पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

हरकत में आए अधिकारी:जिले में 53 आरओ प्लांट्स फर्म ने नहीं किए समय पर संचालित, कार्रवाई के आदेश जारी

नागाैरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
फाइल फोटो - Dainik Bhaskar
फाइल फोटो
  • साधारण सभा में खींवसर विधायक ने उठाया था मामला, इसके बाद हरकत में आए अधिकारी

जिले में पानी की गुणवत्ता प्रभावित गांवों व ढाणियों में शुद्ध पेयजल उपलब्ध करवाने के लिए राज्य सरकार द्वारा विभिन्न योजनाओं के तहत अलग-अलग चरणों में स्थापित आरओ प्लांट्स में से कुल 451 आर ओ प्लांट्स चालू अवस्था में है। यह दावा जलदाय विभाग के एसई जगदीश चंद्र व्यास ने किया है। उन्होंने बताया कि दो आरओ प्लांट्स नलकूप सुख जाने के कारण बंद है। जिनके स्वीकृति के लिए प्रस्ताव सक्षम स्तर पर प्रस्तुत कर दिए गए हैं।

वहीं जिले में 53 आरओ प्लांट्स को फर्म द्वारा संचालित व संधारित नहीं करने के कारण फर्म के विरुद्ध कार्रवाई की गई। इन आरओ के संचालन के लिए निविदाएं प्रक्रिया में है। एसई ने बताया कि चालू 451 आरओ प्लांट्स में से 140 आरओ प्लांट्स के फर्म द्वारा संचालन की अवधी को आगे बढ़ाने के लिए प्रस्ताव सक्षम स्तर पर प्रक्रियाधीन है। हाल में हुई जिला परिषद की साधारण सभा की बैठक के दौरान खींवसर विधायक ने जिले में बंद पड़े आरओ प्लांट्स को लेकर मुद्दा उठाया था। कलेक्टर ने अधिकारियों को आरओ प्लांट्स निरीक्षण के आदेश दिए।

आरओ प्लांट्स बंद तो यहां दर्ज करवा सकेंगे शिकायत

किसी भी व्यक्ति द्वार आरओ प्लांट या पेयजल से संबंधित शिकायतों को विभाग के नागौर स्थित नियंत्रण कक्ष में दूरभाष नंबर 01582-240842 पर दर्ज करवाया जा सकता है। एसई व्यास ने अपील की पेजयल का सदुपयोग करें तथा दुरुपयोग रोके साथ ही आने वाली वर्ष ऋतु में वर्षा जल का अधिक से अधिक संरक्षण व उपयोग करें।

खबरें और भी हैं...