मौसम / पहली बार रात का पारा 30॰ पार, अगले 5 दिन में तेज रहेगा गर्मी का असर

For the first time, the mercury crosses 30,, the heat will remain strong in the next 5 days.
X
For the first time, the mercury crosses 30,, the heat will remain strong in the next 5 days.

  • मई ने आखिर में तपाया: पश्चिम राजस्थान की गर्म हवाओं से लू के थपेड़े, अभी बारिश के आसार नहीं, बढ़ेगी गर्मी

दैनिक भास्कर

May 24, 2020, 05:00 AM IST

नागौर. मई के आखिर में आसमान से आग बरसनी शुरू हो गई है। इस सीजन मे मई के दो सप्ताह में भले ही गर्मी से राहत ही थी। पर अब तो सुबह 8 बजे से ही सूरज ने अपना तेज महसूस कराने लगता है। यानी, पश्चिमी राजस्थान की गर्म हवाएं झुलसाने लगी हैं। इनके कारण लू चल रही है। शनिवार को रात के अधिकतम पारा मे बड़ां उछाल दर्ज किया गया। पहली बार 30 डिग्री क्राॅस कर गया। इस सीजन की यह अब तक की सबसे गर्म रात रही। वहीं दिन का अधिकतम तापमान 43.3 डिग्री दर्ज किया गया। मौसम महकमे की चेतावनी है कि अगले पांच दिन अधिकतम तापमान 43 डिग्री से उपर तथा न्यूनतम 30 डिग्री के अासपास ही रहेगा। यानी दिन का पारा 44 डिग्री तो रात का 31 डिग्री से उपर जा सकता है। हीट वेव्व के चलते जिलेभर में 31 मई तक बीच-बीच में लू भी झुलसाएगी। बारिश के आसार नहीं है। 
पहली बार पूरा अप्रैल व मई का प्रथम सप्ताह रहे राहत भरे
बता दें कि अप्रैल महीने से ही गर्मी की शुरूआत हो जाती है और अक्सर ये हुआ है कि अप्रैल में ही अधिकतम पारा 40 डिग्री को छू जाता है। लेकिन ऐसा पहली बार हुआ है कि पूरा अप्रैल महीना भीषण गर्मी से राहत भरा निकल गया, एक दिन भी अधिकतम तापमान 40 डिग्री रिकार्ड नहीं हुआ। जबकि सामान्य एवरेज तापमान भी 32-33 डिग्री ही रिकार्ड हुआ। इसी तरह इस बार मई का प्रथम सप्ताह में भी अधिकतम तापमान 40 डिग्री से नीचे रहा, जो पहले कभी नहीं हुआ। हालांकि 20 मई के बाद लगातार तापमान में बढ़ाेतरी दर्ज की गई है। अधिकतम तापमान 43 डिग्री क्राॅस कर चुका है। आगे भी तापमान बढ़ेगा।  
12 मई तक हाे गई 48.4 एमएम बारिश
ऑल टाइम रिकॉर्ड के मुताबिक 23 सालों बाद मई के दूसरे हफ्ते तक, यानी 12 मई तक जिले में 48.4 एमएम बारिश रिकॉर्ड हुई। इससे पहले मई के दूसरे सप्ताह में बारिश 1997 में हुई थी। वहीं, इस बार अप्रैल से मई मध्य तक लगातार बने वेदर सिस्टम के कारण इसमें तापमान में उतार-चढ़ाव आया। हर हफ्ते बाद होने वाली बारिश के चलते हवा में नमी काफी रही और अधिकतम पारा नहीं बढ़ पाया, लेकिन अब तापमान बढ़ना शुरू हो चुका है, जो आगे और बढ़ेगा। 
नौतपा. 9 दिन सूर्य किरणें सीधी आती हैं
नौतपा यानी इन दिनों सूर्य का रोहिणी नक्षत्र में प्रवेश होने से उसकी किरणें धरती पर सीधी पड़ती हैं। इस दौरान भयानक गर्मी पड़ती है। पंचांग के अनुसार 11 मई से ज्येष्ठ माह शुरू गया। नौतपा 25 मई से 3 जून तक रहेगा।
मान्यता है कि नौतपा के 9 दिनों में बारिश न हो तो उस साल मानसून बहुत अच्छा होता है। उधर, माहिरों के मुताबिक लोग ज्यादातर धूप से बचें। पानी लस्सी, नींबू पानी का इस्तेमाल ज्यादा करें। धूप से एनर्जी कम होने लगती है। इसे बनाएं रखने को ज्यादा से ज्यादा पानी पिएं।
3 जुलाई को नागौर में प्रवेश करेगा मानसून 
मौसम विभाग ने 2 से 3 जुलाई को नागौर में मानसून प्रवेश की संभावना जताई है। वहीं मानसून की विदाई अब 17 की बजाए 25 सितंबर संभावित मानी जा रही है।  

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना