नमक कारोबारी पुनिया की पत्नी बोली:MLA चौधरी ने ही करवाया मर्डर, उसे जेल से पहले नहीं मिलेगी शांति

नागौर3 महीने पहले
मृतक नमक कारोबारी और भाजपा नेता जयपाल पूनिया की पत्नी सरिता पूनिया। - Dainik Bhaskar
मृतक नमक कारोबारी और भाजपा नेता जयपाल पूनिया की पत्नी सरिता पूनिया।

नमक कारोबारी और भाजपा नेता जयपाल पूनिया हत्याकाण्ड के बाद गुरुवार को पैतृक गांव गागड़वास में अंतिम संस्कार के बाद उसकी पत्नी सरिता की ने मामले की CBI जांच की मांग दोहराई है। सरिता ने न्याय को लेकर गुहार लगाते हुए कहा कि नावां MLA महेन्द्र चौधरी व उनके भाई मोतीसिंह चौधरी ने उनके पति जयपाल पूनिया की हत्या करवाई है। अब इस मामले में MLA महेन्द्र चौधरी को जेल हो और CBI से मामले की जांच हो। इसके साथ ही सभी आरोपी पकडे जाए, तभी उसे न्याय मिल सकता है। जब तक MLA चौधरी को जेल नहीं होगी मुझे शांति नहीं मिलेगी।

गौरतलब है कि जयपाल पूनिया की हत्या करवाने के आरोप में विधायक चौधरी के भाई मोतीसिंह चौधरी सहित अन्य पांच आरोपियों को पुलिस की ओर से गिरफ्तार कर लिया गया है। लेकिन हरियाणा से नावां आकर इस हत्याकांड को अंजाम देने वाले शूटर अभी भी पुलिस की पहुंच से दूर है। मर्डर को लगभग 6 दिन बीत जाने के बाद भी शूटर अभी खुले में घूम रहे है। मृतक पूनिया के परिजनों ने भी विधायक चौधरी सहित शूटर व अन्य आरोपियों को गिरफ्तार करने की मांग की है।

वहीं नागौर SP राममूर्ति नावां बताया कि मर्डर के तुरंत बाद मास्टरमाइंड मोती सिंह सहित 5 आरोपियों को हिरासत में ले लिया था। इस केस में शूटर्स सहित फरार आरोपियों को भी जल्दी ही पकड़ लेंगे। पुलिस टीमें उनकी तलाश में लगातार दबिशे दे रही है। शूटर से करवाई थी हत्या अब तक हुई पुलिस जांच में सामने आया है कि नमक कारोबारी और भाजपा नेता जयपाल पूनियां का मर्डर हरियाणा से शूटर बुलाकर करवाया गया। इस मर्डर की साजिश काफी पहले से रची जा रही थी। वहीं मुख्य आरोपी मोती सिंह ने अपने 11 साथियों के साथ मिलकर कारोबारी जयपाल पूनिया की रेकी भी की। फायरिंग के बाद जब पूनिया को जयपुर रेफर किया गया, तो भी मोती सिंह ने उसका पीछा किया था। वह जानना चाह रहा था कि जयपाल जिंदा है या फिर मर गया।

पुलिस जांच में इन बातों के सामने आने के बाद मंगलवार देर रात MLA महेंद्र चौधरी के भाई मोती सिंह चौधरी (62) पुत्र हनुमान सिंह निवासी नावां, MLA महेंद्र चौधरी के बहनोई के भाई कुलदीप सिंह (48) पुत्र रतन सिंह निवासी पवेरा तहसील नांगल चौधरी हरियाणा, फिरोज कायमखानी(42) पुत्र भंवरू खां निवासी नावां, हनुमान माली (50) पुत्र किशनाराम निवासी मथानिया और हारून कायमखानी (40) पुत्र गफूर खान निवासी नावां को गिरफ्तार कर लिया गया था। फिलहाल पांचों आरोपी 22 मई तक पुलिस रिमांड पर चल रहे है।