• Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Nagaur
  • The Friend, Along With His Brother, Killed The Young Man By Hitting Him In The Head, Slammed The Dead Body On The Road To Show The Accident

युवक की हत्या कर सड़क किनारे पटका, दो आरोपी गिरफ्तार:दोस्त ने भाई के साथ मिलकर युवक के सिर में डंडे से मारकर की हत्या, एक्सीडेंट दिखाने के लिए लाशसड़क पर पटकी

नागौर3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
गिरफ्तार दोनों आरोपी भाई। - Dainik Bhaskar
गिरफ्तार दोनों आरोपी भाई।

जिले के गोटन थाना क्षेत्र के हरसोलाव गांव के समीप हरसोलाव-असावरी सड़क मार्ग पर राजूराम पुत्र भागुराम (28) मेघवाल निवासी हरसोलाव का शव मिलने के बाद गोटन पुलिस ने देर शाम युवक की हत्या कर उसकी लाश सड़क पर पटकने के मामले में दो आरोपियों रामस्वरूप पुत्र सत्यनारायण नाई निवासी हरसोलाव व रामकिशोर पुत्र सत्यनारायण नाई निवासी हरसोलाव को गिरफ्तार कर लिया है और उनसे पूछताछ शुरू कर दी है।

ह्त्या के दोनों आरोपी सगे भाई है और इनमें से एक आरोपी रामस्वरूप मृतक राजूराम का ख़ास दोस्त था। पुलिस ने अभी ह्त्या के कारणों का खुलासा नहीं किया है। पुलिस के अनुसार आरोपी रामस्वरूप शुक्रवार को राजूराम को धोखे से अपने साथ मोटरसाइकिल पर बैठाकर मुंडवा स्थित अपने भाई रामकिशोर की दुकान पर ले गया। इसके बाद दोनों आरोपी भाइयों ने भाटियों की ढाणी से एक डंडा खरीदा और दोनों भाई और राजूराम मोटरसाइकिल से ही गांव की तरफ रवाना हो गए।

रास्ते में दोनों भाई राजूराम को एक सुनसान इलाके की तरफ ले गए और वहां राजूराम के सिर में डंडे से मारकर उसकी ह्त्या कर दी। इसके बाद उसकी लाश को मोटरसाइकिल से लाकर हरसोलाव-असावरी सड़क मार्ग पर पटक दिया ताकि लोग हत्या को एक्सीडेंट ही माने। इसके बाद दोनों आरोपी भाई मौके से निकल गए।

सड़क किनारे पड़ी युवक की लाश।
सड़क किनारे पड़ी युवक की लाश।

ये था मामला
राजूराम पुत्र भागुराम (28) मेघवाल निवासी हरसोलाव शुक्रवार सुबह 9 बजे अपने घर से बाहर निकला था। शाम को घर नहीं लौटा तो पिता भागुराम ने उसे फोन किया तो उसने कहीं बाहर खाना खाकर आने व थोड़ी देर बाद घर आने की बात कही। पर राजूराम रात भर घर नहीं लौटा।

शनिवार सुबह गांव के चन्द्र सिंह पुत्र मदन सिंह सोलंकी ने भागुराम के भतीजे नेमाराम पुत्र घेवरराम मेघवाल को फोन कर हरसोलाव-असावरी सड़क मार्ग पर भूरिया बाबा गौशाला के पीछे राजूराम की लाश पड़ी होने की जानकारी दी। नेमाराम ने यह बात भागुराम को बताई और मौके पर पहुंचे। इस दौरान वहां राजूराम का शव पड़ा था। तब तक पुलिस भी मौके पर पहुंच गई।

घटनास्थल का जायजा व परिजनों के बयान लेने के बाद पुलिस ने शव को राजकीय अस्पताल गोटन की मोर्चरी में भिजवाया। जहां दोपहर में पोस्टमार्टम के बाद शव परिजनों को सुपुर्द कर दिया गया। पिता भागुराम ने मृतक राजूराम के दोस्त गांव के ही रामस्वरूप पुत्र सत्यनारायण नाई व उसके साथियों पर अपने पुत्र की हत्या का आरोप लगाते हुए मामला दर्ज कराया था।

सड़क किनारे मिला युवक का शव, ह्त्या का संदेह:एक दिन पहले घर से निकला, शाम को पिता ने फोन किया तो बाहर खाना खाकर आने का कहा; सुबह आई मौत की सूचना

खबरें और भी हैं...