शहर में पहली बार ऐसा गणगौर घूमर कार्यक्रम:भास्कर व घूमर समिति का महिला दिवस पर आयोजन, मकराना, मेड़ता व इंदौर से भी आईं प्रतिभागी

नागौरएक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
महिला दिवस की पूर्व संध्या पर बख्तसागर तालाब स्थित गार्डन में महिलाओं-युवतियों ने एक साथ नृत्य का प्रदर्शन किया। - Dainik Bhaskar
महिला दिवस की पूर्व संध्या पर बख्तसागर तालाब स्थित गार्डन में महिलाओं-युवतियों ने एक साथ नृत्य का प्रदर्शन किया।
  • महिलाओं-युवतियों ने एक साथ नृत्य का प्रदर्शन किया

महिला दिवस की पूर्व संध्या पर बख्तसागर तालाब स्थित गार्डन में रविवार शाम को घूमर के नखराले रंग दिखे, जब रजवाड़ी लोक गीतों पर सवा सौ से ज्यादा महिलाओं-युवतियों ने एक साथ इस नृत्य का प्रदर्शन किया। उत्साह ऐसा कि सहेलियां तो आईं ही, मांओं के साथ बेटियां और भाभियों के साथ ननदें भी आईं।

इनमें भी खास कई प्रतिभागियों का सिमिलर ड्रेस अप था। जैसे ही ‘ए म्हारी घूमर छे नखराळी...’ गीत बजा, सबके कदम ताल मिलाकर थिरकने लगे। घेर-घुमेर घूमते हुए कभी ताली बजाकर ताे कभी हाथों को लहराते हुए इनका नर्तन देखने वालों को भी खूब भाया।

दरअसल, दैनिक भास्कर एवं घूमर आयोजन समिति के बैनर तले यह कार्यक्रम हुआ था। जिसने भी देखा, यही कहा- पहली बार देखा ऐसा घूमर। अब से पहले जोधपुर सहित बड़े शहरों में ही ऐसे आयोजन होते रहे हैं। महिलाओं ने घूमर नृत्य की शानदार प्रस्तुति देकर रंग-बिरंगी राजस्थानी संस्कृति की छटा बिखेरी।

देखने के लिए उमड़े जन सैलाब में उत्साह और उमंग का माहौल छा गया। रंगबिरंगे आकर्षक परिधान पहने महिलाओं ने यहां घूमर नृत्य की छटा से खूबसूरत समां नजर आया। मौके पर पहुंचे लोगों ने बख्तसागर जलेश्वर महादेव के दर्शन भी किए।

पहले गणगौर पूजन: घूमर नृत्य कार्यक्रम में सबसे पहले गणगौर का पूजन किया गया। कार्यक्रम में अतिथि के तौर पर पुलिस अधीक्षक श्वेता धनखड़, सभापति मीतू बोथरा, एडीएम मनाेज कुमार सहित अन्य मौजूद रहे। आयोजक रेणू सोनी ने बताया कि यह ऐतिहासिक गणगौर घूमर कार्यक्रम में प्रतिभागी महिलाओं ने विभिन्न वेशभूषा में नृत्य की प्रस्तुति दी। कार्यक्रम में शहर की महिला-पुरुष सहित विभिन्न स्कूलाें से छात्र-छात्राओं ने भी बढ़चढ़कर भाग लिया।

मकसद: महिला एककीकरण, सशक्तिकरण को बढ़ावा देना व संस्कृति से जोड़ाना: मकसद महिला एकीकरण और सशक्तिकरण को बढ़ावा देना था। राजस्थानी सभ्यता व संस्कृति को प्रोत्साहन देना तथा कार्यक्रम का उद्देश्य समाज की महिलाओं को अपनी संस्कृति से जोड़ना है। कार्यक्रम में सभापति मीतू बोथरा ने कहा, ऐसा आयोजन महिलाओं को उनकी संस्कृति से रूबरू कराता है। कहा- दैनिक भास्कर की पहल ने महिलाओं को एक मंच दिया है। शहर में पहली बार ऐसा आयोजन होना सभी महिलाओं के लिए गर्व की बात है।

प्रायोजक: कार्यक्रम के प्रायोजक वार्ड 18 के पार्षद धर्मेंद्र पंवार, मारवाड़ मूंडवा के संस्कार बाल निकेतन स्कूल संचालक अब्दुल रहमान देवड़ा, साडोकन सरपंच योगेंद्र सोलंकी तथा माई मार्ट डिपार्टमेंटल स्टोर के संचालक सत्यनारायण सैनी थे। मंच संचालन दिनेश प्रजापत ने किया। फाेटो व ड्रोन में सहयोग मूंडवा के दहिया स्टूडियो के लक्ष्मीनारायण व रामस्वरूप और नागौर शहर के तिलोक कालड़ी ने दिया। नगर परिषद ने भी व्यवस्थाएं बनाईं। महिला पुलिस का भी अहम योगदान रहा।

निशा प्रथम, नीतू रहीं दूसरे स्थान पर

सामूहिक घूमर के लिए गार्डन में घेरा बनाया गया, जिसमें कतारबद्ध प्रतिभागियों ने नृत्य किया। ये सभी रंग-बिरंगी पोशाकों में थीं। इस पर भी कई ने चश्मे लगाकर ट्रेंडी लुक बताया। यूं तो सब प्रतिभागियों को सम्मानित किया गया मगर पूरे आयोजन में प्रथम, द्वितीय व तृतीय का भी चयन किया। इसके लिए पांच सदस्यों की कमेटी बनाई गई। कमेटी में एसपी श्वेता धनखड़, सभापति मीतू बोथरा, राजलक्ष्मी आचार्य, निर्मला शर्मा व पार्षद पिंकी जैन शामिल रहीं।

निर्णायकों नेपहले तीन स्थानों के लिए कुल चार प्रतिभागियों को चुना, जिन्हें पुरस्कृत किया। इनमें निशा सोनी प्रथम, नीतू सोनी द्वितीय रही जबकि निकिता और मनीषा पुरोहित तीसरे स्थान पर रहीं। एसपी ने अपने उद्बोधन में कहा- आप सब इतना अच्छा कर रही हैं कि हम भी चयन के लिए सोच में पड़ गए। भास्कर की सराहना करते हुए कहा- ऐसे आयोजनों से संस्कृति को बढ़ावा मिलता है।

खबरें और भी हैं...