पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

बेटी ने बढ़ाया गौरव:भटनोखा की सुमित्रा राजपुरोहित को फैशन डिजाइनिंग में मिला पर्ल एक्सीलेंस अवार्ड

नागौर10 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • गांव की स्कूल में 12वीं तक पढ़ाई करने वाली बेटी ने रचा इतिहास

यह नागौर के भटनोखा गांव निवासी फैशन डिजाइनर सुमित्रा राजपुरोहित है। इन्होंने एक के बाद एक अवार्ड हासिल कर भटनोखा की बेटी ने नागौर का गौरव बढ़ाया है। सुमित्रा ने हाल ही में पर्ल एक्सीलेंस अवार्ड अपने नाम कर गांव का नाम रोशन किया है। इन्हें यह अवार्ड क्लास में सबसे ज्यादा नंबर, यानी टॉपर ऑफ द ईयर रहने पर दिया गया है।

साथ ही सुमित्रा के पर्ल एकेडमी की मैग्जीन “फ़ैशन मैटर्ज़” में भी उनका काम दर्शाया गया है। सुमित्रा बताती है कि उन्होंने चार साल में जो भी हासिल किया, उनका श्रय वो अपने परिवार को देगी, क्योंकि उन्होंने उन पर भरोसा किया और हर स्तर पर स्पोर्ट किया। अब वो इसी साल अंत तक वो मास्टर कोर्स के लिए इंडिया से बाहर जाना चाहती है। इसके लिए वो इन दिनों परीक्षा की तैयारी में जुटी है।

दरअसल, भटनोखा की फैशन डिजाइनर सुमित्रा की प्रारंभिक पढ़ाई गांव की स्कूल से ही हुई हैं। उन्होंने कक्षा एक से आठ तक सरकारी तथा कक्षा-10 व 12वीं की पढ़ाई गांव की निजी स्कूल से की। उन्होंने 2015 में जोधपुर से पर्ल एकेडमी के एंट्रेंस एग्जाम की तैयारी की और 2016 में उनका सलेक्शन हो गया। सुमित्रा ने पीछे मुड़कर नहीं देखा और चार साल के दौरान एक के बाद एक कई अवार्ड अपने नाम किए।
4 साल में सुमित्रा के कई अवार्ड किए अपने नाम
ओंकार सिंह राजपुरोहित बताते है कि सुमित्रा ने तृतीय वर्ष में 3 अवार्ड जीते। जिसमें जूरी च्वाइस अवार्ड, राइजिंग स्टार अवार्ड उन्हें ग्रेज्युएशन प्रोजेक्ट के लिए मिला हैं। सुमित्रा ने बताया कि उन्होंने प्रोजेक्ट में जो गरमेंट बनाए थे, वो गांव की और गांव की औरतों की जिंदगी से प्रेरित थे। उनका नाम पर्ल एकेडमी कैंपस के टॉप-5 स्टूडेंट्स में है।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आप प्रत्येक कार्य को उचित तथा सुचारु रूप से करने में सक्षम रहेंगे। सिर्फ कोई भी कार्य करने से पहले उसकी रूपरेखा अवश्य बना लें। आपके इन गुणों की वजह से आज आपको कोई विशेष उपलब्धि भी हासिल होगी।...

    और पढ़ें