पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Nagaur
  • Medical Kits Handed Over To More Than 87 Thousand Cough, Cold And Fever Patients Sitting At Home In Four Phases So Far; 42 Thousand 376 Sent To The Hospital For Treatment

नागौर जिले में घर-घर सर्वे अभियान:चार चरणों में अब तक 87 हजार से अधिक खांसी, जुकाम एवं बुखार के मरीजों को घर बैठे सौंपे मेडिकल किट; 42 हजार 376 को इलाज के लिए भेजा अस्पताल

नागौर5 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

जिला प्रशासन की ओर से चलाये जा रहे घर-घर सर्वे अभियान के तहत जिले में अभी चौथा चरण चल रहा है। CMHO कार्यालय से मिले आंकड़ों के मुताबिक अभियान में 10 जून तक चार चरणों में जिले के लोगों का स्वास्थ्य जांच कर 86 हजार से अधिक बुखार, जुकाम एवं खांसी के मरीजों को घर बैठे मेडिकल किट सौंप कर उपचार सुलभ करवाया गया है।

कोरोना संक्रमण की चेन तोड़ने तथा मरीजों को प्राथमिक स्तर पर ही चिन्हित करके उपचार सुलभ कराने के लिए घर-घर सर्वे अभियान 4 चरणों में चलाया जा रहा है। इंसीडेंट कमाण्डर की देखरेख में गठित दलों की ओर से प्रत्येक घर पर पहुंच कर खांसी, जुकाम एवं बुखार से पीड़ित मरीजों का चिह्नीकरण किया जा रहा है। इन मरीजों को मौके पर ही दवा वितरण करने के साथ ही घर पर ही रहने के लिए पाबंद किया जा रहा है । मरीजों के परिजनों को भी मरीज के स्वस्थ होने तक घर पर ही रहने के लिए समझाइश की जा रही है।

पहला चरण : एक नजर
अभियान के तहत पहले चरण में 26 अप्रैल से लेकर 6 मई तक जिले के शहरी क्षेत्रों में चिकित्सा विभाग की जांच टीमों ने 164587 घरों में सर्वे कर 372205 लोगों का स्वास्थ्य जांचा। इनमें से 7473 व्यक्तियों में कोरोना से संबंधित लक्षण पाए गए, जिनमें से 6633 लोगों को मौके पर ही मेडिकल किट सौंपे गए। वहीं 11078 लोगों को चिकित्सा विभाग की टीम द्वारा क्वारैंटाइन होने की सलाह दी गई और 3969 लोगों को तुरंत ही अस्पताल में चिकित्सकीय सलाह का परामर्श लेने को कहा गया।

इसी प्रकार अभियान के तहत पहले चरण में 26 अप्रैल से लेकर 6 मई तक जिले के ग्रामीण क्षेत्रों में चिकित्सा विभाग की जांच टीमों ने 699288 घरों में सर्वे कर 3407401 लोगों का स्वास्थ्य जांचा। इनमें से 31480 व्यक्तियों में कोरोना से संबंधित लक्षण पाए गए, जिनमें से 30355 लोगों को मौके पर ही मेडिकल किट सौंपे गए। वहीं 24496 लोगों को चिकित्सा विभाग की टीम द्वारा क्वारैंटाइन होने की सलाह दी गई और 23952 लोगों को तुरंत ही अस्पताल में चिकित्सकीय सलाह का परामर्श लेने को कहा गया।

द्वितीय चरण : एक नजर
अभियान के तहत द्वितीय चरण में 10 मई से लेकर 24 मई तक जिले के शहरी क्षेत्रों में चिकित्सा विभाग की जांच टीमों ने 78334 घरों में सर्वे कर 457894 लोगों का स्वास्थ्य जांचा। इनमें से 2809 व्यक्तियों में कोरोना से संबंधित लक्षण पाए गए व 3680 लोगों को मौके पर ही मेडिकल किट सौंपे गए। वहीं 2100 लोगों को चिकित्सा विभाग की टीम द्वारा क्वारैंटाइन होने की सलाह दी गई और 1723 लोगों को तुरंत ही अस्पताल में चिकित्सकीय सलाह के लिए रैफर किया गया। द्वितीय चरण के तहत अभी भी सर्वे कार्य चल रहा है।

इसी प्रकार अभियान के तहत द्वितीय चरण में 10 मई से लेकर 24 मई तक जिले के ग्रामीण क्षेत्रों में चिकित्सा विभाग की जांच टीमों ने 662638 घरों में सर्वे कर 3420112 लोगों का स्वास्थ्य जांचा। इनमें से 30676 व्यक्तियों में कोरोना से संबंधित लक्षण पाए गए, जिनमें से 33102 लोगों को मौके पर ही मेडिकल किट सौंपे गए। वहीं 58050 लोगों को चिकित्सा विभाग की टीम द्वारा क्वारैंटाइन होने की सलाह दी गई और 8906 लोगों को तुरंत ही अस्पताल में चिकित्सकीय सलाह के लिए रैफर किया गया। द्वितीय चरण के तहत अभी भी सर्वे कार्य चल रहा है।

तृतीय चरण : एक नजर
अभियान के तहत तीसरे चरण में 25 मई से लेकर 8 जून तक चिकित्सा विभाग की जांच टीमों ने जिले के शहरी व ग्रामीण क्षेत्र दोनों को मिलाकर 670430 घरों में सर्वे कर 3484701 लोगों का स्वास्थ्य जांचा। इनमें से 13180 व्यक्तियों में कोरोना से संबंधित लक्षण पाए गए व 13320 लोगों को मौके पर ही मेडिकल किट सौंपे गए। वहीं 37937 लोगों को चिकित्सा विभाग की टीम द्वारा क्वारैंटाइन होने की सलाह दी गई और 3708 लोगों को तुरंत ही अस्पताल में चिकित्सकीय सलाह के लिए रैफर किया गया।

चतुर्थ चरण : एक नजर
अभियान के तहत चतुर्थ चरण में 9 जून से लेकर 10 जून तक चिकित्सा विभाग की जांच टीमों ने जिले के शहरी व ग्रामीण क्षेत्र दोनों को मिलाकर 56280 घरों में सर्वे कर 283389 लोगों का स्वास्थ्य जांचा। इनमें से 616 व्यक्तियों में कोरोना से संबंधित लक्षण पाए गए व 617 लोगों को मौके पर ही मेडिकल किट सौंपे गए। वहीं 354 लोगों को चिकित्सा विभाग की टीम द्वारा क्वारैंटाइन होने की सलाह दी गई और 118 लोगों को तुरंत ही अस्पताल में चिकित्सकीय सलाह के लिए रैफर किया गया। चतुर्थ चरण के तहत अभी भी सर्वे कार्य चल रहा है।

खबरें और भी हैं...