सम्मान समारोह:पद्मश्री भांभू के पद चिन्हों पर चलने से ही बचेगा

नागौर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

नगर परिषद परिषद कार्यालय में बुधवार को सम्मान समारोह में पद्मश्री हिम्मताराम भांभू का सभापति मीतू बोथरा ने माला का गुच्छा भेंटकर स्वागत किया। वहीं उपसभापति सदाकत अली ने भी माला पहनाई।

पार्षद भजन सिंह ने बताया कि पद्मश्री हिम्मताराम भांभू ने आज लाखों पौधे लगाकर पेड़ बना दिया, उसी के बदौलत इनको पद्मश्री का सबसे बड़ा सम्मान मिला है, जो नागौर का गौरव है। भांभू हमेशा ही मूक बधिर जानवरों की सेवा करते रहते हैं। इस अवसर पर पार्षद ओम प्रकाश सांखला ने बताया कि इन्हीं की प्रेरणा से हमने करणी कॉलोनी में श्मशान घाट व स्कूलों में पौधरोपण किया। पार्षद गोविंद कड़वा ने बताया कि सभी को पद्मश्री भांभू के पद चिन्हों पर चलने की कोशिश करनी चाहिए, ताकि पर्यावरण को बचाया जा सकें। पार्षद नवरत्न बोथरा ने बताया कि पेड़ पौधे लगाकर शहर का सौंदर्यीकरण किया जाना चाहिए। वहीं इस अवसर पर पद्मश्री भांभू ने बताया कि 1975 में उन्हांेने अपनी दादी के हाथ से एक पीपल का पौधा लगाकर पौधरोपण का कार्य शुरू किया था, आज साढ़े 3 लाख से ज्यादा पौधे पेड़ बन चुके हैं। उन्होंने 36 बीघा खेत में पौधे लगाकर जंगल में तब्दील किया। वन्य शिकारियों के विरुद्ध 28 केस खुद लड़ चुके हैं। उन्होंने कहा कि सभी को अधिक से अधिक पौधे लगाने होंगे, तभी हमें ऑक्सीजन मिलेगी। साथ ही ओजोन परत की सुरक्षा हो सकेगी। इस अवसर पर लूणकरण जांगिड़, ओम प्रकाश सांखला, रामप्रसाद भाटी, ओमप्रकाश मेघवाल सहित बड़ी संख्या में पार्षद मौजूद रहे।

खबरें और भी हैं...