पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Nagaur
  • Internet Will Be Closed For 12 Hours In 4 Cities Including Nagaur, REET Exam Will Be Held In 2 Shifts On 26th September, 26 Thousand Candidates Registered

85 केंद्रों पर होगी रीट:नागौर सहित 4 शहरों में 12 घंटे बंद रहेगा इंटरनेट, 26 सितंबर को 2 पारियों में होगी रीट परीक्षा, 26 हजार परीक्षार्थी पंजीकृत

नागाैर2 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

अध्यापक पात्रता परीक्षा (रीट) 26 सितम्बर को होगी। प्रदेश में लगभग 4100 परीक्षा केंद्र बनाए गए हैं। इस परीक्षा में रिकॉर्ड लगभग 26 लाख अभ्यर्थी पंजीकृत है। जिला परीक्षा समन्वयक रणजीत पूनिया ने बताया कि जिले में 85 केंद्र बनाए गए हैं। जिला मुख्यालय के 41 केंद्र तो डीडवाना, लाडनूं व कुचामन के 45 केंद्रों पर रीट परीक्षा होगी। 2 पारियों में होने वाली परीक्षा को लेकर नागौर सहित चारों शहर में सुबह 8 से लेकर रात 8 बजे तक इंटरनेट सेवाएं बंद रहेगी। परीक्षा शुरू होने से 2 घंटे पहले और खत्म होने के 2 घंटे बाद तक इंटरनेट बंद रहेगा।

जिले में 10 केंद्र संवेदनशील व अति संवेदनशील बनाए गए है, जहां जैमर और सीसीटीवी भी लगेंगे। दरअसल, बोर्ड अध्यक्ष डीपी जाराेली ने कहा कि रीट परीक्षा एजेंसियों, जिला प्रशासन, पुलिस प्रशासन और शिक्षा विभाग में बेहतर समन्वय से सफल आयोजन संभव है। परीक्षा केंद्रों पर सीसीटीवी कैमरा, जैमर और वीडियोग्राफी की भी व्यवस्था होगी। किसी भी चुनौती से निपटने परीक्षा केंद्रों पर पर्याप्त पुलिस बल तैनात किया जा रहा है।

प्रश्नपत्रों पर विशेष बार कोडिंग, लापरवाही पर निलंबन
प्रश्न पत्र आउट होने जैसी विकराल समस्या से निपटने के लिए विशेष सुरक्षात्मक उपाय किए गए हैं, जिसके तहत प्रश्नपत्रों पर विशेष बार कोडिंग और सीरियल नंबर लगाए गए हैं। व्यवस्थाओं को पुख्ता और चाक-चौबंद किया गया है । राज्य सरकार द्वारा गठित उच्चाधिकार प्राप्त परीक्षा समिति ने निर्णय लिया है रीट परीक्षा में लापरवाही बरतने वाले कार्मिकों को तत्काल निलंबित किया जाएगा।
प्रवेश : एक घंटे पूर्व पहुंचना होगा
केंद्र पर एक घंटा पूर्व पहुंचना होगा। पहली रीट लेवल टू (कक्षा 6 से 8) पहली पारी सुबह 10 बजे से 12.30 बजे तक और एल-1 (पहली से 5वीं) तक परीक्षा दोपहर 2.30 से शाम 6 बजे तक होगी। परीक्षार्थी को प्रवेश पत्र, बॉल पेन, मान्य पहचान पत्र एवं इसकी स्वप्रमाणित फोटो प्रति ले जानी होगी।

निगरानी : 4 केंद्रों पर 1 होगा उडनदस्ता
जिला प्रशासन के स्तर पर प्रत्येक 4 परीक्षा केंद्रों पर 1 उड़नदस्ता तैनात होगा। प्रत्येक केंद्र पर 1 आंतरिक उड़नदस्ता भी कार्य करेगा। जिला स्तर पर जिला परीक्षा संचालन समिति द्वारा और राजस्थान बोर्ड के स्तर पर भी विशेष उड़नदस्ते गठित किए जा रहे हैं, जो नकल पर पूर्णतया अंकुश लगाएंगे।

भास्कर गाइड. टेस्ट सीरिज में कम अंक पर निराश न हाें, स्टडी पर ध्यान दें

रीट की तैयारी में जुटे अभ्यर्थियाें काे हिंदी विषय के विशेषज्ञ संपतसिंह ने बताया कि रीट मेें हिंदी विषय के अवधारणात्मक प्रश्न सीधे-सीधे नहीं आते हैं। इसलिए कक्षा 9वीं से 12वीं की हिंदी व्याकरण में दिए गए गद्यांशाें के शब्दाें काे पहचानकर उनमें से संज्ञा, सर्वनाम, विशेषण, संधि, समास, उपसर्ग और प्रत्यय युक्त शब्दाें काे रेखांकित कर भेद जानने का प्रयास करें।

बाजार में उपलब्ध प्रैक्टिस सेट और टेस्ट सीरिज में अंक कम आने पर धैर्य न खाेएं। सिलेबस से बाहर के बिंदुओं की गफलत में नहीं आएं। काल, लिंग, वचन और वाक्य में से हमेशा सवाल पूछे जाते हैं। इसलिए किसी जटिल बिंदु में उलझने से बेहतर है कि सरल व महत्वपूर्ण बिंदुओं काे तैयार करें।

नए बिंदु राजस्थानी शब्दावली, विराम चिन्हाें काे विशेष महत्व दें। शिक्षण अभिरुचियाें में आदर्श कथन वाले विकल्प काे छांटने की चेष्टा करें न कि मनमाफिक विकल्प चुनें। काव्य साैंदर्य से जुड़े प्रश्नाें में कला पक्ष (छंद, अलंकार, शब्दशक्ति आदि) के अपेक्षा भाव पक्ष काे ज्यादा महत्व दें।

जाे परिभाषाएं याद नहीं हाेती, उनके महत्वपूर्ण शब्दाें काे परिभाषाकार के नाम के साथ ही याद रख लें। भाषा के क्रमिक विकास से जुड़े प्रश्नाें काे पढ़ने में वरीयता दें। पेपर में हिंदी का गद्यांश आता है और उसी में से सभी बिंदु निकालने हाेते हैं। ऐसे में बचे हुए दिनाें में गद्यांशाें का ज्यादा से ज्यादा अभ्यास करना चाहिए।

खबरें और भी हैं...