पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

होलिका दहन:मीठड़ी में वाल्मिकी समाज ही करता है होली दहन

ठठाना मीठडीएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
ठठाना मीठडी, होलिका दहन करता पूसाराम वाल्मिकी। - Dainik Bhaskar
ठठाना मीठडी, होलिका दहन करता पूसाराम वाल्मिकी।

होली के रंग समभाव के प्रतीक है। जिले में एक गांव ऐसा भी है जहां होली पर होने वाला आयोजन सालों से तय है। इसमें एक परिवार होलिका दहन का सामान उपलब्ध करवाता है और फिर प्रहलाद को बचाने की परंपरा भी एक ही परिवार निभाता है। फिर तो पंडित परिवार पूजा अर्चना कराता है।

फिर वाल्मिकी समाज में से कोई होलिका दहन करता है। विक्रम संवत 1272 में बसे मीठड़ी में सालों से एक परंपरा चली आ रही है। जानकारी के अनुसार कस्बे में रविवार शाम को बस स्टैंड पर स्थित होलिका दहन स्थल पर ग्रामीणों ने डांडारोपण किया।

प्राचीन परम्परा अनुसार बाजडोलिया परिवार ने होली के लिए सामान उपलब्ध करवाया। इसके बाद पंडित राधेश्याम शास्त्री व हरी प्रसाद शर्मा ने वैदिक मंत्रोच्चारण किया। सबसे खास बात यह रही कि यहां पर वाल्मिकी समाज की ओर से होली की अग्नि प्रज्जवलित की जाती है। रविवार को भी वाल्मिकी समाज के पुसाराम ने होली की अग्नि प्रज्ज्वलित की।

अग्नि के दर्शन कर अच्छे जमाने का अनुमान
महिलाओं ने मंगल गीत गाकर होली का पूजन किया। साथ ही ग्रामीणों ने होली की अग्नि (झल) का दर्शन कर अपनी मान्यताओं को पूरा किया। बुजुर्ग होली की अग्नि के दर्शन कर अच्छे जमाने का अनुमान लगाते है। होली के दिन परिवार एक साथ बैठकर भोजन करता है। इस दौरान नोलाराम बाजडोलिया, लिखमाराम बाजडोलिया, भंवर बाजडोलिया, राजेन्द्र बाजडोलिया, मुकेश बाजडोलिया, मनीष बाजडोलिया आदि ग्रामीण मौजूद रहे।

इसके बाद अगले दिन घर घर जाकर मिलने की भी परंपरा है। युवा वर्ग ढोल, चंग व डीजे की स्वर लहरियों पर थिरक रहे थे। साथ ही रंग गुलाल लगाकर एक दूसरे को होली की बधाई दी गई।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आज दिन भर व्यस्तता बनी रहेगी। पिछले कुछ समय से आप जिस कार्य को लेकर प्रयासरत थे, उससे संबंधित लाभ प्राप्त होगा। फाइनेंस से संबंधित लिए गए महत्वपूर्ण निर्णय के सकारात्मक परिणाम सामने आएंगे। न...

    और पढ़ें