• Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Nagaur
  • The Alleged Police Team, Which Came In Plain Uniform And Without Nabri Camper, Got Furious For Stopping At The Toll Booth, Assaulted The Employees; Incident Caught On CCTV

टोल बूथ पर पुलिस की दबंगई:सादी वर्दी, बिना नंबर की गाड़ी में आई DST टीम को रोका तो कर्मचारियों को पीटा, सिर पर पिस्तौल तान दी; CCTV में कैद हुई घटना

नागौर5 महीने पहले
टोल बूथ मैनेजर व कर्मचारी आपबीती बताते हुए।

जिले के मेड़ता-जसनगर सड़क मार्ग स्थित टोल बूथ पर टोलकर्मियों के साथ पुलिस की दबंगई का वीडियो सामने आया है। सादी वर्दी और बिना नंबर की बोलेरो कैंपर गाड़ी में सवार इन पुलिसकर्मियों ने रिवॉल्वर और हथियारों का रौब दिखाते हुए टोलकर्मियों से जमकर मारपीट की। पुलिसकर्मियों ने जाते-जाते दो कर्मचारियों को शांति भंग में पकड़कर मेड़ता पुलिस को ले जाकर सौंप दिया।

बुधवार रात की यह पूरी घटना टोल बूथ के सीसीटीवी कैमरे में कैद हो गई है। जब टोल मैनेजर मेड़ता पुलिस थाने में शिकायत देने पहुंचा तो उसे भी धमकाकर भगा दिया। बताया जा रहा है कि ये सभी डिस्ट्रिक्ट स्पेशल टीम (DST) के पुलिसकर्मी थे। जसनगर में डोडा तस्कर के खिलाफ कार्रवाई कर नागौर लौट रहे थे।

टोल मैनेजर के आरोप

टोल इंचार्ज सूर्यवीर सिंह ने बताया कि बुधवार को करीब शाम 7:30 बजे जसनगर से मेड़ता की तरफ जा रही एक बिना नंबर की बोलेरो कैंपर तेज रफ्तार से टोल बूथ पर आई। कैंपर में पुलिस का सायरन बज रहा था। टोल प्लाजा के कर्मचारियों ने गाड़ी की रफ्तार देखकर डिवाइडर हटा दिया और गाड़ी को हाथ देकर रोका। जब गाड़ी रुकी तो कैंपर में सवार लोगों ने अपने आप को पुलिसकर्मी बताया। उनसे आईडी मांगी गई तो गुस्से में वाहन से नीचे उतरे और टोल प्लाजा कर्मचारियों को दौड़ा-दौड़ा कर पीटा।

टोल कर्मचारी के सिर पर तानी पिस्तौल

टोल इंचार्ज सूर्यवीर सिंह ने बताया कि एक व्यक्ति ने टोल प्लाजा कर्मचारी के सिर पर पिस्तौल तान दी। इसके बाद टोल प्लाजा के दो कर्मचारियों को पीटते हुए अपनी गाड़ी में बैठा कर मेड़ता थाना ले गए। वहां दोनों को शांति भंग में बंद कर दिया।

CI बोले, शिकायतें मिलने पर दो टोल कर्मचारियों को पकड़ा है

वहीं मामले को लेकर जब मेड़ता CI नरपत सिंह से बात की गई तो उन्होंने बताया कि ऐसा कोई मामला नहीं है। टोल बूथ के कर्मचारी आए दिन लोगों से दुर्व्यवहार करते हैं। लगातार शिकायतें आती रहती हैं। इसी को लेकर दो कर्मचारियों को पकड़कर शांति भंग में बंद किया गया था।

इनपुट : मनीष सोनी (रियांबड़ी)

खबरें और भी हैं...