पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

फसल तबाही का प्रजनन काल:खेतों में रेगिस्तानी टिड्डी दे रही 80 से 120 अंडे, खतरा- 20 गुना नई पैदा होंगी

नागौर3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

रेगिस्तानी टिड्डी राजस्थान के किसानों पर कहर बरपा रही है। ढाई माह से खेतों में टिड्डी दलों से किसान फसलों को बचाने में जुटे है, मगर अब उनके सामने खतरा और बड़ा है। पीली अवस्था में पहुंच चुकी टिड्डी का प्रजनन काल शुरू हो चुका है। जिले के झोरड़ा के बाद डीडवाना के नवरंगपुरा में रेतीले इलाकों में टिड्डियों ने अंडे देने शुरू कर दिए है।

एक टिड्डी 80 से 120 अंडे दे रही है। ऐसे में 20 गुणा नई टिड्डी पैदा हो सकती है। दरअसल, नागौर जिले में वर्तमान में 4 से ज्यादा छोटे से बड़े दल गलोली, डेह-सोमणा, नवरंगपुरा सक्रिय है। कृषि विभाग अब तक 81607 टिड्डी प्रभावित क्षेत्र में से 18813 हेक्टेयर में नियंत्रण कर पाया है। खतरे के समय सरकार हाेटलाें में कैद है, संसाधनों के अभाव में 7.55 लाख हेक्टेयर में खड़ी फसलों काे बचाने किसान थाली-ठाेल बजाकर टिड्डी भगाने काे मजबूर है।  टिड्डी का सबसे खतरा मंडराया हुआ है।  जबकि चुनी हुई सरकार हाेटलाें में कैद है। 

ऐसे रोके इन्हें बड़ा होने से
 किसानों को खेतों में जहां भी इनके अंडे नजर आएं वहां खेत के चारों ओर खाई खोद दें। अंडों से निकला फाका अपनी पहली दो अवस्था में जमीन पर ही चलता है। आवाज के जरिए उसे खाई की ओर ले जाया जा सकता है। उस पर मिट्‌टी डाल दें या आग लगा दें।

सितंबर में होगा ज्यादा नुकसान
 इस समय टिड्डियों में अंडे देने का काल चल रहा है। डेढ़ से दो महीने में इन अंडों से व्यस्क टिड्डी तैयार हो जाएगी। ऐसे में इन्हें अभी नहीं रोका गया तो सितंबर में इनसे ज्यादा नुकसान होगा और उस समय खेतों में फसल पकने के कगार पर होगी।

  • टिड्डी का 2 ग्राम हाेता है भार
  • एक टिड्डा 90 से 120 दिन जीता है 1
  • दल में होती हैं डेढ़ लाख टिडि्डयां
  • यह दल 1.80 कराेड़ नई टिड्डी पैदा कर सकता है
  • एक टाइम में 80 से 120 अंडे देती है
  • 50 दिन में अंडों से निकलने पर उड़ने लगती हैं टिडि्डयां
  • इनका झुंड रोज 35 हजार लोगांे का खाना चट कर सकता है।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आप अपने विश्वास तथा कार्य क्षमता द्वारा स्थितियों को और अधिक बेहतर बनाने का प्रयास करेंगे। और सफलता भी हासिल होगी। किसी प्रकार का प्रॉपर्टी संबंधी अगर कोई मामला रुका हुआ है तो आज उस पर अपना ध...

और पढ़ें