पत्थर से मार कर पत्नी को मार डाला:दंपती खेत में अलग-अलग सो रहे थे, पति ने पत्नी के चेहरे पर पत्थर-दांतली से किये ताबड़तोड़ वार, बेटा बोला-पिता दिमागी रूप से परेशान थे

नागौर7 दिन पहले
हत्या के बाद खेत में पड़ा महिला का शव।

जिले के नावां क्षेत्र के राजास में गुरुवार को पत्नी के मुंह पर पत्थर मार-मार कर हत्या करने का मामला सामने आया है। पति ने पत्नी के मुंह पर दांतली से भी वार किये हैं। दंपती अपने खेत में काम कर रहे थे। हत्या की वारदात से कुछ समय पहले ही पति-पत्नी आराम के लिए अलग-अलग खेजड़ी के पेड़ के नीचे जाकर सोये थे। कुछ देर बाद ही पति ने नींद में सो रही पत्नी के मुंह पर पत्थर और दांतली के ताबड़तोड़ वार करने शुरू कर दिए और उसकी सांसे टूटने तक मारता रहा।

घटना के वक्त मृतका की बेटी और बड़ी बहन भी खेत में ही थी। उन्होंने रोकने की भी कोशिश की पर आरोपी काबू में नहीं आया। पत्नी की हत्या करने के बाद आरोपी पति वहां से भागा नहीं और वहीं खेत पर बने झूंपे (छोटी झोपड़ी) में जाकर बैठ गया। घटना के बाद मौके पर ग्रामीणों की भीड़ जमा हो गई। सूचना मिलते ही पुलिस भी मौके पर पहुंच गई। आरोपी पति को पकड़ लिया गया है।

पोस्टमार्टम कार्रवाई के दौरान नावां CHC पर खड़ी पुलिस व अन्य लोग।
पोस्टमार्टम कार्रवाई के दौरान नावां CHC पर खड़ी पुलिस व अन्य लोग।

दम निकलने तक मुंह पर पत्थर और दांतली के वार करता रहा

सुखदेव पुत्र मांगूराम जाट (55) निवासी राजास गुरुवार को अपनी पत्नी भंवरी देवी (50) के साथ अपने खेत में काम कर रहा था। जहां दोपहर बाद दोनों आराम करने के लिए अलग-अलग खेजड़ी के नीचे जाकर सो गए। अचानक सुखदेव उठा और नींद में सो रही पत्नी के मुंह पर पत्थर और दांतली से वार करने शुरू कर दिए। भंवरी देवी संभल भी नहीं पाई और उससे पहले ही सुखदेव ने उसके चेहरे का नक्शा ही बिगाड़ दिया।

भंवरी देवी की बड़ी बहन नारायणी देवी और बेटी सीता देवी भी वहीं खेत में काम कर रही थी। उन्होंने सुखदेव को भंवरी देवी की हत्या करते देखा तो दौड़कर उसे रोकने का प्रयास किया मगर वो काबू में नहीं आ पाया।

आरोपी पति।
आरोपी पति।

बेटे ने हत्यारे पिता को बताया दिमागी रूप से कमजोर

दयालराम पुत्र सुखदेव जाट निवासी राजास ने पुलिस को रिपोर्ट पेश कर बताया है कि उसके पिता सुखदेव पुत्र मांगूराम जाट (55) ने उसकी माता भंवरी देवी (50) की हत्या कर दी है। घटना से पहले उसके पिता सुखदेव और उसकी माता भंवरी देवी दोनों खेत में काम कर रहे थे। दयालराम ने बताया कि उसका पिता सुखदेव दिमागी रूप से परेशान था और लंबे समय से उसकी दवाइयां भी चल रही हैं।

खबरें और भी हैं...