पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

किसान आंदोलन का असर:इंदौर-जोधपुर चार सालासर व कालका एक्सप्रेस 2 घंटे देरी से पहुंची

नागौर18 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • रेल पटरियों पर किसानों का धरना, जिले से गुजरने वाली एक दर्जन से अधिक ट्रेनें 2 से 4 घंटे लेट हुई
  • डीडवाना, मेड़ता व बालसमंद में दोपहर 12 से 4 बजे तक किसानों का प्रदर्शन, इस दाैरान नहीं चली ट्रेनें

केंद्र सरकार के तीन नए कृषि कानूनों के विरोध में किसानों के देशव्यापी रेल रोको आंदोलन का नागौर में भी असर रहा। जिला मुख्यालय पर रेलवे स्टेशन के पास किसानों ने रेल राेककर विरोध प्रदर्शन किया। हालांकि पुलिस ने समझाइश कर किसानों को हटा दिया।

रेल रोको आंदोलन संयुक्त किसान मोर्चा के आह्वान पर किया गया था। नागौर में रेल रोको आंदोलन के दौरान शांति रही। आंदोलन के दौरान संयुक्त किसान मोर्चा के संयोजक मेहराम नगवाड़िया, रामकरण चौधरी, मेहराम, कार्यकारिणी सदस्य चुनाराम पालियाल, रामप्रसाद डिडेल, प्रेमसुख जाजड़ा व सीताराम गोदारा मौजूद थे।

जिले भर में विरोध जता रहे किसानों ने बताया कि जब तक मोदी व केंद्र सरकार किसानों पर थोपे गए तीनो कृषि बिलों को वापस नहीं लेगी तब तक देशभर में किसानों का यह आंदोलन जारी रहेगा। इसके लिए किसान लंबी लड़ाई लड़ेंगे। किसानों ने बताया कि सरकार का यह फैसला किसानों के खिलाफ है।

कृषि बिल के विरोध में किसानों का आन्दोलन निरंतर जारी है। आन्दोलन के चौथे चरण में किसान नेता भागीरथ यादव के नेतृत्व में टोल नाका बंद करने के बाद गुरुवार को डीडवाना रेलवे स्टेशन पर पटरियों पर बैठकर कानून के विरोध में प्रधानमंत्री के खिलाफ जमकर नारेबाजी की गई।

यादव ने कहा कि इस आन्दोलन के तहत चक्का जाम तो चल ही रहा है और सभी टोलों को फ्री करने का अभियान भी चल रहा है अगर 23 फरवरी तक सरकार नहीं मानी तो सभी टोल नाके फ्री करवा दिए जाएंगे। जिलाध्यक्ष भागीरथ नेतड़ ने कहा कि टोल नाका फ्री करवाने से नागौर जिले के केवल पांच टोल बंद होने पर करीब 1 करोड़ का कलेक्शन जो सीधा किसानों के जेब से जा रहा था।

मेड़ता रोड| संयुक्त किसान मोर्चा के आह्वान पर 18 फरवरी को रेल चक्का जाम को लेकर विभिन्न स्टेशनों पर ट्रेनों को खड़ा कर दिया गया। इस कारण ट्रेनें देरी से पहुंचने से यात्रियों को परेशानी हुई। वहीं मेड़ता रोड में भी किसानों ने ऋषिकेश-बाड़मेर ट्रेन के आगमन पर नारेबाजी करते हुए विरोध जताया।

मेड़ता रोड में ऋषिकेश-बाड़मेर ट्रेन के आगमन समय में रेलवे स्टेशन पर ही किसान नेता सुशील रियाड़, समाजसेवी रामनिवास लटियाल, जसाराम लटियाल, कानाराम आदि ने आकर विरोध प्रदर्शन करते हुए नारेबाजी की। सुरक्षा की दृष्टि से मेड़ता पुलिस उप अधीक्षक विक्रमसिंह भाटी, मेड़ता रोड थानाधिकारी छितर सिंह शेखावत, जीआरपी थानाधिकारी हेमसिंह, आरपीएफ उपनिरीक्षक सोमवीर चौधरी सहित भारी संख्या में पुलिस जाप्ता तैनात रहा। उल्लेखनीय है कि जिले के डीडवाना, मेड़ता रोड व बालसमंद रेलवे स्टेशनों पर किसानों ने प्रदर्शन कर कृषि बिल वापस लेने की मांग की।

1. दिल्ली सराय रोहिल्ला से आकर जोधपुर जाने वाली सालासर एक्सप्रेस को रतनगढ़ में रोकने से तीन घंटे देरी से पहुंची। 2. जोधपुर से दिल्ली सराय रोहिल्ला जाने वाली ट्रेन को डेगाना में ढाई घंटे तक रोक दिया गया। ताकि यात्रियों को दिक्कतें न हो। 3. बाड़मेर-ऋषिकेश को मेड़ता रोड में डेढ़ घंटे तक खड़ी कर दिया गया। 4. ऋषिकेश-बाड़मेर को नोखा में एक घंटे खड़ी कर दिया गया। 5. इसी प्रकार अन्य ट्रेनें इंदौर-जोधपुर चार घंटे, भोपाल-जोधपुर एक घंटे देरी से पहुंची।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आर्थिक दृष्टि से आज का दिन आपके लिए कोई उपलब्धि ला रहा है, उन्हें सफल बनाने के लिए आपको दृढ़ निश्चयी होकर काम करना है। कुछ ज्ञानवर्धक तथा रोचक साहित्य के पठन-पाठन में भी समय व्यतीत होगा। ने...

    और पढ़ें