• Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Nagaur
  • Military Discipline And Agility Made Kamlesh The Main Raider Of The U Mumba Team, Said I Handle The Pressure With Fun And Jokes

प्रो-कबड्‌डी लीग का सबसे लंबा खिलाड़ी राजस्थान का:बुजुर्गों को कबड्डी खेलते देख जागा जुनून, अब यू-मुम्बा का स्टार प्लेयर है यह सेना का जवान

नागौर8 महीने पहलेलेखक: मनीष व्यास
कमलेश झुंझाड़िया।

22 दिसंबर से प्रो-कबड्‌डी लीग का आठवां सीजन शुरू होगा। इसके सबसे बड़े आकर्षण होंगे सबसे लंबी हाइट के खिलाड़ी कमलेश झुंझाड़िया। ये नागौर जिले के जालसू खु्र्द के रहने वाले हैं। गांव की मिट्टी से कबड्डी को जुनून बनाने वाले कमलेश बेहतरीन रेडर के साथ-साथ भारतीय सेना के जवान भी हैं। यू-मुंबा टीम के साथी उन्हें कबड्‌डी का 'एबी डीविलियर्स' पुकारते हैं। कमलेश की हाइट 6 फुट 4 इंच है, जो प्रो-कबड्‌डी लीग 2021 के सबसे लंबे खिलाड़ी हैं। मजबूत कद5 काठी और कबड्डी के पाले में उनके 360 डिग्री मूव्स हर किसी को हैरत में डाल देते हैं।

यू मुंबा के मेन रेडर कमलेश ने दैनिक भास्कर के साथ अपने इस सफर के कई किस्से शेयर किए। उनके कबड्‌डी खेलने का सफर रोमांच से भरा है। कमलेश ने कहा कि वे जब अपना पहला मैच खेलें तो उनके माता-पिता और बड़े भाई वहां मौजूद रहें। उनके सामने वे खुद को खेलते देखना चाहते हैं।

यू मुम्बा टीम के साथ कमलेश झुंझाड़िया (दाएं से तीसरे)।
यू मुम्बा टीम के साथ कमलेश झुंझाड़िया (दाएं से तीसरे)।

बच्चे से बुजुर्ग सब कबड्ड़ी के दीवाने
कमलेश बताते हैं कि उनके गांव जालसू खुर्द में 8 साल के बच्चे से लेकर बुजुर्ग भी कबड्डी के दीवाने हैं। जालसू खुर्द से एक किलोमीटर आगे गुढ़ा की ढाणी में तो लड़के क्या, लड़कियां और यहां तक कि गांव की बहुएं भी कबड्डी में हाथ आजमाती हैं। खेल कोटे से मिलने वाली सरकारी नौकरी को लेकर युवाओं में इसका जबरदस्त क्रेज है। बचपन में गांव के लोगों को खेलते देखता था। घर पर बड़े भाई भी कबड्‌डी खेलते थे। जीतने के बाद कबड्डी प्लेयर को बहुत इज्जत मिलती है। इसी सम्मान को पाने के लिए खेलना शुरू किया। अभ्यास होता रहा और कबड्‌डी का खेल जीवनशैली का हिस्सा बन गया।

नागौर के गांव जालसू खुर्द में कबड्डी के मैच का दृश्य। यहां गांव की लड़कियां और बहुएं भी इस खेल में पूरी रुचि रखती हैं।
नागौर के गांव जालसू खुर्द में कबड्डी के मैच का दृश्य। यहां गांव की लड़कियां और बहुएं भी इस खेल में पूरी रुचि रखती हैं।

कबड्डी से ही मिली सेना में नौकरी
26 साल के कमलेश ने बताया कि उनके पिता भैरूराम झुंझाड़िया और माता बाऊ देवी गांव में ही रहते हैं। पिता पहले गुजरात में रोलिंग मिल में ठेकेदार थे। उसके बाद एक बार जालसू खुर्द सरपंच भी बने। प्राइमरी से आठवीं तक की पढ़ाई डेगाना में की। कबड्डी को लेकर अलग ही जुनून रहता था। घरवालों ने तैयारी के लिए 3 साल पहले गुजरात की साईं कबड्डी एकेडमी में भेजा। वहां उनका खेल प्रकोष्ठ से आर्मी में सिलेक्शन हो गया। इसके बाद आर्मी से प्रो-कबड्‌डी के लिए आवेदन किया तो यू मुम्बा ने 8 लाख की बोली लगाकर उन्हें मौका दिया।

एकेडमी में कबड्डी की प्रैक्टिस के दौरान कमलेश झुंझाड़िया।
एकेडमी में कबड्डी की प्रैक्टिस के दौरान कमलेश झुंझाड़िया।

प्रेशर को मस्ती-मजाक से करता हूं हैंडल
कमलेश ने बताया कि खेल के दौरान प्रेशर आने पर वो टीम मेट्स से मस्ती-मजाक शुरू कर अपना लोड काम करते हैं। एक-दूसरे को चिढ़ाकर और मोटिवेट कर खुद का प्रेशर भी हल्का कर लेते हैं। हर समय अपना माइंड कूल रखने की ही कोशिश करते हैं। फ्री टाइम में लगातार ज्यादा से ज्यादा प्रैक्टिस करता रहता हूं। मैच शुरू होने से पहले ही प्लानिंग रहती है कि पॉइंट्स कहां से और कैसे मिलेंगे।

वीकनेस पर कर रहा हूं काम, ट्रेनिंग में घी और मिठाई छूटा
कमलेश ने बताया कि ट्रेनिंग के दौरान वो लगातार अपने वीकनेस पर काम कर रहे है और स्ट्रेंथ को और मजबूत करने में जुटे है। उन्होंने बताया कि ट्रेनिंग में घी और मिठाई सहित खाने-पीने के कई शौक छोड़ने पड़े हैं। इसके चलते उनमे काफी इम्प्रूवमेंट भी आया है। उन्होंने पटना पाइरेट्स के संदीप नरवाल को अपना फेवरेट एथलीट बताया।

फिटनेस के लिए कमलेश झुंझाड़िया ने कड़ी मेहनत की है। आज अपने 360 मूव्स से वे सामने की टीम को हैरान कर देते हैं।
फिटनेस के लिए कमलेश झुंझाड़िया ने कड़ी मेहनत की है। आज अपने 360 मूव्स से वे सामने की टीम को हैरान कर देते हैं।

प्रो-कबड्‌डी से कबड्‌डी का फ्यूचर ही बदल गया है। कबड्‌डी खिलाड़ियों को पैसा मिलने लगा और बड़ी कंपनियां भी प्लेयर को हायर कर रही हैं। ब्रांडिंग कराती हैं। कबड्‌डी खिलाड़ी को मान, सम्मान भी मिलने लगा है। मिट्‌टी का खेल अब एसी हॉल के मैट तक आ पहुंचा है। टिकट लेकर लोग कबड्‌डी देखते हैं। देश में क्रिकेट के बाद सबसे ज्यादा TRP कबड्‌डी की होती है।

खबरें और भी हैं...