• Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Nagaur
  • Naga Sadhus And Saints Of The Country Will March As Soon As The Lockdown Opens To Protest The Killing Of Saints In Bulandshahr In UP

ऐलान:यूपी के बुलंदशहर में फिर हुई संतों की हत्या के विरोध में लाॅकडाउन खुलते ही कूच करेंगें देश के नागा साधु व संत

नागौर3 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक

पालघर में हुई घटना में महंत कल्प वृक्ष गिरी महाराज, संत सुशील गिरी महाराज तथा उनके ड्राइवर नीलेश तेलगड़ सामूहिक हत्या की गई। अमर हुई महान आत्माओं को याद करते हुए गो चिकित्सालय में मंगलवार को श्रद्धांजलि कार्यक्रम आयोजन किया गया। गो चिकित्सालय व्यवस्थापक श्रवण बिश्नोई ने बताया कि पालघर में संतों व उनके चालक की सामूहिक हत्या के बाद अब संतों की सबसे बड़ी संस्था अखाड़ा परिषद ने 28 अप्रैल को देश व्यापी कार्यक्रमों की घोषणा की। इस दिन आद्य शंकराचार्य, संत सूरदास तथा रामानुजाचार्य की जयंती है। व्यवस्थापक ने बताया कि उत्तरप्रदेश बुलंदशहर के अनूपशहर कोतवाली के गांव पगोना में स्थित शिव मंदिर में साधु जगनदास महाराज, संत सेवादास महाराज की सोमवार रात धारदार हथियारों से हत्या कर दी गई।

अखाड़ा परिषद ने आह्वान किया कि मंगलवार को अपने घरों में ही रहकर पारिवारिक सत्संग कर पालघर की अमर हुतात्माओं के लिए एक दीप जलाकर उन्हें श्रद्धांजलि दें। साथ ही देश में लॉकडाउन खत्म होने के बाद अखाड़ा परिषद पंच दश नाम जुना अखाड़ा सहित सभी अखाड़े व देश के संत के नागा साधुओं द्वारा पुरे देश में राष्ट्रव्यापी द्वारा उग्र प्रदर्शन किया जाएगा। जिसमें हिंदुत्व वादी संगठनों व देश के लाखों भक्तों का सहयोग रहेगा। इसी प्रकार राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद से इस घटना की निष्पक्ष जांच करवाने, हत्यारों को कड़ी सजा होने तथा लापरवाही पुलिसकर्मी को निलंबित करवाने की मांग की। इसी प्रकार विश्व हिंदू परिषद जिला मंत्री पुखराज सांखला ने बताया कि 16 अप्रैल को पंचदशनाम जूना अखाड़े के बृच्छगिरी, सुशीलगिरी व अपने ड्राईवर को महंत रामगिरी की अकस्मात मृत्यु के कारण मुंबई से गुजरात जा रहे थे। जिला पालघर थाना कासा क्षेत्र के गढ़ चिंचले गांव के पास लॉकडाउन के बावजूद बीच रास्त में गाड़ी को रोक पुलिस की मौजूदगी में संतों की निर्मम हत्या कर दी गई। जिसकी विश्व हिंदू परिषद प्रांत इस घटना की निंदा करता है। जिला मंत्री पुखराज सांखला ने राष्ट्रपति को ज्ञापन देते हुए संपूर्ण घटनाक्रम की निष्पक्ष केंद्रीय जांच कर दोषियों को गिरफ्तार करने व दोषी पुलिसकर्मियों को निलंबित करने की मांग की।

खबरें और भी हैं...