जयपाल पूनिया मर्डर केस में आंदोलन खत्म:DIG की निगरानी में होगी जांच, MLA चौधरी के भाई सहित अब तक 5 गिरफ्तार

नागौर3 महीने पहले

नमक कारोबारी और हिस्ट्रीशीटर जयपाल पूनिया हत्याकांड को लेकर आंदोलन फिलहाल खत्म हो गया है। पुलिस प्रशासन और पीड़ित पक्ष में सहमति बन गई है। वहीं, मामले को लेकर भाजपा प्रदेश अध्यक्ष सतीश पूनिया के बाद अब नागौर सांसद हनुमान बेनीवाल ने कड़े तेवर दिखाए थे। अपने समर्थकों के साथ बेनीवाल ने जयपुर के लिए कूच किया था। उन्होंने सीएम आवास घेरने की चेतावनी दी थी।

जब उनका काफिला बगरू पहुंचा तो पुलिस-प्रशासन सक्रिय हुआ और सभी पक्षों से बातचीत की। इसमें फौरी तौर पर कई मांगों पर सहमति बनी। पुलिस ने बताया कि हत्या के मामले में कांग्रेस विधायक महेंद्र चौधरी के भाई मोती सिंह चौधरी समेत 5 आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया है। सूत्रों के हवाले से ये जानकारी मिली है कि अब तक की पुलिस जांच में ये तथ्य सामने आये है कि नमक कारोबारी जयपाल पूनिया की हत्या शूटर से करवाई गई थी।

नमक कारोबारी जयपाल पूनिया मर्डर मामले को नमक झील क्षेत्र में वर्चस्व की लड़ाई से जोड़कर देखा जा रहा है। पूर्व भाजपा विधायक विजय सिंह ने हत्या मामले को लेकर धरना देने का एलान किया था।
नमक कारोबारी जयपाल पूनिया मर्डर मामले को नमक झील क्षेत्र में वर्चस्व की लड़ाई से जोड़कर देखा जा रहा है। पूर्व भाजपा विधायक विजय सिंह ने हत्या मामले को लेकर धरना देने का एलान किया था।

इससे पहले बेनीवाल ने नावां (नागौर) SDM बृह्मलाल जाट को जमकर फटकारा। सभा में समझाने पहुंचे SDM को देखते ही बेनीवाल भड़क गए। उन्होंने कहा- इतना बड़ा मर्डर हो गया और तू बैडमिंटन खेलता फिर रहा है। जैसा ब्लड तेरे अंदर है वैसा ही खून इनके अंदर भी है। वो इतने गुस्से में थे कि कोविड काल में सिलेंडर की कालाबाजारी का भी जिक्र कर दिया। बोले- तुम कोविड के दौरान पार्टी पूछ कर सिलेंडर दे रहे थे। सिलेंडर तुम्हारे बाप के थे क्या? इस पर एसडीएम ने कहा- ऐसा कुछ भी मैंने नहीं किया था।

मंगलवार शाम को नागौर सांसद हनुमान बेनीवाल ने समर्थकों के साथ नावां से जयपुर पहुंच गए थे। उनके काफिले को पुलिस ने बगरू के पास रोक लिया था। उधर, नावां में मंगलवार को धरना तीसरे दिन भी चला। प्रशासन ने परिजनों को बॉडी डिस्पोज का नोटिस दिया है।

पूर्व विधायक हरीश कुमावत नावां में धरने पर बैठे हैं। एसडीएम के नोटिस के बाद भरे मंच से बेनीवाल ने SDM-SP पर निशाना साधा और कहा- हिम्मत है तो बॉडी डिस्पोज करके दिखाएं। जब तक मांगें पूरी नहीं होंगी, धरना जारी रहेगा। इसके बाद बेनीवाल ने शाम 5.15 बजे आरएलपी कार्यकर्ताओं व भाजपा नेताओं के साथ जयपुर कूच किया।

