पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

31 हजार पदों की तृतीय श्रेणी शिक्षक भर्ती:एक पद पर 53 अभ्यर्थियों के बीच मुकाबला, प्रदेशभर से 16.51 लाख अभ्यर्थियों ने किए आवेदन

नागौर2 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • एक्सपर्ट बाेले- अब पद बढ़ने की संभावना नहीं

प्रदेश में पांच बार स्थगित हो चुकी रीट परीक्षा 26 सिंतबर को होगी। रीट के लिए प्रदेशभर के 16,51,520 अभ्यर्थी पंजीकृत हुए हैं। राजस्थान सरकार ने रीट की परीक्षा के लिए ईडब्लूएस अभ्यर्थियों काे आयु सीमा में छूट देने के बाद पांच जुलाई तक 11,520 आवेदन और बढ़ गए। इस बार रीट में ईडब्लूएस वर्ग के 1,08,520 अभ्यर्थी हैं। तृतीय श्रेणी शिक्षकों के 31 हजार पदों के लिए होने वाली भर्ती में एक पद पर 53 अभ्यर्थियों के बीच मुकाबला हाेगा। इससे पूर्व 2017 में हुए रीट एग्जाम में 10 लाख अभ्यर्थी शामिल हुए थे।

इस बार रीट एग्जाम करवाने के लिए 22 सितंबर को प्रस्तावित कॉलेज लेक्चरर एग्जाम स्थगित कर दी गई। प्रारंभिक व माध्यमिक शिक्षा विभाग में तृतीय श्रेणी शिक्षक एल वन के कुल 1,49,279 पद स्वीकृत हैं। इनमें से 1,24,450 पद भरे हैं, जबकि 24,829 पद खाली हैं। वहीं अध्यापक लेवल-2 में 1,02,375 पद स्वीकृत हैं। इनमें से 79,989 पद भरे हुए हैं, जबकि 22,386 पद खाली हैं। ऐसे में रीट भर्ती होने सरकारी स्कूलों को 31 हजार शिक्षक मिलेंगे। प्रतिबंधित जिलाें में तृतीय श्रेणी शिक्षकों के सबसे ज्यादा पद खाली हैं।

परीक्षा तिथि नजदीक होने के कारण रीट में पद बढ़ना मुश्किल

4 साल बाद हाे रहे रीट एग्जाम की तारीख नजदीक होने से अब पद बढ़ना मुश्किल है। ईडब्लयूएस के आवेदन लेने से अभ्यर्थियों की संख्या बढ़ गई। चार साल में एग्जाम नहीं होने से अभ्यर्थियों की संख्या बढ़ गई है। ऐसे में अभ्यर्थी और पद बढ़ाने की मांग कर कर रहे हैं। विशेषज्ञ आकाश कटेवा का कहना है कि एग्जाम नजदीक है। ऐसे में अब पद बढ़ने की संभावना नहीं है। शिक्षा विभाग में तृतीय श्रेणी के 43 हजार पद खाली हैं। 2011, 2012 में हुई आरटेट और 2015 व 2017 रीट प्रमाण पत्रों की वैधता समाप्त हो चुकी है।

रीट प्रमाण पत्र की वैधता लाइफ टाइम करने की मांग

केंद्र सरकार ने सीटेट की वैधता लाइफ टाइम कर दी है, लेकिन रीट की वैधता तीन साल ही रहेगी। सीटेट पर केंद्र सरकार का फैसला आने के बाद राजस्थान में भी शिक्षक भर्ती की तैयारी कर रहे युवा रीट की वैधता लाइफ टाइम करने की मांग कर रहे हैं।

खबरें और भी हैं...