रिलीव का आदेश नहीं:सरकारी आदेश के बाद भी रिलीव नहीं, जताया विरोध

नागौरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

पांचौड़ी सीएचसी में कार्यरत डॉ. मतीन मोहम्मद की प्रतिनियुक्ति के आदेश 2 महीने पहले सीएमएचओ द्वारा कैंसिल कर उन्हें उनके मूल स्थानांतरण पर लगाने का आदेश दिया, लेकिन आज भी डॉ. मतीन पांचौड़ी में कार्यरत है। सीएमएचओ ने आदेश के बाद भी बीसीएमओ ने उनको रिलीव का आदेश नहीं दिया। जबकि राज्य सरकार के आदेश है कि सभी डॉक्टरों की प्रति नियुक्तियां रद्द कर उन्हें मूल स्थानांतरण पर किया जाए। इस मामले में जब प्रभारी राज्यमंत्री राजेंद्र सिंह यादव खींवसर पहुंचे तो पांचौड़ी के लोगों ने मिलकर उन्हें ज्ञापन भी दिया। लोगों का कहना है राज्य सरकार द्वारा प्रतिनियुक्ति रद्द आदेश होने के बावजूद भी खुलेआम सरकारी आदेश की धज्जियां उड़ रही हैं। सीएचसी पांचौड़ी पर स्थाई आयुष चिकित्सक की पोस्टिंग होने के बावजूद भी प्रतिनियुक्ति पर डॉक्टर मोहम्मद मतीन को रिलीव नहीं किया जा रहा है और सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पांचौड़ी पर एक ही आयुष चिकित्सक की पोस्टिंग है एक पोस्टिंग पर दो डॉक्टर वर्तमान में कार्यरत हैं। इस मामले में बीसीएमओ डॉ. राजेश बुगासरा ने बताया कि आयुष की कोई पोस्ट नहीं है। सब संविदा कर्मी है तथा पांचौड़ी सीएचसी में कन्वर्ट हो गई है। वहां परमानेंट एमओ है नहीं। पहले डॉ. रवींद्र थे उनका ट्रांसफर हो गया। अभी वहां डेपुटेशन पर लगाया है। जब तक कोई परमानेंट नहीं आ जाता तब तक डॉ मोहम्मद मतीन यहां रखा जाएगा, फिर रिमूव कर दिया जाएगा।

खबरें और भी हैं...