जैन कैलेंडर का विमोचन:वर्ष 2022 के पद्मोदय जैन कैलेंडर का हुआ विमोचन

नागौर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

शहर में रावत जैन युवा मंच की ओर से वर्ष 2022 के पद्मोदय जैन कैलेंडर का विमोचन बुधवार को किया गया। श्वेतांबर स्थानकवासी जयमल जैन श्रावक संघ के मंत्री हरकचंद ललवानी व रावत जैन युवा मंच के संयोजक संजय पींचा व सदस्य पूनमचंद बैद ने कैलेंडर का विमोचन किया।

गौरतलब है कि पिछले कई वर्षों से शहरवासियों को रावत जैन युवा मंच की ओर से लागत मूल्य में पद्मोदय जैन कैलेंडर उपलब्ध करवाया जा रहा है। वर्तमान में जेपीपी जैन प्रकाशन चेन्नई की ओर से प्रकाशित पद्मोदय जैन कैलेंडर विश्व का सर्वप्रथम जैन कैलेंडर है। इस कैलेंडर को सन् 1984 में जोधपुर निवासी पदमचंद कांकरिया ने प्रारंभ किया था। पदमचंद कांकरिया वर्तमान में जयगच्छीय जैन संत डॉ. पदमचंद्र महाराज है।

5 वर्ष में ही कैलेंडर अत्यधिक लोकप्रिय हो गया था। सन् 1984 से कैलेंडर नियमित प्रकाशित किया जा रहा है। विश्वभर में इस जैन कैलेंडर को पसंद किया जाता है। देश-विदेशों में इस कैलेंडर की मांग रहती है। वहीं, लगभग हर जैन निवास पर इस कैलेंडर को देखा जा सकता है। युवा मंच की ओर से लागत मूल्य में उपलब्ध करवाया जा रहा पद्मोदय जैन कैलेंडर नागौर में विभिन्न जगहों से प्राप्त किया जा सकता है। किले की ढाल स्थित विजय जनरल एण्ड प्रोविजन स्टोर, गुजरातियों की पोल के बाहर स्थित मोहन मस्ताना पतंगवाला व लोढ़ा की चौक स्थित करणी गृह उद्योग में कैलेंडर उपलब्ध है।

वहीं, कैलेंडर को गुजरात के सूरत में रिंग रोड़ स्थित अजंता शॉपिंग सेंटर से भी प्राप्त किया जा सकता है। नागौर में समय पर कैलेंडर वितरण करने में जयमल जैन श्रावक संघ व रावत जैन युवा मंच के कार्यकर्ताओं का सहयोग रहता है। संघ व युवा मंच के प्रदीप बोहरा, सुरेंद्र बांगाणी, संजय पींचा, जितेंद्र नाहर, जितेंद्र चौरड़िया, हरकचंद नाहर, पूनमचंद बैद, रूपेश पींचा, प्रकाशचंद बोहरा, महावीरचंद भूरट, गौतमचंद सुराणा, हरकचंद ललवानी, किशोरचंद ललवानी, नरपतचंद ललवानी व सूरत में विमलेश तातेड़ और प्रेमचंद सकलेचा कैलेंडर वितरण की महत्वपूर्ण भूमिका निभाते है।

खबरें और भी हैं...