दिव्या मदेरणा RLP के गढ़ खींवसर में बोलीं:पहले पॉलिटिकल टेंपरेचर नापा, अब सर्जरी कर बीमारी का पक्का इलाज करूंगी

नागौर3 महीने पहले

कांग्रेस की तेज तर्रार नेता और ओसियां MLA दिव्या मदेरणा ने एक बार फिर RLP (राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी) के गढ़ में पहुंचकर इशारों ही इशारों में RLP और पार्टी सुप्रीमो व नागौर सांसद हनुमान बेनीवाल पर बड़ा हमला बोला है। उन्होंने कहा कि खींवसर क्षेत्र से उनका पारिवारिक जुड़ाव है। इसलिए यहां वो अपने परिवार के लोगों से मिलने के लिए आती है। पिछली बार यहां पहुंचकर उन्होंने खींवसर क्षेत्र का पॉलिटिकल टेंपरेचर नापा था। यहां बीमारी भी बहुत जबरदस्त है। अब में ऑपरेशन कर इस बीमारी का इलाज करूंगी। अब मैंने खींवसर ऑपरेशन का आगाज कर दिया है।

तेजा गायन कार्यक्रम में पहुंचीं दिव्या
ये बयान ओसियां MLA दिव्या मदेरणा ने शुक्रवार रात को खींवसर के भोमासर ग़ांव में वीर तेजा जी महाराज का तेजा गायन कार्यक्रम में शिरकत करते हुए दिया। यहां उन्होंने कहा कि वो उन नेताओं में से नहीं है जो शादी और धार्मिक कार्यक्रमों में पॉलिटिकल बयानबाजी करते हो। वो परसराम मदेरणा की पोती और महिपाल मदेरणा की बेटी है, इसलिए राजनीति उसूलो से करती हूं। मानती हूं कि अगर कोई सामने से उन्हें ललकार तो उसूल बराबर के हो। उन्होंने कहा कि आज नागौर वेंटिलेटर पर सांसे ले रहा है और राजनैतिक रूप से हाशिये पर है। वो तो ऑपरेशन सफल कर देगी पर जनता को भी जागरूक होना पडेगा।

खींवसर में रिश्ते निभाने आती हूं
ओसियां MLA दिव्या मदेरणा ने कहा कि उनका खींवसर से दुःख-दर्द और संघर्ष का पीढ़ियों का रिश्ता है। वो बार-बार यही रिश्ता निभाने आती है। इसी रिश्ते को लेकर सामने वाले ललकारते है। किसानो का सबसे ज्यादा दुश्मन नागौर में है। यहां से जो नेता है वो बार-बार ओसियां में आकर कहते है कि दिव्या को हराएंगे। उनका एक ही टारगेट है। में पूछना चाहती हूं कि क्या में किसान की बेटी नहीं हूं और क्या मैं किसान विरोधी हूं। करीब महीने भर पहले भी ओसियां MLA दिव्या मदेरणा और नागौर सांसद हनुमान बेनीवाल ने एक दूसरे पर पॉलिटिकल बयानबाजी कर मारवाड़ का सियासी पारा चढ़ा दिया था।

हनुमान बेनीवाल से 36 का आंकड़ा
दरअसल पिछले साल पंचायत चुनावों में नागौर सांसद हनुमान बेनीवाल की RLP पार्टी और ओसियां विधायक दिव्या मदेरणा के बीच तल्खियां बढ़ गई थी। इन चुनावों में जोधपुर जिले में RLP का जबरदस्त प्रदर्शन रहा था। ओसियां में तो RLP की मदद से ही बीजेपी का प्रधान बना। यहां कांटे की टक्कर थी। कांग्रेस और बीजेपी के 11-11 सदस्य चुनाव जीते थे और वहीं एक सदस्य RLP से जीता था। RLP के एक सदस्य ने बीजेपी के पक्ष में वोटिंग कर दिव्या मदेरणा के गढ़ में प्रधान की सीट उनसे छीन ली थी। वहीं इसके अलावा भी जोधपुर जिले में RLP ने दो जगह अपने प्रधान बना लिए।

पिछले साल हुए पंचायत चुनाव में प्रचार के दौरान नागौर सांसद हनुमान बेनीवाल और ओसियां MLA दिव्या मदेरणा के बीच बयानों के तीखे बाण भी चले थे। तब चुनाव प्रचार के अंतिम दिन एक सभा में ओसियां MLA दिव्या मदेरणा ने RLP के चुनाव चिह्न बोतल को लेकर कहा था कि मदेरणा साहब कहते थे कि वोट सही जगह पर देना और निशाने पर देना। नहीं तो कुएं में डाल देना। अगर कोई बोतल लेकर नाचता है तो उसे समझा देना कि 90 फीट गहरा कुआं है, मिलेगा ही नहीं। बोतल को कुएं में डाल दो।

बेनीवाल ने भी किया कटाक्ष
वहीं इसके बाद नागौर सांसद और RLP सुप्रीमो हनुमान बेनीवाल भी पीछे नहीं रहे थे। इसके बाद हुई एक सभा में उन्होंने भी MLA दिव्या मदेरणा के तंज पर कटाक्ष किया। उन्होंने कहा था कि- वो बोल रहे हैं कि बोतल को गहरे कुएं में डाल दो। यह बोतल भंवरी थोड़ी है जो कुएं में डाल दोगे। ये बोतल ही थी जिसकी वजह से आप विधानसभा में चले गए। बोतल नहीं होती तो आता-पता ही नहीं लगता। वो मैं ही था जो आपके पापो पर पर्दा डाल रहा था। रिश्तेदार भी नहीं बोल रहे थे।