• Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Nagaur
  • Presentations Given In Sham e Ghazal, Vocals Of Famous Singer Diwakar Mixed In The Cold, Many Listeners Were Also Present

मिर्धा कॉलेज के आडिटोरियम में शाम-ए-गज़ल आयोजित:शाम-ए-ग़ज़ल में दी प्रस्तुतियां, ठंड में घुले ख्यातनाम गायक दिवाकर के स्वर, अनेक श्रोता भी रहे मौजूद

नागौर14 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

बीआर मिर्धा कॅालेज के आडिटोरियम में गुरुवार को लायंस क्लब की ओर से शाम-ए-ग़ज़ल का आयोजन किया गया। ख्यातनाम गायक दीवाकर मीणा की मखमली आवाज ने मानों श्रोताओं को अहसास का समुन्दर सुरों से पिला दिया। दीवाकर ने दिल में इक लहर सी उठी है अभी, हम तेरे शहर में आए हैं मुसाफिर की तरह... सरीखी एक से बढ़कर एक गजलों से शाम-ए-ग़ज़ल को यादगार बना दिया।

उन्होंने श्रोताओं का स्वागत केसरिया बालम आवो नी पधारो म्हारे देश से किया तो श्रोताओं ने दिवाकर तालियों की गड़गड़ाहट स्वागत किया। विशेष फरमाइश पर दीवाकर ने ऐ री सखी मंगल गाओ री, चुपके चुपके, रंजिश ही सही जैसी बेहतरीन गजलें गाकर माहौल को खुशनुमा कर दिया। इस मौके पर गायक दिवाकर ने गुरुवार को रिलीज हुई नरेन्द्र पारीक की ग़ज़ल याद उसकी छोड़कर एक पल नहीं जाती कभी सुनाई। कार्यक्रम में सितार पर अल्लारखा खां, वायलिन र पिंटू राव, तबले पर दिलशाद खां, की-बोर्ड पर आशीष दाधीच तथा ऑक्टोपैड पर मुकेश गौरमात ने संगत की। संचालन शरद जोशी ने किया। कार्यक्रम के विशेष अतिथि फिल्मी गीतकार हरसुख धायल ने इस मौके बेहतरीन कलाम पेश किए। वहीं विशेष अतिथि फिल्मी गीतकार धनराज दाधीच ने कैसे मैं सबको बता दूं ये मेरी दुश्वारियां, मैं बड़ा हूं सबसे घर में मुझ पे जिम्मेदारियां सरीखे शेर सुनाकर खूब वाहवाही लूटी। इस मौके शृंगार की कवियित्री मंजू सोनी ने भी ग़ज़ल पढ़ी।

लायंस क्लब के अध्यक्ष ईश्वर सोनी ने कहा कि ऐसे कार्यक्रम समाज को संस्कार देते हैं। इस दौरान जनप्रतिनिधि नवरत्न बोथरा, मिर्धा कॅालेज प्राचार्य शंकरलाल जाखड़, क्लब संभागीय अध्यक्ष मुरली मनोहर सोलंकी, सनत कानूनगो, धर्माराम भाटी, मनोज कचैलिया, नरेन्द्र पंवार, कृपाराम भाटी, नंदकिशोरभाटी, अमित सारस्वत, जैन समाज के युवा गायक श्रेयांस सिंघवी, गायक मुन्ना स्वर्णकार, गायक संपत दाधीच, गिरीराज व्यास, मुकेश पारीक, दिलीप पित्ती, सुरेन्द्र सोनी, अविनाश जोशी आदि मौजूद रहे।

खबरें और भी हैं...