पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

जागरूकता अभियान:बच्चों को डायरिया से बचाने के लिए चलाया जा रहा अभियान, 3 लाख बच्चों को दिए जाएंगे ओआरएस के पैकेट

नागाैर25 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
फाइल फोटो - Dainik Bhaskar
फाइल फोटो
  • राजस्थान में 5 वर्ष से छोटे उम्र के बच्चों में एक वर्ष में करीब 2 बार डायरिया होने की आशंका होती है

प्रदेश में बाल्यकाल में दस्त रोग की रोकथाम एवं प्रबंधन (आईडीसीएफ) 2021 कार्यक्रम 7 जुलाई से 6 अगस्त तक चलाया जा रहा है। इसमें बच्चों को डायरिया से बचाव करने के लिए जागरुक करना है। डायरिया की चपेट में आने वाले बच्चों को किस प्रकार से उपचार देना है और क्या सावधानी बरतनी है, इन सब बातों को लेकर भी आमजन में जागरूकता लाने का काम होगा।

मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. मेहराम महिया ने बताया कि डायरिया 5 साल से छोटे बच्चों में मृत्यु का एक मुख्य कारण है। राजस्थान में 5 वर्ष से छोटे उम्र के बच्चों में एक वर्ष में करीब 2 बार डायरिया होने की आशंका होती है। अतिरिक्त मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. शीशराम चौधरी ने बताया कि 7 जुलाई से 6 अगस्त सशक्त दस्त नियंत्रण कार्यक्रम की गतिविधियां विशेष सावधानी के साथ आयोजित की जानी है।

खबरें और भी हैं...