पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

न्याय की गुहार:3 माह बाद भी वृद्धा के हत्यारों का सुराग नहीं, 81 किमी पैदल चल नागौर आए लोगों ने किया प्रदर्शन

नागौर10 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • जून महीने में मेड़ता सिटी में हुआ था हत्याकांड, पुलिस अभी तक नहीं खोल पाई

तीन महीने पहले मेड़ता में हुए छोटी देवी हत्याकांड के खुलासे के लिए करीब 100 महिला पुरुष एवं छोटे बच्चों ने मेड़ता से नागौर 81 किलोमीटर तक विरोध प्रदर्शन करते हुए मार्च निकाला। जो मंगलवार दोपहर नागौर पहुंचे और यहां उन्होंने एसपी के समक्ष खुलासे की मांग रखी। कड़े शब्दों में पुलिस अधिकारियों से यह भी कहा कि जल्द वारदात का खुलासा नहीं हुआ तो वे जयपुर भी इसी तरह मार्च निकालते हुए जाएंगे और वहां अनिश्चितकाल तक के लिए धरना देंगे।

ग्रामीण हाथों में तख्तियां लिए हुए थे, जिनमें न्याय की मांग के लिए तथा पुलिस की ओर से कार्रवाई नहीं करने की लाइनें लिखी हुई थी। कतारबद्ध ग्रामीण सोशल डिस्टेसिंग का पालन करते हुए पुलिस तथा प्रशासन के खिलाफ नारेबाजी करते हुए पहुंचे। इससे पहले वारदात के खुलासे के लिए ग्रामीण मेड़ता में एकत्रित हुए थे, लेकिन वहां से इनको कोई संतुष्टिपूर्ण जवाब नहीं मिला, तो ग्रामीणों ने 7 सितंबर की रात 8 बजे पैदल रवाना हो गए थे।

7 दिन में खुलासे का आश्वासन निराधार, अब जयपुर के लिए करेंगे पैदल मार्च

22 जून को मेड़ता सिटी निवासी छोटी देवी पत्नी गीगाराम कुम्हार के गहने छीनने के बाद अज्ञात आरोपियों ने उसकी हत्या करने के बाद उसकी लाश को एक खंडहर में फेंक दिया था। इसकी 26 जून को मृतका के बेटे जगदीश प्रजापत ने थाने में रिपोर्ट दर्ज कराई थी। इस दरम्यान आरोपियों की गिरफ्तारी व खुलासे के लिए परिजनों ने विरोध-प्रदर्शन भी किया था।

इसके बाद पुलिस एवं प्रशासन ने 7 दिन में आरोपियों की गिरफ्तारी कर वारदात का खुलासा करने का आश्वासन दिया था। फिर ग्रामीण शव का अंतिम संस्कार करने काे तैयार हुए। निर्धारित समय के बाद जब थाना प्रभारी से सम्पर्क किया गया तो टाल मटौल कर ग्रामीणों को रवाना कर दिया। अब लोगों ने शीघ्र खुलासे की मांग की है।
एसपी को सौंपे परिवाद में एक आरोपी पर शक भी जताया
ग्रामीणों ने एसपी को सौंपे परिवाद में एक आरोपी का नाम लेते हुए उस पर तथा उसके परिवार पर शक जाहिर किय है। साथ ही बताया कि उक्त परिवार के सदस्य कई बार छोटी देवी से झगड़ा कर चुके हैं। इससे यह मामला कोर्ट तक भी पहुंच गया था। इसके बाद दोनों पक्षों के बीच मरने-मारने की बातें भी हुई थी।

संबंधित की ओर से कई बार छोटी देवी को जान से मारने की धमकियां भी दी जा चुकी थीं। परिवाद में ग्रामीणों ने आरोपी जिस तरह की धमकियां देता था ठीक उसी तरह से वारदात भी हुई है। इसके बावजूद पुलिस की ओर से कार्रवाई नहीं की जा रही है। ग्रामीणों ने पुलिस के खिलाफ काफी असंतोष भी व्यक्त किया। प्रजापति युवा शक्ति संगठन के बैनर तले मेड़ता से रवाना होने के सप्ताहभर बाद समाज के लोग मंगलवार को नागौर पहुंचे।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आप भावनात्मक रूप से सशक्त रहेंगे। ज्ञानवर्धक तथा रोचक कार्यों में समय व्यतीत होगा। परिवार के साथ धार्मिक स्थल पर जाने का भी प्रोग्राम बनेगा। आप अपने व्यक्तित्व में सकारात्मक रूप से परिवर्तन भ...

और पढ़ें