सोशियल मीडिया पर घंटी बजाओ अभियान:जिन्हें आपने चुना उन जिम्मेदारों को जगाइए...घंटी बजाकर; सोशल मीडिया पर कलेक्टर, एसपी, सांसद और विधायकों के मोबाइल नंबर का पोस्टर वायरल

नागौर6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
सोशियल मिडिया पर वायरल पोस्टर। - Dainik Bhaskar
सोशियल मिडिया पर वायरल पोस्टर।

सरकार में जिन लोगों पर आपकी देखभाल की जिम्मेदारी है, जो आपके दिए टैक्स से वेतन ले रहे हैं और जिन्हें आपने अपना वोट दिया, अपना प्रतिनिधि चुना और विधानसभा और संसद की सीढ़ियां चढ़ने में मदद की, वे क्या सिर्फ सत्ता सुख भोगने के लिए हैं...?

महामारी के इस दौर में लोग अपनी जरूरत के लिए यहां-वहां लोगों के हाथ जोड़ते फिर रहे हैं। जिम्मेदार दफ्तरों की वीसी और बैठकों में तो जनप्रतिनिधि घरों में सुकून से सोए हुए हैं। इन प्रतिनिधियों की घंटी बजाने का और इनको जगाने का समय है। सोशल मीडिया पर इस शंखनाद के साथ जिला कलेक्टर, एसपी, सांसदों-विधायकों के मोबाइल नंबर जारी कर किसी भी जरूरत के लिए कॉल करने के लिए इनके फोन की घंटी बजाने का कहा जा रहा है।

कोविड के बिगड़े हालात ने अब जिले में हाहाकार मचाना शुरू कर दिया है। अस्पताल में बेड से लेकर ऑक्सीजन सिलेंडर और इंजेक्शन व अन्य दवाओं के लिए लोग परेशान हैं। अपनी जरूरत के लिए लोग हर उस द्वार पर दस्तक दे रहे हैं, जहां से उन्हें उम्मीद की किरण नजर आ रही है, लेकिन इसके विपरीत जिले में इन जिम्मेदारों की मदद वाली भूमिका कहीं नजर नहीं आ रही है। इन परिस्थितियों को देखते हुए सोशल मीडिया पर एक पोस्टर जारी किया गया है।

किसी AISA संगठन के नाम का उल्लेख कर जारी किए गए इस पोस्टर में आला अधिकारियों, जिले के RLP, कांग्रेस और भाजपा विधायकों के मोबाइल नंबर उपलब्ध कराए गए हैं। आह्वान किया गया है, अपनी जरूरत के लिए अपने नेताओं की घंटी बजाएं और उन्हें जगाएं। सोशल मीडिया पर जारी चर्चाओं में ये भी कहा जा रहा है कि हमने जिन्हें अपना प्रतिनिधि चुना है, वे सिर्फ सत्ता पर सवार होने के लिए नहीं हैं, बल्कि उनका काम जनता की सेवा करना है।

एक दिन पहले सांसद बेनीवाल ने JLN का किया था दौरा
हांलांकि एक दिन पहले ही नागौर सांसद हनुमान बेनीवाल ने JLN अस्पताल का आकस्मिक दौरा कर मरीजों की हालत जानी थी और इस दौरान उन्होंने अस्पताल प्रबंधन को जल्द से जल्द व्यवस्थाओं में सुधार के कड़े निर्देश भी दिए थे। उन्होंने इस विकट समय में लोगों की जान बचाने के लिए मेडिकल अधिकारियों को अपनी तरफ से हरसंभव मदद देने की बात भी कही थी।

खबरें और भी हैं...