आम उपभोक्ताओं पर डंडा:डिस्कॉम ने 5 दिन में 2930 उपभोक्ताओं के कनेक्शन काटे, सरकारी विभागों पर 1 अरब बाकी पर उनके नहीं

नागौरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • आम उपभोक्ताओं पर डंडा, 7.95 कराेड़ की वसूली की, सरकारी विभागों पर मेहरबान

कार्यालय में एसी व पंखों की हवा खाने, हर रोज कंप्यूटर अंगुलियां दौड़ाने वाले सरकारी विभागों के अधिकारी डिस्कॉम के बकाया 1 अरब 10 करोड़ का बिल चुकाने में नाकाम साबित हो रहे हैं। इसी के चलते नागौर डिस्कॉम 3.18 अरब घाटे में चला गया।

अजमेर विद्युत वितरण निगम नवंबर माह में विशेष अभियान चलाकर घरेलू, कृषि जैसे बकाया बिलों वाले उपभोक्ताओं के कनेक्शन काट ताबड़तोड़ वसूली की जा रही है, मगर सरकारी विभागों से बकाया वसूली में डिस्कॉम के अधिकारियों के पसीने छूट रहे हैं। यानी निगम की यह सख्ती आम लोगों तक ही सीमित है। डिस्कॉम सरकारी महकमों से न तो बिलों की बकाया रकम वसूल पा रहा है और न ही कनेक्शन काटे। सरकारी विभागों के अधिकारी भी बिल के बकाया भुगतान की बात आते ही मुंह मोड़ रहे हैं। नागौर में सरकारी महकमों की बात करें तो सर्वाधिक 38 कराेड़ 56 लाख 76 लाख पीएचईडी, 27 कराेड़ 75 लाख ग्राम पंचायताें, 17 कराेड़ 41 लाख नगर परिषद व पालिकाओं में बिजली बिल बकाया चल रहे हैं। ग्रामीण अंचल में पानी पहुंचाने के लिए चलाई जा रही जनता जल योजना के 14 कराेड़ 16 लाख रुपए का भुगतान होना है।

इसके अलावा पुलिस महकमें पर 62 लाख और जिला प्रशासन पर बिलों की 1 कराेड़ से भी ज्यादा की उधारी चल रही है।

डिस्कॉम की तरफ नवंबर माह में एक विशेष अभियान चलाया गया था। 25 से 30 नवंबर तक चलाए गए अभियान में बकाया वसूलने के लिए जिले के 29 एईएन, 7 एक्सईएन सहित अन्य टीमें जुटी और मात्र 5 ही दिन में 2930 घरेलू सहित अन्य उपभाेक्ताआंे में बकाया बिल को लेकर कनेक्शन काटे और 7 कराेड़ 95 लाख की वसूली की थी। मगर सरकारी महकमों में 1.10 अरब के बिजली बिल की राशि बकाया चल रही है, मगर न तो बिलों की बकाया रकम वसूल पाया और न ही कनेक्शन काटे। क्‍योंकि सरकारी विभागों काे बार-बार नाेटिस देने के बावजूद बिजली का बकाया बिल भुगतान करने काे तैयार नहीं है। जिले में अब तक बकाया बिल व बिजली चाेरी पर काटे गए कनेक्शनाें के कुल 1 अरब, 14 कराेड़ 73 लाख रुपए से ज्यादा की राशि सभी श्रेणी के उपभाेक्ताअाें व सरकारी मेहकमाें में बकाया चल रही है। डिस्काॅम अधिकारियाें काे अब वसूलने में पसीनें अा रहे हैं। इसी कारण बहुत परेशानियां भी सामने आ रही है।

इसमें 3 कराेड़ 89 लाख से ज्यादा उन सरकारी मेहकमाें में बकाया चल रहे हैं, जहां बिजली कनेक्शन काफी समय पहले कटे चुके हैं, मगर..बकाया बिलों की आज तक वसूली नहीं हो पाई है। इधर, मकराना नगर परिषद में 194.61 लाख रुपए, नागौर नगर परिषद में 250.46 लाख रुपए, कुचामन नगर पालिका में 149.24 लाख रुपए, मेड़ता पालिका में 326.12 लाख रुपए बकाया है।

केंद्र 151.12 लाख पीएचईडी 3856.76 लाख जल योजना 1416.45 लाख सरपंच 2775.58 लाख प्रशासन 105.18 लाख पुलिस 62.95 लाख न.निकाय /यूआईटी 1741.15 लाख अन्य 230.44 लाख कुल 10339.63 लाख

खबरें और भी हैं...