पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

शवों को चुन-चुनकर थैलियों में ले जाना पड़ा:बस ने पति-पत्नी और दो बच्चों को रौंदा, तेज रफ्तार में 200 मीटर तक घसीटती ले गई; नाराज ग्रामीणों ने हाईवे जाम किया

नागौर3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
हादसे में पति-पत्नी और दो मासूम बच्चों की मौत हो गई। शव के टुकड़े हाईवे में चिपक गए थे। - Dainik Bhaskar
हादसे में पति-पत्नी और दो मासूम बच्चों की मौत हो गई। शव के टुकड़े हाईवे में चिपक गए थे।
  • नागौर में मंगलवार शाम को हुआ था हादसा, हाईवे किनारे खड़े पति-पत्नी और दो बच्चों को बस ने रौंद दिया था
  • हादसे में परिवार की सिर्फ एक साल की बच्ची बची, वह अस्पताल में भर्ती है उसकी हालत बेहद नाजुक

नागौर में मंगलवार शाम सड़क हादसे में 4 लोगों की मौत मामले में बुधवार सुबह आक्रोशित लोगों ने तोषीणा-कुचामन हाईवे पर जाम लगा दिया। ग्रामीण पत्थर व लकड़ियां डालकर हाईवे पर बैठ गए। तुरंत मौके पर पहुंची पुलिस ने लोगों से समझाइश कर हाईवे को खुलवाया। हादसे में 4 साल की एक बच्ची की हालत नाजुक है। मृतकों का बुधवार सुबह भी अंतिम संस्कार नहीं किया गया। सभी शव मोर्चरी में ही रखे हैं। परिजन गुस्साए हुए हैं। वह हाईवे पर और मोर्चरी के बाहर प्रदर्शन कर रहे हैं।

यहां पढ़िए पूरा हादसा: तेज रफ्तार बस ने सड़क किनारे बाइक के साथ खड़े परिवार को टक्कर मारी, 2 बच्चों समेत माता-पिता की मौत

गुस्साए ग्रामीणों ने हाईवे पर जाम लगाया।
गुस्साए ग्रामीणों ने हाईवे पर जाम लगाया।

मंगलवार शाम को कुचामन से तोषीणा की जा रही तेज रफ्तार बस ने तोषीणा के पास स्थित पेट्रोल पंप पर अपने भाई के इंतजार में खड़ी बहन, उसके पति व तीन बच्चों को चपेट में ले लिया था। इसमें पति-पत्नी और दो बच्चों की मौके पर मौत हो गई, जबकि एक बच्ची गंभीर घायल है। ग्रामीणों ने बताया कि बस एक जीप को ओवरटेक कर रही थी। बस की स्पीड 100 से 110 किमी प्रति घंटा थी। हादसे के बाद जिन पांच लोगों को रौंदा उन्हें बस 200 फीट तक घसीटती रही। शवों के चिथड़े-चिथड़े हो गए।

सड़क पर चिपक गए थे शव के टुकडे़
हादसा इतना वीभत्स था कि शवों के चिथड़े-चिथड़े हो गए थे। बस के पहिए में फंसकर वह हाईवे से चिपक गए थे। पुलिस को मृतकों के शव के टुकड़े इकट्ठा करने में काफी समस्या हुई। पुलिस ने बाद में शवों को चुन-चुन कर एक किया और फिर थैलों में भरकर मोर्चरी में रखवाया। वारदात के बाद बस का चालक कूदकर फरार हो गया था। मृतक के परिजन इतने गुस्से में हैं कि उन्होंने अभी तक रिपोर्ट नहीं दी है।

भीषण हादसे में बजरंगलाल बनबागरिया (25) उसकी पत्नी तारू देवी (20), खातरिया (ढाई साल) और 9 माह की बच्ची की घटनास्थल पर ही मौत हो गई थी। घायल राजल उम्र 4 का इलाज चल रहा है। उनके साथ में आया बजरंग का साला बाइक को साइड में खड़ी कर पंप पर पेट्रोल लेने के लिए गया हुआ था। इससे वह हादसे का शिकार होने से बच गया।

(रिपोर्ट- अलीशेर खान शेरानी)

खबरें और भी हैं...