अव्यवस्था / रोल में एक कार्मिक के भरोसे चल रहा है पशुओं का अस्पताल

X

  • अस्पताल अब मरम्मत को भी तरसता है

दैनिक भास्कर

Jun 30, 2020, 04:00 AM IST

रोल. रोल ग्राम में भामाशाह द्वारा बनाए गए पशु अस्पताल में कार्मिकों के रिक्त पद होने से क्षेत्र के पशुपालकों को पशुओं के ईलाज का लाभ नहीं मिल रहा है। कस्बे सहित क्षेत्र के पशुपालकों को पशुओं के ईलाज के उद्देश्य को लेकर रोल के भामाशाह एम. मेघराज भाटी द्वारा गुरु गोलवलकर जन सहभागीदारी विकास योजना के तहत साढ़े सात लाख रुपए की लागत से मई 2008 में नोजीबाई पत्नी बंशीलाल भाटी राजकीय पशु चिकित्सालय का निर्माण करवाया।

मगर यह पशु अस्पताल पिछले लम्बे समय से एक कार्मिक पशुधन परिचर के भरोसे ही संचालित हो रहा है। पशु अस्पताल में पिछले लम्बे अरसे से डॉक्टर, पशुधन सहायक व स्वीपर के पद रिक्त पड़े है। कार्मिकों के पद रिक्त होने से इस अस्पताल का क्षेत्र के पशुपालकों को इसका लाभ नहीं मिल रहा है।

कार्मिकों के पद रिक्त होने से पशुपालकों को भी मजबूरन अपने बीमार पशुओं का ईलाज प्राइवेट डॉक्टर से करवाना पड़ रहा है। इसी प्रकार कार्मिकों के पद रिक्त होने से सरकार द्वारा संचालित विभिन्न कल्याणकारी योजनाओं का पशुपालकों को लाभ नहीं मिल रहा है।

वहीं टीकाकरण, कृत्रिम गर्भाधान सहित अनेक कार्य भी प्रभावित हो रहे है। रोल पशु अस्पताल के अंतर्गत हजारों की तादाद में विभिन्न प्रजाति के पशुधन है तथा एक दर्जन से भी ज्यादा गोशालाएं संचालित हो रही है। मगर डॉक्टर के अभाव में पशुओं के बीमार होने पर उनके ईलाज करवाने के लिए इधर-उधर भटकना पड़ रहा है।

इसी प्रकार अस्पताल अब मरम्मत को भी तरसता है। जानकारी अनुसार बारिश के समय छत से पानी टपकने से रिकॉर्ड खराब होने की भी आशंका रहती है। इसी प्रकार एक गेट भी क्षतिग्रस्त पड़ा है। रोल के पशु अस्पताल में कार्मिकों के रिक्त पद भरने को लेकर ग्रामीणों ने कई बार मांग की, मगर कोई सुनवाई नहीं होने से उनमें रोष व्याप्त है।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना