पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

महात्मा गांधी नरेगा योजना:काेरोनाकाल में ग्रामीणों को राहत; जिले की 500 में से 499 ग्राम पंचायतों में 46 हजार 445 श्रमिकों को मिल रहा रोजाना काम

नागौर13 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
सिंबोलिक इमेज - Dainik Bhaskar
सिंबोलिक इमेज

कोरोनाकाल में महात्मा गांधी नरेगा योजना से मिल रहे रोजगार से ग्रामीणों को राहत मिली है। योजना से वर्तमान में 46 हजार 445 श्रमिकों को अपने निवास के पास ही रोजगार उपलब्ध है। जिले की 500 ग्राम पंचायतों में से 499 में इस योजना के माध्यम से कार्य करवाया जा रहा है।

जिला परिषद के मुख्य कार्यकारी अधिकारी जवाहर चौधरी ने बताया कि वर्तमान में एक ग्राम पंचायत में कार्य पूरा हो गया और ऐसे में शुक्रवार को ही काम बंद हुआ। शनिवार को मस्टररोल जारी कर फिर काम शुरू किया जाएगा।

राज्य सरकार ने ग्रामीणों को राहत देने के लिए मई माह में महात्मा गांधी नरेगा कार्यों को कोरोना प्रोटोकॉल के साथ आरंभ करने का निर्णय लिया। ग्रामीणों ने इस निर्णय के तुरन्त बाद काम मांगना आरम्भ कर दिया। जिला परिषद द्वारा स्वीकृत कार्यों के ई-मस्टररोल जारी किए गए। कोरोना गाइडलाइन की पालना के कारण सीमित संंख्या में ही श्रमिकों का नियोजन हो पा रहा था। इसके बावजूद बड़ी संख्या में ग्रामीणों ने महात्मा गांधी नरेगा के माध्यम से कोरोना काल में रोजगार प्राप्त किया।

गौरतलब है कि कोरोना संक्रमण से आम लोग प्रभावित हुए हैं। संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए लॉकडाउन लगाया गया। इससे आर्थिक गतिविधियों का संचालन लगभग बंद हो गया। आर्थिक गतिविधियों में मन्दी का प्रभाव दैनिक श्रम तथा मजदूरी पर भी पड़ा। मनरेगा में रोजगार मिलने से ग्रामीणों को काफी राहत मिली है।

खबरें और भी हैं...