नागौर के गौरव…:लकड़ी की घाणी का प्रदेश का पहला प्लांट बालासर में

नागौर16 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

नागौर के बालासर में निकाले जा रहे कच्ची घाणी के तेल की डिमांड प्रदेशभर में है। कारण कि यहां जो तेल निकाला जा रहा है वह लकड़ी की घाणी से निकाला जा रहा है और ऐसा प्रदेशभर में केवल यहीं हो रहा है। बाकी जगह कच्ची घाणी का तेल मशीनों से तेल निकलता है।

हाइटेक ऑर्गेनिक स्टोर लिमिटेड के संचालक रामूराम चौधरी बताते हैं, मशीन से जो भी कच्ची घाणी का तेल निकलता है वह गर्म हो जाता है और कोई भी तेल एक बार ही गर्म करके काम में लिया जा सकता है।

अगर निकालते वक्त ही गर्म हो जाएगा तो फिर उसे घर पर उपयोग करना खतरनाक है। लकड़ी की घाणी में निकालते वक्त तेल गर्म नहीं होता है और यह तेल स्वास्थ्यवर्धक भी है। यहां तिल, काली-पीली सरसों सहित मूंगफली का तेल निकाला जाता है।

रामूराम बताते हैं कि वे जो भी उत्पाद तैयार कर रहे हैं उनमें जो पानी उपयोग में लिया जा रहा है वह भी प्राकृतिक ही उपयोग में लेते हंै। इसके लिए बारिश के पानी का स्टोर किया जाता है। इनके प्लांट पर 1 करोड़ लीटर पानी का स्टोरे टैंक बना है।

सब कुछ ऑर्गेनिक
रामूराम बताते हैं कि उनका प्लांट 100 प्रतिशत ऑर्गेनिक है। उनके यहां इसी माह के अंत तक मिर्च, हल्दी व धनिया का उत्पादन भी शुरू होने वाला है। साथ ही आटा, बेसन व दलिये का प्लांट भी अक्टूबर में शुरू हो जाएगा। फिलहाल इनके प्लांट में सभी प्रकार की दालों व कच्ची घाणी के तेल का उत्पादन शुरू हो चुका है।

खबरें और भी हैं...