पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Nagaur
  • The Brother in law's Brother Was First Beaten With His Face Tied, Then The Accused Fled After Sitting In The Bus At 2 O'clock In The Night In Panchauri.

अपहरण कांड:जीजा के भाई को पहले मुंह बांधकर पीटा, फिर पांचौड़ी में रात 2 बजे बस में बैठाकर भागे आरोपी

नागाैर20 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
फाइल फोटो - Dainik Bhaskar
फाइल फोटो
  • कूपड़ास में हुई थी वारदात, बहन के प्रेम विवाह से नाराज भाई ने किया था अपहरण

गाेटन थाना इलाके के कूपड़ास गांव से अपहर्त युवक बुधवार को सुबह दस्तयाब कर लिया गया। युवक के साथ मारपीट करते हुए उसकाे अपहर्ताओं ने रात दाे बजे पांचाैड़ी के पास एक बस में बैठा दिया। इसके चलते अपहर्त युवक ताे दस्तयाब हाे गया, लेकिन आराेपियाें का अभी तक पुलिस काेई सुराग नहीं लगा पाई है। जबकि वारदात में तीन आराेपी नामजद भी है। इधर, इस अपहरण की वारदात के बाद पुलिस की अप्रभावी नाकेबंदी की भी पाेल खुलकर सामने आ गई है।

जानकाराें के अनुसार आराेपियाें ने दाेपहर करीब एक-डेढ़ बजे हरसुखराम बाेला का अपहरण किया। इसके बाद जैसे ही सूचना पुलिस तक पहुंची ताे जिलेभर में नाकेबंदी के आदेश हुए। इसके बावजूद आराेपी पुलिस की पकड़ में नहीं आई।जबकि रात दाे बजे आराेपियाें ने पांचाैड़ी के पास हरसुखराम काे भी छाेड़ा। ऐसे में स्पष्ट है कि आराेपी रात तक यही थे। फिर भी पुलिस आराेपियाें काे ढूंढने में पुलिस फेल रही। पुलिस की नाकाबंदी के दौरान ढीला रवैया रहा।

अपहरणकर्ता काे ढूंढने में दूसरे दिन भी पुलिस रही फेल, तीन आरोपी नामजद

इधर, कूपड़ास निवासी एक आदमी ने पुलिस काे रिपाेर्ट साैंपी है। इसमें बताया कि उसके भाई ने 28 मई काे ओलादन निवासी युवती के साथ आर्य समाज में शादी की थी। इस बात का ओलादन गांव में विराेध भी हुआ। जानकारी के अनुसार उस समय देशवाल निवासी एक व्यक्ति ने युवक-युवती काे धमकी भी दी थी। जब 7-8 आराेपी बाेलेराे में सवार हाेकर आए उस समय घर पर पीड़ित का परिवार घर पर थे। तभी आराेपी हथियाराें से लैस हाेकर आए और हरसुख काे उठा ले गए। इस दाैरान युवती का भाई ओलादन निवासी सहित अन्य थे। इसके बाद युवक का अपहरण करने की घटना सामने आई। जिसमें युवती के भाई ने जीजा के बड़े भाई को अपहरण कर लिया और उसके साथ मारपीट की। इस वारदात में पुलिस थाने में रिपोर्ट भी दर्ज करवाई गई है।

अपहरण करने वालों को ढूंढती रही पुलिस, नाकाबंदी की फिर भी पांचौड़ी तक पहुंचे

पुलिस गंभीर मामलों में भी किस प्रकार से काम करती है इसका एक उदाहरण यह मामला है। अपहरण करने वालों को पुलिस ढूंढती रही लेकिन वे युवक को लेकर पांचौड़ी तक जा पहुंचे जबकि पुलिस कहती रही कि नाकाबंदी है। ऐसे में गोटन से निकले आरोपी पांचौड़ी तक कैसे पहुंचे यह बड़ा सवाल है। इसके अलावा उन्होंने एक बस को भी रूकवा दिया और उसमें अपहर्त युवक को बैठाकर रवाना कर दिया। इस दौरान भी पुलिस उनको नहीं पकड़ पाई। लेकिन अपहर्त युवक को पुलिस की ओर से अस्पताल लाया गया। गौरतलब है कि गत महीने गोटन थाने में क्षेत्र की युवती की थाने में गुमशुदगी दर्ज हुई थी। इसके बाद सोमवार को पुलिस ने का पता लगाने के बाद पूछताछ की तो सामने आया कि उसने शादी कर ली है। इस बात से युवती का बड़ा भाई आक्रोशित हो गया। और वारदात को अंजाम दिया।

खबरें और भी हैं...