सोनी, सूरत सिंह, विनोद सैनी सहित ग्राम के युवाओं व बच्चों ने खुदाई की।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज अचानक ही कोई रुकी हुई पेमेंट मिल जाने से मन में प्रसन्नता रहेगी। आपका हर कार्य को व्यवहारिक तरीके से संपन्न करना नई संभावनाएं प्रदान करेगा। नजदीकी रिश्तेदारों के आने से घर में चहल-पहल भरा ...

और पढ़ें