पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

कलेक्टर ने किया बख्तसागर का निरीक्षण:बख्तसागर में भी चलेगी नाव, कैफेटेरिया भी बनाया जाएगा, होगा सौंदर्यीकरण

नागाैरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
बख्तासागर तालाब काे निरीक्षण करते कलेक्टर। - Dainik Bhaskar
बख्तासागर तालाब काे निरीक्षण करते कलेक्टर।
  • सौंदर्यीकरण करने के निर्देश

कलेक्टर डॉ. जितेंद्र कुमार सोनी ने शुक्रवार बख्तसागर तालाब का निरीक्षण किया गया। कलेक्टर ने नगर परिषद के आयुक्त श्रवण राम चाैधरी को तालाब के सौन्दर्यीकरण के संबंध में विभिन्न सुझाव दिए तथा नगर परिषद टीम का मार्गदर्शन किया। उन्होंने इस ऐतिहासिक तालाब को सुंदर बनाने, उसमें नौका विहार करने तथा कैफेटेरिया की स्थापना के सम्बन्ध में भी निर्देश दिए।

साथ ही चारदीवारी को व्यवस्थित, सुंदर बनाकर उसमें विभिन्न संगठनों के सहयोग से नागौर की ऐतिहासिक इमारतों का चित्रांकन करने, उद्घोष लिखने तथा प्रेरणादायी चित्र बनाने के संबंध में भी आवश्यक कार्य योजना बनाने का निर्देश दिया। उन्होंने तालाब में से गंदा पानी निकालने तथा कंटीली झाड़ियां व अंग्रेजी बबूल को हटाने के संबंध में भी आवश्यक सलाह सुझाव दिए।

उल्लेखनीय है कि मारवाड़ के राजा बख्त सिंह के द्वारा इस तालाब का निर्माण किया गया। तालाब निर्माण के समय से ही प्राचीन कलात्मक शिवलिंग का भी निर्माण किया गया। यहां नगर परिषद द्वारा गंदा पानी निकाल कर तालाब को साफ कर सौन्दर्यीकरण करवाया गया था। इस स्थान पर व्यापक रूप से चहल पहल होती है।

भामाशाह आगे आए तो बढ़ी तालाब की सुंदरता
भामाशाह व पूर्व पार्षद अशोक कुमार पिंटूसा ललवानी द्वारा इस तालाब को सुंदर बनाने के लिए यहां दो सुंदर कलात्मक द्वारों का भी निर्माण करवाया गया। भामाशाह दशरथ लोढा द्वारा इस तालाब में स्थित कुई का भी धरातल (आधार) ऊंचा करवा करके उसे पक्का निर्माण करवाया।

नगर परिषद द्वारा इस तालाब के उत्तर में स्थित कच्चे मार्ग को भरवाकर पक्का डामरीकरण करवाया। सभापति मीतू बोथरा ने भी विकास के इस कार्य में नागरिकों का आह्वान किया है कि इस तालाब में किसी भी प्रकार की गंदगी न डालें तथा किसी भी प्रकार के गंदे पानी का निकास भी इसमें न करवाएं।

खबरें और भी हैं...