चौथे दिन भी थाने में रखा है शव:RLP ने ट्विटर पर JusticeForSunilTada हैशटैग का अभियान चलाया, आरोपियों की गिरफ्तारी नहीं होने से लोगों में रोष, 15 दिन पहले युवक पर हुआ था हमला

नागौर7 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
चौथे दिन भी चल रहा है धरना। - Dainik Bhaskar
चौथे दिन भी चल रहा है धरना।

नागौर जिले के भावण्डा में चौथे दिन भी थाने के बाहर ग्रामीणों का धरना जारी है। 15 दिन पहले दबंगों ने बदमाशों के साथ मिलकर एक युवक का अपहरण किया और इसे साथ संगीन मारपीट करते हुए उसे अधमरी हालत में सड़क पर फेंका था। जिसके बाद मंगलवार को अहमदाबाद हॉस्पिटल में उसकी इलाज के दौरान मौत हो गई थी। इससे गुस्साए ग्रामीणों व युवक के परिजनों ने बुधवार को शव को लाकर थाने में रख दिया था और अपनी मांगों को लेकर थाने के बाहर धरने पर बैठ गए थे। मामले में पुलिस अब तक मांगों को पूरी करना तो दूर एक भी आरोपी को गिरफ्तार नहीं कर पाई है।

RLP ने चलाया JusticeForSunilTada के हैशटैग का अभियान।
RLP ने चलाया JusticeForSunilTada के हैशटैग का अभियान।

RLP ने चलाया JusticeForSunilTada के हैशटैग का अभियान
RLP पार्टी ने इस मामले में मृतक सुनील के परिजनों को न्याय दिलाने और मजबूती के साथ आवाज को सरकार तक पहुंचाने के लिए शनिवार शाम से JusticeForSunilTada के हैशटैग के साथ ट्विटर पर ट्रेंडिंग अभियान शुरू किया है। थोड़े से समय में ही ये हैशटैग ट्रेंडिंग में आ गया है। इस अभियान को लेकर खींवसर विधायक नारायण बेनीवाल ने दोपहर में ही पार्टी कार्यकर्ताओं और पदाधिकारियों से अपील की थी। इसके बाद अब RLP सुप्रीमों और नागौर सांसद हनुमान बेनीवाल से लेकर पार्टी के विधायक, पदाधिकारी और कार्यकर्ता JusticeForSunilTada के हैशटैग के साथ ट्वीट कर रहे है और सरकार से न्याय की मांग कर रहे है।

अजमेर रेंज IG एस सेंगथिर भावण्डा थाने पहुंचे
इससे पहले देर शाम में अजमेर रेंज IG एस सेंगथिर भी भावण्डा थाने पहुंचे है। उन्होंने SP अभिजीत सिंह सहित अन्य पुलिस अधिकारियों से मामले की प्रोग्रेस रिपोर्ट जानी है। फिलहाल IG एस सेंगथिर थाने में ही मौजूद है। बताया जा रहा है कि नागौर सांसद हनुमान बेनीवाल भी भावण्डा पहुंचने वाले है। उनके पहुंचने के बाद मामले में समझाइश के लिए अजमेर रेंज IG एस सेंगथिर और नागौर सांसद हनुमान बेनीवाल के बीच वार्ता हो सकती है।

इससे पहले गुरुवार और शुक्रवार को RLP सुप्रीमो व नागौर सांसद हनुमान बेनीवाल व नागौर SP अभिजीत सिंह के बीच चले वार्ताओं के दौर भी बेनतीजा रहे है। इससे नागौर सांसद हनुमान बेनीवाल सहित धरने पर बैठे लोगों में नाराजगी है। सांसद बेनीवाल ने कल कहा था कि जब तक मांगे नहीं मानी जाएंगी तब तक धरना और आंदोलन जारी रहेगा। पुलिस अधिकारियों और पुलिस की मिलीभगती भी सामने आई है। उनकी जांच भी जरुरी है। अगर जल्द ही मांगों को नहीं माना गया और पीड़ित परिवार को न्याय नहीं मिला तो हाइवे भी जाम करेंगे और कलेक्ट्रेट पर भी पड़ाव डालेंगे।

उन्होंने कहा था कि इस मामले में संवेदनशीलता दिखाते हुए सरकार को जल्द सभी आरोपियों को गिरफ्तार कर हत्याकांड का खुलासा और परिजनों की सभी मांगों को मानना चाहिए। अगर ऐसा नहीं हुआ तो सरकार की ईंट से ईंट बजा देंगे।

ये है मांगे

  • सभी आरोपियों की तुरंत गिरफ्तारी होनी चाहिए।
  • मामले की गंभीरता को हल्के में लेने वाले मूूंडवा CO को हटाया जाए।
  • भावण्डा SHO को सस्पेंड किया जाए और पूरे थाना स्टाफ को लाइन हाजिर किया जाए।
  • मामले की जांच किसी दूसरे उच्च अधिकारी को सौंपी जाए।
  • मृतक के परिजनों को 20 लाख का आर्थिक मुआवजा दिया जाए।

ये था मामला
मृतक के पिता शिवराम ने बताया कि बेटा सुनील 1 अक्टूबर को रात 9 बजे मानकपुर चौराहे स्थित गिरधर धर्म कांटे में बैठा था। उसके साथ धर्म कांटा मालिक राजू भड़ियार, जयपाल भड़ियार, महिपाल और रामलाल भी बैठे थे। तभी वहां 3 गाड़ियों में 20-25 लोग हाथों में लाठी-सरिए लेकर आए। उन्होंने गाड़ी से उतरते ही सुनील पर हमला बोल दिया। बीच-बचाव करने वालों से भी मारपीट की। हमलावर सुनील के साथ मारपीट करते हुए उसे गाड़ी में डालकर अपने साथ ले गए। इसके बाद अधमरी हालत में सुनील को राधिका भट्टे के पास फेंककर भाग गए। जाने से पहले आरोपियों ने सुनील के हाथ से 2 सोने की अंगूठियां, 18 हजार कैश और गाड़ी के कागजात भी ले लिए।

3 लाख 50 हजार के लेनदेन में हुआ था विवाद
सुनील के पिता ने बताया था कि बेटे ने एक व्यक्ति को 3 लाख 50 हजार रुपए उधार दिए थे। इसी लेनदेन के चलते हुई कहासुनी के बाद विवाद बढ़ गया था। आरोपियों ने सुनियोजित तरीके से सुनील पर हमला किया। सुनील को गंभीर हालत में जोधपुर और बाद में अहमदाबाद रेफर कर दिया गया था।

खबरें और भी हैं...