कमिश्नर से वार्ता के बाद बनी बात
बगरू के पास महला में जयपुर पुलिस कमिश्नर आनंद श्रीवास्तव, एडिशनल कमिश्नर अजयपाल लांबा , DCP जयपुर ग्रामीण पुलिस अधीक्षक सहित बड़े अधिकारी वार्ता करने पहुंचे। यहां मृतक कारोबारी जयपाल पूनिया के परिजनों के प्रतिनिधि, सांसद बेनीवाल, RLP-BJP के नेता और पुलिस कमिश्नर की वार्ता हुई। वहीं DG से फोन पर समझौता वार्ता हुई।

जयपुर पुलिस कमिश्नर आनंद श्रीवास्तव, सांसद हनुमान बेनीवाल वार्ता करते हुए।
जयपुर पुलिस कमिश्नर आनंद श्रीवास्तव, सांसद हनुमान बेनीवाल वार्ता करते हुए।

पुलिस कमिश्नर श्रीवास्तव ने प्रेस के समक्ष मामले की उच्च स्तरीय जांच के लिए सीआईडी सीबी के डीआईजी राहुल प्रकाश के नेतृत्व में SIT गठन करने व 5 आरोपियों को गिरफ्तार करने की जानकारी दी। इसके बाद सांसद बेनीवाल ने कहा की आंदोलन को समाप्त नहीं किया जा रहा है, केवल स्थगित किया जा रहा है। अगर परिजनों की मंशा के अनुरूप प्रशासन ने कार्रवाई नहीं की तो फिर से आंदोलन शुरू कर दिया जाएगा। वहीं SDM व दोषी पुलिस अधिकारियों को हटाने सहित अन्य मांगों पर सरकार ने सहमति नहीं दी तो RLP व BJP विधायकों का प्रतिनिधिमंडल मुख्यमंत्री से मिलेगा।

मर्डर मामले में इनको किया गिरफ्तार
पुलिस ने मंगलवार रात नावां मर्डर मामले में कांग्रेस विधायक महेंद्र चौधरी के भाई मोती सिंह चौधरी (62) पुत्र हनुमान सिंह निवासी नावां, कुलदीप सिंह (48) पुत्र रतन सिंह निवासी पवेरा तहसील नांगल चौधरी हरियाणा, फिरोज कायमखानी(42) पुत्र भंवरू खां निवासी नावां, हनुमान माली (50) पुत्र किशनाराम निवासी मथानिया और हारून कायमखानी (40) पुत्र गफूर खान निवासी नावां को गिरफ्तार किया गया।

विधायक महेंद्र चौधरी के भाई मोती सिंह चौधरी को गिरफ्तार किया गया है। पुलिस ने इसकी पुष्टि की है। इससे पहले नावां में तीसरे दिन भी धरना चला।
विधायक महेंद्र चौधरी के भाई मोती सिंह चौधरी को गिरफ्तार किया गया है। पुलिस ने इसकी पुष्टि की है। इससे पहले नावां में तीसरे दिन भी धरना चला।

इससे पहले सोमवार रात से BJP के पूर्व MLA हरीश कुमावत अनिश्चितकालीन अनशन पर हैं। नावां नगरपालिका के 10 BJP पार्षद भी एक दिन के लिए अनशन पर बैठ रहे। वहीं जनसभा में पहुंचे RLP प्रमुख ने कहा- मैं कहना चाहता हूं कि हम कानून व्यवस्था बिगाड़ना नहीं चाहते हैं। कोई चुनौती देगा तो हम सड़कों पर संघर्ष करने के लिए तैयार हैं। अब आर-पार की लड़ाई होगी। आज ये तय कर लेंगे कि अब आगे रेलवे ट्रैक पे जाएंगे या हाईवे पर जाएंगे।

RLP सुप्रीमो और नागौर सांसद हनुमान बेनीवाल ने कहा- आज तय कर लेंगे कि इस सभा के बाद अब आगे रेलवे ट्रैक पर जाएंगे या हाईवे पर।
RLP सुप्रीमो और नागौर सांसद हनुमान बेनीवाल ने कहा- आज तय कर लेंगे कि इस सभा के बाद अब आगे रेलवे ट्रैक पर जाएंगे या हाईवे पर।

