• Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Nagaur
  • Before The Arrest Of The Accused, Family Members Refuse Post mortem, BJP RLP Leaders Are Staging A Sit in With Their Families.

मर्डर के विरोध में नावां बंद:गिरफ्तारी से पहले परिजनों का पोस्टमार्टम से इंकार, BJP-RLP नेताओं का धरना

नागौर2 महीने पहले
नमक कारोबारी हत्याकांड के विरोध में नावां के बाजार बंद। - Dainik Bhaskar
नमक कारोबारी हत्याकांड के विरोध में नावां के बाजार बंद।

नमक कारोबारी जयपाल पूनिया की शनिवार को हुई हत्या के विरोध में परिजन अड़ गए हैं। आज नावां शहर बंद रखा गया। परिजनों के साथ बीजेपी नेता व आरएलपी नेता जुट गए हैं। सभी परिजनों के साथ धरने पर एसडीएम कार्यालय के सामने धरने पर बैठे हैं। 7 सूत्री मांग पत्र रविवार दोपहर एसडीएम ब्रह्मलाल जाट को सौंपा है। परिजनों का कहना है कि जब तक नामजद आरोपियों की गिरफ्तारी नहीं होगी वे शव का पोस्टमार्टम नहीं होने देंगे। मांग पत्र में आरोपियों की गिरफ्तारी के अलावा पुलिस अधिकारियों को हटाने की बात कही गई है।

बता दें कि कारोबारी जयपाल पूनिया की पत्नी ने एफआईआर में नावां विधायक महेंद्र चौधरी, उनके भाई और साले का नाम लिखाया है। महेंद्र चौधरी विधानसभा में सरकारी उप मुख्य सचेतक हैं। ऐसे में राजनीति गर्म हो गई है। शनिवार दोपहर फायरिंग में जयपाल पूनिया की हत्या के बाद शव को जयपुर से लाकर नावां हॉस्पिटल की मोर्चरी में रखवाया गया।

नावां अस्पताल की मोर्च्युरी के बाहर पूर्व मंत्री सीआर चौधरी।
नावां अस्पताल की मोर्च्युरी के बाहर पूर्व मंत्री सीआर चौधरी।

नावां विधायक की सफाई
नावां विधायक महेंद्र चौधरी ने सोशल मीडिया के जरिए अपनी बात रखी है। कहा है कि दिनदहाड़े कारोबारी की हत्या खेदजनक घटना है। दोषियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई होनी चाहिए। जो एफआईआर दर्ज हुई है वह राजनीतिक लोगों द्वारा मनगढ़ंत तरीके से लिखी गई है। जांच में सच्चाई सामने आ जाएगी। उन्होंने कहा कि वे न्याय प्रणाली में विश्वास करते हैं। साथ ही अपील की है कि जनता अफवाहों पर ध्यान न दे।

नावां विधायक महेंद्र चौधरी ने कहा कि वे निष्पक्ष जांच के लिए तैयार हैं।
नावां विधायक महेंद्र चौधरी ने कहा कि वे निष्पक्ष जांच के लिए तैयार हैं।

सांसद हनुमान बेनीबाल पहुंचे नावां
वहीं इस मामले पर सांसद हनुमान बेनीवाल नागौर से नावां पहुंचे। वे कई कारों के काफिले के साथ नावां पहुंचे। नावां पहुंचते ही उन्होंने नारेबाजी की। वे धरना स्थल पहुंचे और प्रदेश की गहलोत सरकार, विधायक महेंद्र चौधरी व मंत्री महेश जोशी के खिलाफ जमकर जुबानी तीर चलाए। जयपाल मर्डर मामले में उन्होंने सीबीआई जांच की मांग दोहराई। साथ ही कहा कि नागौर में अपराध लगातार बढ़ रहे हैं।

हनुमान बेनीवाल ने की सीबीआई जांच की मांग।
हनुमान बेनीवाल ने की सीबीआई जांच की मांग।

