पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

सिस्टम ही संक्रमित:सामान्य वार्ड में भर्ती कर रहे कोरोना संदिग्ध मरीज, पीएमओ बोले- घर भी तो साथ रहते हैं

नागौर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • लापरवाही पर पीएमओ डॉ. शंकरलाल का गैर जिम्मेदाराना बयान
  • विडम्बना देखिए... कोरोना वार्ड में 12 बेड, 4 पर नहीं है ऑक्सीजन सप्लाई

कोरोना के बढ़ते केस के बीच जेएलएन अस्पताल में प्रशासन की बड़ी लापरवाही सामने आई है। भास्कर टीम रविवार रात 10 बजे जब अस्पताल में कोरोना मरीजों की व्यवस्थाओं के हालात जानने पहुंची तो मौके पर जो तस्वीरें सामने आई उसने अस्पताल प्रशासन के इंतजामों की पोल खोल कर रख दी।

भास्कर की पड़ताल में सामने आया कि कोरोना के जिन संदिग्ध पुरुष मरीजों वार्ड में भर्ती किया जा रहा है वह फुल हो चुका है, बाकी संदिग्ध मरीजों को पास के सामान्य वार्ड में ही भर्ती कर लिया गया है। इस वार्ड में पहले से दूसरी बीमारियों से ग्रसित मरीज यहां भर्ती थे।

ऐसे में इन मरीजों में संक्रमण फैलने का बड़ा खतरा पैदा हो गया है। मौके पर ड्यूटी दे रहे नर्सिंग कर्मचारियों का कहना था कोरोना संदिग्ध मरीजों को भर्ती करने के लिए इसके अलावा कोई दूसरा वार्ड नहीं है। मजबूरी में यहां संदिग्ध मरीजों को भर्ती किया जा रहा है।

कोरोना संदिग्ध मरीज का इलाज करने वाला स्टाफ ही सामान्य मरीजों का इलाज कर रहा है। ऐसे में जब तक संदिग्ध मरीजों की रिपोर्ट आती है तब तक कोरोना संक्रमण सामान्य मरीजों में फैल चुका होता है। लापरवाही के कारण कोरोना मरीजों की संख्या लगातार बढ़ती ही जा रही है।

पीएमओ डॉ. शंकरलाल को जानकारी होने के बावजूद कोई उचित कदम नहीं उठाया गया है। स्टाफ भी इस लापरवाही के कारण बढ़ते कोरोना संक्रमण को लेकर चिंतित है। उल्टा पीएमओ ने जवाब दिया कि घर पर कोरोना मरीजों के साथ नहीं रहते क्या। पॉजिटिव रिपोर्ट आने पर काेरोना वार्ड में भर्ती कर दिया जाएगा। ऑक्सीजन सभी बेडों पर उपलब्ध है। कोरोना के लिए बनाए वार्ड में कुल 12 बेड है मगर 8 पर ही ऑक्सीजन सप्लाई हो रही है। सामान्य वार्ड के 12 बेड में 6 वार्ड पर ही ऑक्सीजन सप्लाई है।

अस्पताल प्रशासन की लापरवाही: कोरोना सस्पेक्टेड वार्ड फुल होने पर सामान्य वार्ड में सस्पेक्टेड मरीजों को रख रहे

नागौर के अजमेरी गेट निवासी एक 50 साल के व्यक्ति के कोरोना सस्पेक्टेड होने पर डॉक्टरों ने भर्ती किया, लेकिन कोरोना सस्पेक्टेड वार्ड फुल होने की स्थिति में उसे सामान्य मेडिकल वार्ड में ऑक्सीजन बेड पर रखा गया। सस्पेक्टेड मरीजों काे सामान्य वार्ड के मरीजों के बीच रखने से सामान्य वार्ड के मरीज भी आशंकित है। सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक तांतवास गांव निवासी एक 46 साल के व्यक्ति को कोविड-19 सस्पेक्टेड वार्ड फुल होने पर सामान्य मेडिकल के मरीजों के साथ रखा। ऐसे में अगर रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव आ जाती है तो सामान्य वार्ड के मरीजों के सामने परेशानी खड़ी हो सकती है। अस्पताल प्रशासन की ऐसी लापरवाही का खामियाना अन्य मरीज भुगत सकते हैं।

कोरोना काल में पहले भी जेएलएन अस्पताल प्रबंधन की हो चुकी है शिकायत, अब फिर लापरवाही सामने

जानकारी के अनुसार कोरोना काल में पहले भी जेएलएन अस्पताल प्रबंधन की लापरवाही सामने आ चुकी है। इस संबंध में शिकायतें भी हो चुकी है। लेकिन अस्पताल प्रबंधन अभी तक कोई कार्रवाई करने के मूड में ही नहीं है। अस्पताल के जिम्मेदार लगातार लापरवाही कर रहे है।

हालात यह है कि अस्पताल में जो चिकित्सक कार्य कर रहे है वे भी समय से पहले ही भाग रहे है। दोपहर के बाद काेई भी चिकित्सक अपने कमरों में नहीं बैठे मिलते। इससे मरीज तय समय में भी इधर उधर भटकते रहते है। हालात यह है कि मरीजों को समय पर कंबल तक नहीं मिल रहे है। मरीज भी सर्दी से परेशान होकर अपने अपने कंबल घरों से ही लेकर आ रहे है। इस संबंध में अस्पताल प्रबंधन के अपने ही अलग तर्क है। वे इसे भी कोरोना से जोड़ रहे है।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- इस समय ग्रह स्थितियां आपको कई सुअवसर प्रदान करने वाली हैं। इनका भरपूर सम्मान करें। कहीं पूंजी निवेश करने के लिए सोच रहे हैं तो तुरंत कर दीजिए। भाइयों अथवा निकट संबंधी के साथ कुछ लाभकारी योजना...

और पढ़ें

Open Dainik Bhaskar in...
  • Dainik Bhaskar App
  • BrowserBrowser