• Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Nagaur
  • Discussion And Instructions In The Meeting, No Brainstorming On Immediate Treatment For The Suspect, Which May Break The Corona Chain

कोरोना पर मंथन:बैठक में चर्चा और निर्देश, संदिग्ध के लिए तत्काल उपचार पर नहीं कोई मंथन, जिससे कोरोना की चेन टूट सके

नागौर6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
नागौर मानासर चौराहे पर बगैर हेलमेट के काटे जा रहे हैं चालान - Dainik Bhaskar
नागौर मानासर चौराहे पर बगैर हेलमेट के काटे जा रहे हैं चालान
  • ऑक्सीजन की बताई पर्याप्त मात्रा, बेहतर उपचार पर भी बल

उपखण्ड अधिकारियों के साथ भारत निर्माण राजीव गांधी सेवा केन्द्र में बुधवार को हुई वीसी में चर्चाओं के साथ विस्तृत निर्देश भी दिए, लेकिन संदिग्ध को तत्काल उपचार मुहैया करवाने पर किसी तरह का मंथन नहीं हुआ।

साथ ही यह भी नहीं बताया गया कि संदिग्ध की रिपोर्ट में अगर विलंब होता है तो उसको किस तरह की सावधानियां व दवाइयां लेनी हैं, जिससे कोरोना की चेन का तोड़ा जा सके और मरीज को हाथों हाथ उपचार मिल सके।

वीसी में कलक्टर डाॅ. जितेन्द्र कुमार सोनी ने कोविड-19 के प्रभावी नियंत्रण व पर्याप्त मात्रा में ऑक्सीजन का प्रबंध करने पर जोर दिया। उन्होंने सभी उपखण्ड अधिकारियों से प्रत्येक उपखण्ड स्तर पर बी टाइप एवं डी टाइप सिलेंडरों की, ऑक्सीजन की उपलब्धता की विस्तृत जानकारी ली।

अधिकारियों को अपने-अपने क्षेत्रों में संचालित कोविड डेडिकेटेड अस्पताल व कोविड केयर सेंटरों में कोरोना रोगियों को बेहतर इलाज उपलब्ध कराने के निर्देश दिए। बताया कि ब्लाक स्तर पर ऑक्सीजन की आवश्यक सप्लाई सुनिश्चित कर ली गई है और सभी चिकित्सा अधिकारियों को निर्देश दिए कि कोरोना के सामान्य संक्रमित मरीजों का स्थानीय स्तर पर इलाज शुरूआती लक्षणों को ध्यान में रखते हुए, सही समय पर प्रारंभ कर दिया जाए इससे जिले के बड़े अस्पतालों व कोविड डेडिकेटेड अस्पतालों में जहां गंभीर संक्रमित मरीजों का इलाज चल रहा है, उन अस्पतालों में गंभीर मरीजों को बेहतर इलाज मिल सके।
जरूरतमंदों को मिलेगा भोजन

नगर निकायों के अधिशासी अधिकारियों को निर्देश दिए कि वे अपने क्षेत्र में निशुल्क मोक्ष वाहिनियों का प्रबंध करें, जिससे मृतकों का उचित सम्मान के साथ अंतिम संस्कार किया जा सके। साथ ही क्षेत्र में कोई भी भूखा ना सोये। इसके लिए इंदिरा रसोई योजना के द्वारा कोविड मरीजों व गरीब लोगों तथा अन्य जरूरतमंदों तक भोजन पहुंचाया जा सके।
ग्राम स्तरीय कोर टीम करेगी सहयोग
मुख्य कार्यकारी अधिकारी जवाहर चौधरी ने वीसी में बताया कि उपखण्ड मजिस्ट्रेट की सहायता के लिए ग्राम पंचायत स्तर पर कोर ग्रुप का गठन किया गया है, जिसमें ग्राम पंचायत स्तरीय अधिकारी व कर्मचारी कोविड नियंत्रण एवं प्रचार-प्रसार संबंधी गतिविधियों में स्वास्थ्य मित्रों व ग्राम रक्षकों का सहयोग लेंगे।

ग्राम स्तर पर टीम बनाकर घर-घर सर्वे का कार्य किया जाएगा और सर्वे के दौरान कोई संभावित कोरोना लक्षण दिखाई देने वाले व्यक्ति को चिन्ह्ति किया जाएगा और समय पर उसका इलाज शुरू हो जाए इसके लिए मेडिसिन किट भी उपलब्ध करवाया जाएगा।

पीठ की बजाय पेट के बल लेटाएं
पीएमओ डाॅ. शंकरलाल ने वीसी के माध्यम से जुड़े चिकित्सकों से कहा कि कोरोना संक्रमित मरीज ऑक्सीजन पर निर्भर हैं उन्हें पीठ के बल ना लेटा कर, उनको पेट के बल या करवट लेकर लेटने के लिए प्रेरित करें। पेट के बल और करवट लेकर लेटने से फेफड़ों के फूलने की क्षमता बढ़ जाती है, जिससे शरीर का ऑक्सीजन लेवल भी बढ़ जाता है।

खबरें और भी हैं...