इधर परिजन सभी नामजद आरोपियों की गिरफ्तारी से पहले पोस्टमार्टम नहीं करवाने की बात पर अड़े रहे। वहीं इस घटना को लेकर लोगों में भी आक्रोश नजर आया। BJP कार्यकर्ताओं ने रविवार को घटना के विरोध में जुलूस निकालकर नावां शहर के बाजार भी बंद कराया। फिलहाल पूर्व सांसद सीआर चौधरी, पूर्व विधायक विजय सिंह चौधरी, पूर्व विधायक हरीश कुमावत, राजाराम प्रजापति, बाबूलाल पलाड़ा, ज्ञाना राम रणवा, रजनी गावड़िया, चुन्नी लाल माली, प्रताप सिंह लूणवा, प्रकाश योगी, मोहन लाल एडवोकेट सहित सैकड़ों भाजपा कार्यकर्ता संघर्ष समिति के नेतृत्व में पूनिया के परिवार को न्याय दिलाने के लिए नावां SDM कार्यालय के सामने धरने पर बैठे।

खींवसर MLA नारायण बेनीवाल धरनास्थल पर संबोधित करते हुए।
खींवसर MLA नारायण बेनीवाल धरनास्थल पर संबोधित करते हुए।

RLP विधायक भी पहुंचे नावां
उधर, नागौर सांसद हनुमान बेनीवाल के निर्देश पर आज RLP के खींवसर विधायक नारायण बेनीवाल, मेड़ता MLA इंदिरा बावरी और RLP प्रदेशाध्यक्ष व भोपालगढ़ MLA पुखराज गर्ग भी सैंकड़ों कार्यकर्ताओं के साथ नावां में धरनास्थल पर पहुंचे। तीनों विधायकों ने मृतक के परिजनों से मिलकर न्याय की लड़ाई में हरसंभव सहयोग करने का आश्वासन दिया।

नावां में धरनास्थल पर मौजूद नेता।
नावां में धरनास्थल पर मौजूद नेता।

हिस्ट्रीशीटर नहीं थे जयपाल पूनिया - नारायण बेनीवाल
खींवसर विधायक नारायण बेनीवाल ने कहा कि मृतक जयपाल पूनिया हिस्ट्रीशीटर नहीं था। विपरीत विचारधारा के होने के चलते सरकारें हमेशा से बदलाव कि नियत से हिस्ट्रीशीट खोलती आई है। जब तक न्यायिक प्रक्रिया से कोई अपराधी साबित नहीं होता, उसे अपराधी नहीं कहा जा सकता। जीवन और मरण भगवान के हाथ में है। अगर जीवन-मरण का निर्णय ऐसे होने लगा तो लोग तो स्वयंभू भगवान बन जाएंगे। हम व्यवस्था के खिलाफ और न्याय कि लड़ाई में मृतक जयपाल पूनिया के परिवार के साथ है। उन्होंने कहा कि नावां क्षेत्र में महेंद्र चौधरी के कार्यकाल में दलालों और करप्ट लोगों का बोलबाला बढ़ा है। विधायक चौधरी के साले-साढ़ू, साली और परिजनों ने करप्शन के माध्यम से पुरे जिले में लूट मचा रखी है।

नावां SDM को गवर्नर के नाम 7 सूत्री मांग पत्र सौंपा

नावां SDM को गवर्नर के नाम 7 सूत्री मांग पत्र सौंपा।
नावां SDM को गवर्नर के नाम 7 सूत्री मांग पत्र सौंपा।

MLA महेंद्र चौधरी समेत 8 पर केस दर्ज:नमक झील क्षेत्र के वर्चस्व में हुआ कारोबारी का मर्डर

नमक कारोबारी की गोली मारकर हत्या:बोलेरो में आए थे 4-5 हमलावर, कार को रोककर ताबड़तोड़ फायरिंग की