कीचड़ से गुजरे विद्यार्थी:45 मिनट मूसलाधार बारिश में नालियां ओवरफ्लो रोल में पानी निकासी नहीं

नागौर11 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

कस्बे सहित आस-पास के गांवों में शुक्रवार की दोपहर के बाद अचानक मौसम में परिवर्तन होने के साथ ही बरसात का दौर शुरू हो गया। इस कारण अचानक एक बार फिर तेज ठंड हो गई है। वहीं दूसरी ओर जीरा, इस्बगोल की फसलों को भी नुकसान की आशंका को लेकर किसानों की चिंता को बढ़ा दी। बड़ी खाटू| बड़ी खाटू कस्बे सहित क्षेत्र में शुक्रवार शाम को तेज बरसात हुई। पहले दो दिन बूंदाबांदी होने कारण ठंड बढ़ गई थी। अब बरसात होने से देर शाम को शीत लहर शुरू हो गई। देर शाम को फिर बरसात शुरू हो गई। कस्बे सहित आसपास के क्षेत्र में लगातार तीन दिन से बारिश का दौर चल रहा है। एक और रबी की फसल के लिए बारिश वरदान साबित हो रही है वहीं दूसरी ओर बारिश के बाद सर्दी जुकाम खांसी के मरीज बढ़े हैं। अस्पतालों में मरीजों की संख्या में इजाफा हुआ है आउटडोर के मरीज बड़े है। कस्बे में शुक्रवार को दिन भर बादलों की आवाजाही रही लेकिन शाम को फिर बारिश का दौर शुरू हो गया जो कभी रुक कर तो कभी तेज हवा के साथ चला। क्षेत्र में शुक्रवार को दोपहर को बारिश होने से सर्दी का प्रकोप बढ़ गया है। सुबह एक बार धूप निकली मगर बाद में मौसम ने करवट बदली और दोपहर को बारिश हुई। इस प्रकार बारिश होने से सर्दी बढ़ने के साथ ही सभी का जनजीवन प्रभावित हुआ। लोग ऊनी वस्त्रों में दुबके नजर आए। किसान वर्ग बारिश को फसलों के लिए फायदेमंद बता रहे हैं। वहीं स्कूल की छात्राओं को बारिश के बाद फैले कीचड़ से गुरजना पड़ा। जिस कारण से परेशानी हुई।

खबरें और भी हैं...