आनंदपाल गैंग के 3 हार्डकोर बदमाश कोर्ट में पेश:सुरक्षा के लिए तैनात रहा भारी जाब्ता, छावनी में तब्दील हुई कोर्ट

नागौर7 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
हार्डकोर बदमाशों को कोर्ट में पेश करने ले जाते हुए पुलिस। - Dainik Bhaskar
हार्डकोर बदमाशों को कोर्ट में पेश करने ले जाते हुए पुलिस।

राजस्थान के कुख्यात डॉन रहे आनंदपाल की गैंग के 3 हार्डकोर बदमाशों को बुधवार को इंदर चंद अपहरण मामले में डीडवाना कोर्ट में पेश किया गया। तीनों बदमाशों की पेशी के समय कोर्ट को छावनी में तब्दील कर दिया गया। कोर्ट में पुलिस, RAC व क्यूआरटी कमांडो सुरक्षा के लिए तैनात किए गए।

कोर्ट परिसर में भारी सुरक्षा जाब्ता रहा तैनात।
कोर्ट परिसर में भारी सुरक्षा जाब्ता रहा तैनात।

इंदर चंद अपहरण मामले में पुलिस तीन हार्डकोर बदमाशों बलवीर सिंह,आजाद सिंह और कुलदीप सिंह को अजमेर जेल से कड़ी सुरक्षा के बीच डीडवाना कोर्ट लेकर आई। विशेष वरिष्ठ लोक अभियोजक एडवोकेट रामेश्वर भाकर ने बताया कि इंदरचंद अपहरण मामले को लेकर कोर्ट में बुधवार को 3 आरोपियों बलवीर सिंह,आजाद सिंह और कुलदीप सिंह को पेश किया गया। इस दौरान बलवीर सिंह को चार्ज सुनाये गए।

हार्डकोर बदमाशों को कोर्ट में पेश करने ले जाते हुए पुलिस।
हार्डकोर बदमाशों को कोर्ट में पेश करने ले जाते हुए पुलिस।

गोदारा कांड के गवाह इंदर चंद को किडनैप कर धमकाया था
गौरतलब है कि जीवण गोदारा हत्याकांड के मुख्य गवाह प्रमोद को होस्टाइल करने की नीयत से तब जेल में बंद आनंदपाल के इशारे पर इंदर चंद का अपहरण डीडवाना से कर लिया गया था। इस किडनैपिंग कांड में सभी बदमाश शामिल थे। बाद में महाराष्ट्र पुलिस के सहयोग से इंदर चंद को पुणे के पास से बरामद किया गया था।

आनंदपाल के इशारे पर हुआ था इंदर चंद का अपहरण।
आनंदपाल के इशारे पर हुआ था इंदर चंद का अपहरण।

प्रदेश का बहुचर्चित जीवण गोदारा हत्याकांड
जीवण गोदारा की हत्या 2006 में आनंदपाल और उसके साथियों ने गोलियों से छलनी करके कर दी थी। उसके एक साथी की भी इस हमले में मौत हो गई थी। वहीं दो लोग घायल हुए थे, जिनमें एक प्रमोद भी था। इस घटना के विरोध में किसान सभा ने लगातार बड़े धरने-प्रदर्शन किए। तब आनंदपाल की गिरफ्तारी के बाद इस मामले में लगातार पेशियां डीडवाना कोर्ट में चल रही थीं और मुख्य गवाह प्रमोद को होस्टाइल करने के इरादे से इंदर चंद के अपहरण की साजिश रची गई थी।