• Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Nagaur
  • In The Silicosis Care Project, 2418 Patients Were Benefited By Creating A Database On A Digital Platform, Implemented In The State As Well.

नागौर को मिला राष्ट्रीय ई-गवर्नेंस अवॉर्ड:सिलिकोसिस केयर प्रोजेक्ट में 2418 रोगियों का डिजिटल प्लेटफॉर्म पर डाटाबेस तैयार किया, पूरे प्रदेश में लागू होगा मॉडल

नागौर16 दिन पहले
नागौर को मिला राष्ट्रीय ई-गवर्नेंस अवॉर्ड।

‘एक्सीलेंस इन गवर्नमेंट प्रोसेस री-इंजीनियरिंग फॉर डिजिटल ट्रांसफॉरमेशन’ कैटेगरी में नागौर जिले को 24 वें नेशनल ई-गवर्नेंस अवार्ड मिला है। नागौर में ई-गवर्नेंस के तहत संचालित सिलिकोसिस केयर प्रोजेक्ट के लिए ये अवार्ड दिया गया। शुक्रवार को केन्द्रीय मंत्री जितेन्द्रसिंह व तेलंगाना सरकार के मंत्री के.टी. रामाराव ने हैदराबाद में आयोजित राष्ट्रीय कॉन्फ्रेंस में यह अवार्ड जिला कलेक्टर डॉक्टर जितेंद्र कुमार सोनी को दिया गया। यह अवार्ड एक्सीलेंस इन गवर्नमेंट प्रोसेस री-इंजीनियरिंग फॉर डिजिटल ट्रांसफॉरमेशन की सिल्वर कैटेगरी का अवार्ड है।

इस अवार्ड में नागौर जिले को एक लाख रुपये का पुरस्कार किया जाएगा। जिला कलेक्टर जितेंद्र सोनी के नेतृत्व में प्राप्त किया। इस टीम में सूचना एवं प्रौद्योगिकी विभाग के संयुक्त निदेशक योगेश कुमार, खनिज अभियंता धीरज पंवार व सूचना सहायक शिवदयाल बरवड़ शामिल रहे। इससे पहले भी सिलिकोसिस केयर प्रोजेक्ट के लिए गर्वनेंस नॉउ टीम की ओर से राष्ट्रीय स्तर पर डिजिटल ट्रांसफारमेशन इन हेल्थ केयर कैटेगरी में दिए जाना वाला डिजिटल ट्रांसफॉरमेशन अवार्ड-2021 भी नागौर को ही मिला था।

यह है अभियान 'सिलिकोसिस केयर प्रोजेक्ट'
सिलिकोसिस रोग से पीड़ित लोगों को तुरंत सरकार द्वारा प्रदत्त सहायता राशि, पेंशन, पालनहार योजना व खाद्य सुरक्षा का लाभ दिए जाने को लेकर नागौर कलेक्टर जितेन्द्र सोनी की ओर से ‘सिलिकोसिस केयर‘ चलाया गया था। इस अभियान के तहत नागौर जिले में 2058 जीवित सिलिकोसिस मरीजों तथा 360 दिवंगत सिलिकोसिस मरीजों के परिजनों को सरकार द्वारा प्रदत्त विभिन्न योजनाओं का लाभ डिजिटल प्लेटफॉर्म पर एकल प्रारूप में डेटाबेस तैयार कर दिया गया। बाद में इस नवाचार को मॉडल मानते हुए पूरे प्रदेश में अभियान चलाने के निर्देश दिए गए थे।