MLA पर आरोप
RLP प्रमुख बेनीवाल ने कहा- MLA महेंद्र चौधरी के इशारे पर कारोबारी जयपाल पूनिया के मर्डर को अंजाम दिया गया है। CBI जांच से ही महेंद्र चौधरी जेल जाएगा। राजस्थान की कोई भी एजेंसी MLA के मामले की निष्पक्ष जांच नहीं कर सकती और न ही उसे पकड़ सकती है। हाल ही में एक MLA को CM अशोक गहलोत ने अपने घर बुलाकर सरेंडर करवाया था, जैसे उसने कोई बहुत बड़ा काम किया हो।

शव के खराब होने का हवाला
इससे पहले नावां SDM बृह्मलाल जाट ने मंगलवार दोपहर में मृतक जयपाल पूनिया के भाई विजय सिंह पूनिया के नाम शव के खराब होने का हवाला देते हुए पोस्टमॉर्टम करवाने और शव के अंतिम संस्कार करवाने का नोटिस दिया था। पुलिस से तामील करवाए गए इस नोटिस को विजय सिंह व अन्य परिजनों ने लेने से मना कर दिया। पुलिस ने मृतक कारोबारी के भाई कृष्ण पूनिया के घर के बाहर नोटिस चस्पा कर दिया है। नोटिस में लिखा गया है कि 17 मई को सुबह 10 बजे तक पोस्टमॉर्टम करवाकर शव का अंतिम संस्कार करवाएं, नहीं तो आपके खिलाफ एक पक्षीय कार्रवाई की जाएगी।

SDM बृह्मलाल जाट ने शव के खराब होने का हवाला देते हुए पोस्टमॉर्टम करवाने और शव के अंतिम संस्कार करवाने का नोटिस दिया है।
SDM बृह्मलाल जाट ने शव के खराब होने का हवाला देते हुए पोस्टमॉर्टम करवाने और शव के अंतिम संस्कार करवाने का नोटिस दिया है।

परिजनों का कहना है कि जब तक नामजद आरोपियों की गिरफ्तारी नहीं होगी वे शव का पोस्टमॉर्टम नहीं होने देंगे। SP राममूर्ति जोशी ने कहा है कि मामले में अभी बयान, नक्शा मौका और पोस्टमॉर्टम ही नहीं हो पाया है। इसके बाद ही आगे की कार्रवाई हो सकती है। पुलिस इसके लिए लगातार परिजनों के संपर्क में है।

7 मांगों को लेकर BJP के पूर्व MLA हरीश कुमावत अनशन पर बैठ गए हैं।
7 मांगों को लेकर BJP के पूर्व MLA हरीश कुमावत अनशन पर बैठ गए हैं।

BJP के वयोवृद्ध नेता, पूर्व MLA और वर्तमान में कुचामन नगरपालिका के पार्षद हरीश कुमावत ने BJP नेता और नमक कारोबारी पूनिया की हत्या के विरोध में 7 सूत्री मांगों को लेकर अनशन शुरू कर दिया है। कुमावत ने बताया कि जब तक प्रशासन उनकी सभी मांगें नहीं मान लेता तब तक वो अनशन पर रहेंगे। 79 साल के हरीश कुमावत 9 बार नागौर बीजेपी के जिलाध्यक्ष, 4 बार MLA, दो बार कुचामन नगरपालिका चेयरमैन और 2 बार शिल्प एवं माटी कला बोर्ड के चेयरमैन भी रह चुके हैं।

नावां में MLA चौधरी की सांकेतिक शवयात्रा निकाली:सांसद बेनीवाल बोले- MLA को जेल से कोई नहीं बचा सकता

नावां में धरने पर सतीश पूनिया:BJP प्रदेश अध्यक्ष बोले- 24 घंटे में अपराधी नहीं पकड़े तो प्रदेशव्यापी आंदोलन होगा