कोरोना का कहर / कोरोना से लाडनू में 7 माह की बच्ची की मौत, 23 पॉजिटिव

7-month-old girl dies in Ladnu from Corona, 23 positive
X
7-month-old girl dies in Ladnu from Corona, 23 positive

  • जिले का आंकड़ा 298 पर पहुंचा

दैनिक भास्कर

May 24, 2020, 05:00 AM IST

नागौर. बासनी के बुजुर्ग की मौत के बाद शव दफन किया गया। इस दौरान प्रोटोकॉल का ध्यान रखा गया जिसमें सीमित अधिकारी व पुलिस मौजूद रहे। सीएमएचओ डॉ सुकुमार कश्यप ने बताया कि वर्तमान में सारे मरीज प्रवासी हैं जिनकी लगातार जांच कर सैंपल भेजे जा रहे हैं जो पॉजिटिव आ रहे हैं। चिकित्सा विभाग ने 3833 लोगों को संदिग्ध मानते हुए सैंपल लिए हैं। सभी दूसरे राज्यों से आए हैं इनको जांच रिपोर्ट के बाद ही भेजा जाएगा।
मुम्बई से लौटते जांच कराई अब पॉजिटिव
कोरोनावायरस मरीज मुंबई से अधिक आ रहे हैं। मुम्बई से आ रहे कोरोना पॉजिटिव की संख्या सबसे अधिक है मुंबई से लौटे युवक ने बताया कि वह 8 दिन पहले बाइक से नागौर पहुंचे थे। एक अन्य मरीज ने बताया कि वह मुंबई से 18 तारीख को आए थे। लेकिन अब जांच में बड़ी भाग गए हैं मिनी ट्रक में सवार होकर आए यह 30 लोग रास्ता भटक कर अजमेर पहुंच गए थे अजमेर होते हुए यह नागौर आए
12364 सैंपल लिए, 3833 प्रवासी
अब तक 12364 सैम्पल लिए गए हैं जिनमे से 9979 की रिपोर्ट नेगिटिव हैं कलेक्टर दिनेश कुमार यादव ने बताया कि जिले में अब 154 कोरोना पाॅजिटिव रहे हैं। अब तक आए कुल कोरोना पाॅजिटिव मरीजों में से 135 मरीज हुए ठीक हो चुके हैं। जिले के विभिन्न चिकित्सा संस्थानों में लिए गए अब तक कुल सैम्पल में से 10275 सैम्पल की रिपोर्ट प्राप्त हो चुकी हैं शनिवार को 756 नए सैम्पल लिए गए। वर्तमान में 2089 सैम्पल की रिपोर्ट आना शेष हैं। जिले में बाहर से आने वाले 3833 लोगों ऐसे हैं, जिनमें कोरोना संक्रमण की संदिग्धता को देखते हुए सैम्पल लिए गए हैं। एक ही दिन में 756 सैम्पल लिए गए है।
- नागौर में एक दिन में 281 की सैंपलिंग
 मुख्यालय स्थित राजकीय जेएलएन अस्पताल, नागौर की ओर से शनिवार  को 281, राजकीय बांगड़ अस्पताल, डीडवाना में 59, राजकीय जी.आर. सरावगी अस्पताल, लाडनूं में 30, राजकीय राधाकिशन शारदा अस्पताल कुचामन सिटी में 47, राजकीय सीएचसी मकराना में 110, राजकीय सीएचसी डेगाना में 22, राजकीय सीएचसी परबतसर में 77, राजकीय सीएचसी मूंडवा में 56, राजकीय सीएचसी खींवसर में 18, राजकीय सीएचसी रियांबड़ी में 33 तथा राजकीय सीएचसी मेड़ता में 23 सैम्पल लिए गए। जिले में जहंा कोरोना पाॅजिटिव मरीज पाए गए हैं, वहां कांटेक्ट हिस्ट्री के आधार पर सैम्पलिंग का काम जारी है। जिले में अब तक 12364 सैम्पल लिए गए हैं, जिनमें से सर्वाधिक राजकीय जेएलएन अस्पताल, नागौर के 5388 सैम्पल शामिल हैं। वहीं राजकीय बांगड़ अस्पताल, डीडवाना में 1237, राजकीय जीआर सरावगी अस्पताल, लाडनूं में 1402, राजकीय राधाकिशन सारडा अस्पताल, कुचामन में 1335, राजकीय सीएचसी, मकराना में 1080, राजकीय सीएचसी, परबतसर में 525, राजकीय सीएचसी बाजवास में 101, राजकीय सीएचसी नावां में 148, राजकीय सीएचसी मूंडवा में 434, राजकीय सीएचसी खींवसर में 159, राजकीय सीएचसी डेगाना में 108, राजकीय सीएचसी रियांबड़ी में 181 तथा राजकीय सीएचसी मेड़ता में अब तक 266 सैम्पल लिए गए हैं।
लाडनूं क्षेत्र में कोरोना के संक्रमण से पहली मौत का मामला सामने आया है। एक महीने की मासूम की कोरोना से मौत हो गई। निकटवर्ती बाकलिया गांव की कोरोना संक्रमित मिली मात्र एक माह की बालिका ने शनिवार को दोपहर बाद इलाज के दौरान जयपुर में दम तोड़ दिया। प्रशासन द्वारा उसकी अंत्येष्टि जयपुर में ही की गई। इस बालिका का जन्म डीडवाना के आंचल नर्सिंग होम में 18 अप्रैल को हुआ था। उसे जन्म से ही आंत में इंफेक्शन की बीमारी थी, जिसके लिए उसे जयपुर रेफर किया गया था। जयपुर में एसएमएस हॉस्पिटल के शिशुरोग विभाग जेके लाॅन हाॅस्पिटल में उसे 20 अप्रेल को ले जाया गया और वहां ऑपरेशन के लिए भर्ती किया गया। 21 अप्रैल को उसका ऑपरेशन सफलतापूर्वक कर दिया गया। उसे वापस लाडनूं लेकर आने के बाद बाकलिया में उसका नामकरण संस्कार किया गया और इसके बाद उसे 28 अप्रेल को बालिका की बुआ के घर ग्राम भिड़ासरी ले जाया गया, जहां वह 19 मई तक रही।
निगेटिव आने पर मरीज को दी छुट्टी
शहर में एक मरीज रिछपाल नायक निवासी बुटाटी की दो रिपोर्ट लगातार निगेटिव आने पर डॉ लूणाराम व डॉ राजेंद्र बेड़ा के निर्देशानुसार शनिवार को छुट्टी दी गई। मरीज की छुट्टी के समय डॉ विकास, डॉ आयुष, डॉ महावीर, डॉ सुखराम व नर्सिंग स्टाफ सुशील, अनीता, खुशालीराम, पीरु सिंह आदि उपस्थित रहे। मरीज ने सभी मेडिकल स्टाफ का आभार व्यक्त किया।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना