पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Nagaur
  • RLP Supremo Beniwal Said – Silence Of Both The Parties Is A Sign Of Mutual Alliance; RLP MLAs Not Given A Chance To Speak In The House

RPS अश्लील वीडियो केस में RLP ने बीजेपी-कांग्रेस को घेरा:RLP सुप्रीमो बेनीवाल बोले- दोनों पार्टियों की चुप्पी आपसी गठजोड़ की निशानी; RLP विधायकों को सदन में बोलने का मौका नहीं दिया

नागौर13 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
नागौर सांसद व RLP सुप्रीमो हनुमान बेनीवाल।  - Dainik Bhaskar
नागौर सांसद व RLP सुप्रीमो हनुमान बेनीवाल। 

ब्यावर डीएसपी हीरालाल सैनी व महिला कांस्टेबल के 6 साल के बच्चे के साथ पूल के दो वीडियो सामने आने के मामले को राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी विधानसभा में पुरजोर तरीके से उठाएगी। इस मामले को लेकर सोमवार को RLP विधायक विधानसभा में स्थगन प्रस्ताव भी लेकर आये पर उन्हें बोलने का मौका नहीं मिला। ये बात नागौर सांसद व RLP सुप्रीमो हनुमान बेनीवाल ने सोमवार को यहां कही।

उन्होंने कहा कि इस मामले में भाजपा और कांग्रेस की चुप्पी इनके सत्ता सुख में आपसी गठजोड़ की निशानी को साबित करती है। नागौर सांसद व RLP सुप्रीमो हनुमान बेनीवाल ने कहा कि इस मामले में RLP विधायकों को विधानसभा में बोलने का मौका नहीं दिया गया क्योंकि निलंबित DSP को बचाने में लगे कई बड़े पुलिस अधिकारी भाजपा और कांग्रेस के नेताओं के करीबी हैं। जिस तरह भाजपा और कांग्रेस ने एक राय होकर पहले परिवहन घोटाले को दबाने का प्रयास किया अब ठीक उसी तरह इस मामले में दोनों पार्टियों ने चुप्पी साधी हुई है।

सांसद बेनीवाल ने कहा कि पुलिस अधिकारी के वायरल वीडियो में महीनों तक मामले को दबाकर रखने व निलंबित DSP हीरालाल सैनी को बचाने के लिए प्रयास करने वाले पुलिस के उच्च अधिकारियों को बर्खास्त करना चाहिए। इस मामले के तार सीएमओ और पूर्व मुख्यमंत्री के करीबी लोगों से जुड़े हुए हैं। इसलिए पूरे प्रदेश की नजरें विधानसभा की तरफ है। ऐसे संवेदनशील मामले को सरकार व विपक्ष द्वारा गठबंधन करके दबाने का प्रयास करना दुर्भाग्यपूर्ण है।

खबरें और भी हैं...