पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

सिस्टम में लीकेज:चैंबर ओवरफ्लो... गंदे पानी से भरा प्रताप सागर, तीन कॉलोनियों में फैली बदबू

नागौर6 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • प्रतापसागर पंप हाऊस में 8 दिन से मोटरें खराब
  • सीवरेज का पानी आगे नहीं बढ़ने से चैंबर ओवरफ्लो

तस्वीर किसी झरने की नहीं है, बल्कि शहर में सीवरेज चैंबर से ओवरफ्लो हो रहा गंदा पानी है। तस्वीर शहर के प्रतापसागर तालाब स्थित सीवरेज की मुख्य लाइन से जुड़े चैंबर की है। चैंबर से आगे बने पंप हाऊस में गत 8-9 दिनों से मोटरें बंद होने के चलते गंदा पानी आगे नहीं बढ़ रहा है, जिसके चलते चैंबर ओवरफ्लो हो रहा है। मौके पर लापरवाही के हालात ये है कि चैंबर से गंदा पानी लगातार प्रतापसागर तालाब में पहुंच रहा है।

जिसके चलते आसपास की 3 कॉलोनियों में गंदे पानी की बदबू घरों तक पहुंच रही है, जिसके चलते लोगों के लिए दुर्गंध सबसे बड़ी परेशानी बन चुकी है। शिकायत के बाद यहां नगर परिषद पार्षद व अधिकारी पहुंचे और उन्होंने मौके पर पंप हाऊस में मोटरें बंद मिली। उल्लेखनीय है कि गत वर्ष ही चैंबर ओवरफ्लो होने से भरे गंदे पानी को तालाब से निकालने के लिए पंपसेट लगवाकर पानी को खाली करवाया था।

आसपास के लोगों को उम्मीद जगी थी कि तालाब में फैली गंदगी से छुटकारा मिलेगा, मगर ऐसा नहीं हो रहा। गत वर्ष की तरह अब एक बार फिर चैंबर लीकेज होने से तालाब में पानी भर गया। मामले में पंप हाऊस संचालित करने वाले ठेकेदार की लापरवाही सामने आई है।

पंप हाऊस में मोटरें खराब होने के बावजूद समय पर ठीक नहीं करवाया गया। जिसके चलते सीवरेज लाइन से गंदा पानी आगे नहीं बढ़ पाया। दूसरी तरफ परिषद के जिम्मेदार भी मॉनिटरिंग नहीं कर रहे है। इसी लापरवाही का खामियाजा शहरवासी भुगत रहे है।

यह झरना नहीं, सीवरेज का चैंबर ओवरफ्लो से बहता पानी है

शहर के बीच स्थित प्रताप सागर तालाब में बने पंप हाऊस में 5 मोटरें लगी हुई है। यह पंप हाऊस ठेकेदार द्वारा संचालित किया जा रहा है। मगर गत दो वर्ष से लगातार यहां सिस्टम बिगड़ा हुआ है। शहर के गंदे पानी की निकासी के लिए सीवरेज की मुख्य लाइन इस तालाब से होकर गुजरती है।

यहां बने पंप हाऊस में लगी 5 मोटरों के माध्य से गंदे पानी को तेज प्रेशर के साथ आगे बढ़ाती है। मगर गत 8 से 9 दिनों से सभी मोटरें खराब होने के चलते सीवरेज लाइन से शहर का गंदा पानी आगे नहीं बढ़ पा रहा है। ठेकेदार का दावा है कि गुरुवार तक 3 मोटरों को को चालू कर दिया जाएगा।

नागौर शहर के प्रताप सागर तालाब में चैंबर लीकेज होने से गंदे पानी की निकासी लगातार तालाब में हो रही है। जिसके चलते गत 8 से 9 दिनों में सीवरेज का गंदा पानी लगातार तालाब में पहुंच रहा है। हालात यह है कि तालाब में गंदा पानी भर गया है। जिसके चलते एक बार फिर तालाब में गंदगी फैल चुकी है। यहां की बदबू आसपास घरों में पहुंच रही है।

किदवई कॉलोनी के घरों के अंडरग्राउंड में घुसा गंदा पानी, 24 घंटे चल रही मोटरें

​​​​​​​यह तस्वीर शहर के किदवाई कॉलोनी के एक मकान के अंडरग्राउंड की है। घर के तहखाना सीवरेज के गंदे पानी से लबालब है। ऐसा इसलिए हाे रहा है क्योंकि लौहारपुरा की सीवरेज लाइन जाम हाे चुकी है। जिसके चलते सीवरेज के चैंबर ओवरफ्लो होने लगे है। मौके पर हालात ये है कि गंदा पानी कई घरों के अंडरग्राउंड में पहुंचने लगा है।

तहखानों में सीवरेज का गंदा पानी भरने से लोग 24 घंटे मोटर चला पानी बाहर निकालने में जुटे है। जो क्षेत्र के लोगों के लिए सबसे बड़ी परेशानी बन चुकी है। घरों में गंदा पानी घुसने से बदबू से लोगों को घरों में रहना दुश्वार हो गया है। पानी से मकानों कमजोर होने लगे है।

पीड़ा ऐसी: मैं 8 दिन से रात काे जागकर अंडरग्राउंड से निकाल रहा हूं गंदा पानी

सीवरेज जाम हाेने से मेरे घर के बाहर बना चैंबर ओवरफ्लो हो रहा है। जिसका गंदा पानी मेरे तहखाने में आ रहा है। मैं 8 दिनों से मोटर से गंदा पानी रात को जागकर बाहर निकाल रहा हूं। अंदर रखा सामान खराब होने के साथ मकान कमजोर हो रहा है। इस पानी की बदबू घर में आ रही है, जिससे हमारा जीना दुश्वार हो चुका है। बार-बार शिकायत के बावजूद समाधान नहीं हुआ, अब मैं मानसिक रूप से परेशान हूं। हमें इस परेशानी का समाधान चाहिए।

-साजिद हुसैन,पीड़ित किदवई कॉलोनी।

खबरें और भी हैं...