• Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Nagaur
  • A Conspiracy Was Hatched To Fulfill The Hobby And To Remove The Amount Of Embezzlement, The Robber Made Friends By Luring Them With Drugs

लूट का झूठ:शौक पूरे करने व गबन की राशि उतारने को रची थी साजिश, दोस्तों को नशे का लालच दे बनाया लुटेरा

नागौर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

डेगाना में दो दिन पहले खाद-बीज कंपनी इंडियन एग्रो सेल्स के मैनेजर रामेश्वर राव से 11.56 लाख रुपए लूट झूठी निकली गई थी। इस झूठी कहानी में उसके दो दोस्त भी शामिल थे। आरोपी मैनेजर रामेश्वर ने अपने महंगे शौक पूरे करने और कंपनी के गबन किए गए रुपयों सहित अन्य कर्जा उतारने के लिए लूट का ये पूरा प्लान रचा था। इस प्लान में उसने अपने दो दोस्तों को भी शामिल किया था। डेगाना सीओ नन्दलाल सैनी ने खुलासा करते हुए बताया कि फिलहाल तीनों आरोपियों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। जांच की जा रही है। गौरतलब है कि गत दिनों एक मैनेजर ने खुद के साथ ही लूट की वारदात की झूठी कहानी बनाकर पुलिस की परेड करवा दी थी। जिसके बाद मामले का खुलासा हुआ था। डेगाना डिप्टी नंदलाल सैनी ने बताया कि आरोपी मैनेजर रामेश्वर राव ने प्लान को सक्सेस करने के लिए दो दोस्त राजू पुत्र गंगाराम चौधरी निवासी दासावास और महेंद्र पुत्र घासीराम चौधरी निवासी सूरजगढ़ का सहारा लिया। ताकि किसी तीसरे व्यक्ति को साथ मिलाने पर कोई प्लान लीक नहीं हो जाए। उसने एक दिन पहले राजू और महेंद्र को डेगाना स्थित अपने कमरे पर बुलाया। शराब पार्टी और अय्याशी का लालच देकर झूठी लूट के इस गुनाह में शामिल होने के लिए तैयार कर लिया था। उसने इसके अलावा और भी लालच दिए ताकि वे दोनों ही साथी पूरी तरह से तैयार हो जाए और प्लान में शामिल होकर उसका साथ दे। पूरी बात तय हो पर दोनों राजी हो गए।इस दौरान पुलिस की पूछताछ में सामने आया कि प्लान के मुताबिक़ रामेश्वर सोमवार सुबह कंपनी का पेमेंट अपने घर छोड़कर खाली बेग और मिर्च पाउडर लेकर दुकान पर आया था। इसके बाद मिर्च पाउडर उसने राजू और महेंद्र को दे दिया। जिसे उन्होंने काफी देर तक अपने ही पास रखा। राजू और महेंद्र मिर्च पाउडर लेकर अलग बाइक से बैंक के रास्ते पर चले गए। वहां जाकर रामेश्वर का इंतजार करने लगे। कई देर तक वहां पर उसका इंतजार करने के बाद देखा कि रामेश्वर पेमेंट जमा कराने के बहाने कोऑपरेटिव बैंक पहुंचा। वहां इधर-उधर की बातें कर वापस बाहर निकल गया। थोड़ा आगे जाकर सुनसान जगह देखकर रुक गया। वहां प्लान के मुताबिक़ पहले से तैयार राजू और महेंद्र बाइक लेकर आए। उसकी पीठ पर मिर्च पाउडर फेंककर कुछ दूरी पर रुक गए। उनके जाने के बाद रामेश्वर ने अपनी बाइक नीचे गिरा दी। इसके बाद अपनी आंखों में मिर्च पाउडर गिरने का कह चिल्लाने लग गया था। पुलिस की जांच के बाद पूरा घटनाक्रम स्वरचित निकला। जिसमें अन्य दोनों आरोपियों ने पुलिस पूछताछ में बताया कि रामेश्वर ने हमारे को अय्याशी व पार्टी का लालच देकर फंसाया गया।

खबरें और भी हैं...