पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

अनदेखी पड़ेगी भारी:मुंबई-कर्नाटक से आने वालों की तो दूर, जाने वाले यात्रियों की भी स्क्रीनिंग नहीं; कलेक्टर के आदेशों की दूसरे दिन ही उड़ी धज्जियां

नागौरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • आने-जाने वाले प्रत्येक यात्री का रिकॉर्ड करना था संधारित मगर ऐसा हो ही नहीं रहा है
  • भास्कर रियल चेक के दौरान सुबह नौ बजे आई हकीकत, बगैर मास्क यात्रियों को स्टेशन पर कोई टोकने वाला भी नहीं

7 राज्यों मेंं कोरोना के मरीज बढ़ने के बाद प्रदेश में जारी हुए अलर्ट पर महाराष्ट्र एवं केरल सहित अन्य राज्यों से आने वाले यात्रियों की विशेष जांच के आदेशों की सोमवार को दूसरे ही दिन रेलवे स्टेशन पर धज्जियां उड़ती दिखाई पड़ी। रेलवे स्टेशन पर सुबह नौ बजे जब दादर-बीकानेर एवं अन्य ट्रेनें आईं तो स्टेशन के मुख्यद्वार से गुजरने वाले यात्रियों की थर्मल स्क्रीनिंग करना तो दूर मौके पर कोई टोकने वाला भी मौजूद नहीं था। यात्री एवं उनके परिजन बगैर किसी रोक-टोक के रेलवे स्टेशन के भीतर आना-जाना करते दिखाई पड़े।

इनमें से कईयों के तो मास्क भी गायब थे। रेलवे स्टेशन पर पूर्ण सुरक्षा बरतने के आदेशों के बाद यह हकीकत भास्कर की ओर से किए गए रियल चेक के दौरान सामने आई है। हालांकि रेलवे स्टेशन के भीतर आने-जाने के द्वार के ठीक बगल में एक टेबल एवं बैंच रखी हुई मिली, जहां संभवत आने जाने वाले यात्रियों को रोकने एवं टोकने के लिए कार्मिक बैठते होंगे, लेकिन सुबह के समय वहां एक भी कार्मिक बैठा हुआ नहीं था। उल्लेखनीय है कि रेलवे स्टेशन पर आने वाले यात्रियों के मास्क तक नहीं पहना हुआ होता है और उन्हें रोकने-टोकने वाला भी कोई नहीं है। आमजन को भी यह समझना चाहिए कि कोरोना अभी खत्म नहीं हुआ है। ऐसे में लापरवाही भारी पड़ सकती है।

भास्कर रियल चेक के दौरान सुबह नौ बजे आई हकीकत, बगैर मास्क यात्रियों को स्टेशन पर कोई टोकने वाला भी नहीं

प्रत्येक यात्री की स्क्रीनिंग व रिकॉर्ड सुरक्षित रखना था

रेलवे स्टेशन पर महाराष्ट्र, केरल व अन्य राज्यों से आने वाले प्रत्येक यात्रियों की टीम लगाकर स्क्रीनिंग करवाई जानी थी। यह भी सुनिश्चित करना था कि टीम के साथ थर्मल स्क्रेनर, प्लस ऑक्सीमीटर रजिस्टर हो इससे रेलवे स्टेशन पर प्रत्येक यात्रियों की जांच की जा सके और प्रत्येक यात्री का विवरण इन्द्राज किया जा सके। यात्री अपनी आरटीपीसीआर नेगेटिव जांच रिपोर्ट प्रस्तुत करता है तो उस यात्री को घर भिजवाना सुनिश्चित कराया जाए। जो यात्री अपनी रिपोर्ट प्रस्तुत नहीं करता है तो उस यात्री को होम क्वारेंटाइन करते हुए उन सभी यात्रियों का सैंपल करवाया जाए। सैंपल नेगेटिव या पॉजिटिव आने पर ही आगे की कार्रवाई हो।

मंगलवार को सर्वाधिक ट्रेनें आती हैं

रेलवे कार्मिकों से प्राप्त जानकारी के अनुसार नागौर में ट्रेनों के 17 चरण हैं, लेकिन सर्वाधिक ट्रेनें मंगलवार को ही आती हैं। ऐसे में मंगलवार को सर्वाधिक ध्यान देने की आवश्यकता रहती है। मंगलवार को ट्रेनें दिल्ली, मुंबई, हावड़ा, कोच्चीवली, बैंगलुरु, जशवंतपुर सहित अन्य कई जगहों के लिए ट्रेनें हैं। ऐसे में यात्रियों का फुटपाथ भी काफी रहता है। ऐसे में चिकित्सा विभाग की ओर सेक लापरवाही बरती जाती है तो यह नागौर के लिए भारी भी पड़ सकती है। कोरोना के अलर्ट के बावजूद रेलवे स्टेशन पर यात्री तो बेखौफ हैं ही साथ में रेलवे स्टेशन पर खाद्य सामग्री की बिक्री करने वाले ट्रॉली संचालक भी लापरवाह बने हुए हैं। सुबह पड़ताल के दौरान कई ट्रॉली संचालकों के पास मास्क नहीं थे। ये बगैर मास्क के ही खाद्य सामग्री को इधर-उधर करने का कार्य करते दिखाई पड़े। यह स्थिति उस समय थी जब दादर बीकानेर ट्रेन आई थी और बीकानेर से एक ट्रेन स्टेशन पर रुकी थी।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- इस समय निवेश जैसे किसी आर्थिक गतिविधि में व्यस्तता रहेगी। लंबे समय से चली आ रही किसी चिंता से भी राहत मिलेगी। घर के बड़े बुजुर्गों का मार्गदर्शन आपके लिए बहुत ही फायदेमंद तथा सकून दायक रहेगा। ...

    और पढ़ें