जिलाध्यक्ष मांजू सहित कई अनशन पर बैठे:900 व्याख्याताओं ने जयपुर में डाला पड़ाव

नागाैर9 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

राजस्थान शिक्षा सेवा प्राध्यापक संघ (रेसला) का एक मार्च से जयपुर में महापड़ाव चल रहा है। महापड़ाव के दाैरान अपनी मांगाें काे लेकर कार्मिक अनशन पर बैठे हैं। जिलाध्यक्ष पवन मांजू ने बताया कि महापड़ाव काे लेकर प्रदेशभर के 54,514 व्याख्याताओं के सामूहिक अवकाश पर हैं। करीब 25 हजार व्याख्याता जयपुर पड़ाव स्थल पर माैजूद है। जिसमें नागाैर जिले के करीब 14 ब्लाॅकाें के 90 व्याख्याता शामिल है। नागाैर से 14 बसाें और 35 छाेटी गाडियों से सभी व्याख्याता जयपुर पहुंचे है।

जहां विधानसभा घेराव की चेतावनी के बाद राज्य सरकार ने वार्ता के लिए बुलाया था, मगर वार्ता विफल होने के बाद जयपुर पुलिस कमिश्नरेट के सामने नागौर रेसला जिलाध्यक्ष पवन मांजू, प्रदेशाध्यक्ष मोहन सियाग, 4 जिला अध्यक्षों सहित 3 प्रांतीय प्रतिनिधि आमरण अनशन पर बैठ गए। जिलाध्यक्ष मांजू ने बताया कि जब तक मांगें नहीं मानी जाती, तब तक आमरण अनशन जारी रहेगा।

इस दौरान नागौर ब्लॉकों अध्यक्षों में शिव नारायण, मदन लाल बिश्नोई नागौर, मूंडवा से कैलाश राम, मेड़ता से दिनेश कवलादा, रियांबड़ी से सुगना राम व सुरेश बेरवाल, डेगाना से मूलाराम, मकराना से रामनिवास व भंवरलाल, परबतसर से अजीज खान, कुचामन से श्रीपाल राॅयल, डीडवाना से कौशल्या बुरड़क, मौलासर से दाना राम, लाडनूं से जय नारायण, खींवसर से सुख राम सियाग, जायल से गोरधन राम व कुचामन से अनिल मीणा मौजूद रहे।

खबरें और भी हैं...