• Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Nagaur
  • The Inauguration Was To Take Place Today, Rural Women And Men Arrived With Sticks And Sticks In Their Hands; EO Said – Program Has Been Postponed For The Time Being

गांव में शहर का डम्पिंग यार्ड बनाने का विरोध:आज उदघाटन होना था, हाथों में लाठी-डंडे लेकर पहुंचे ग्रामीण महिला-पुरुष; ईओ बोले- फिलहाल स्थगित कर दिया है कार्यक्रम

नागौरएक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
डम्पिंग यार्ड के विरोध में लामबंद हुए ग्रामीण। - Dainik Bhaskar
डम्पिंग यार्ड के विरोध में लामबंद हुए ग्रामीण।

जिले की थाटा ग्राम पंचायत के सुरियास गांव में डेगाना नगर पालिका द्वारा कचरा निस्तारण का डंपिंग यार्ड बनाने और आज मंगलवार को उसके उद्घाटन से पहले ही ग्रामीण महिला-पुरुष लामबंद हो गए और मौके पर लाठी-डंडों के साथ पहुंचे ग्रामीण महिला-पुरुषों ने कहा कि वो किसी भी कीमत पर यहां डम्पिंग यार्ड नहीं बनाने देंगे चाहे इसके लिए उन्हें कुर्बान ही क्यों न होना पड़े।

इधर डेगाना नगरपालिका ईओ सुनील डूडी ने बताया कि डम्पिंग यार्ड की जगह 4 महीने पहले जिला कलेक्टर द्वारा अलॉट की गई है और आज इसका उद्घाटन होना था पर मौके पर कानून व्यवस्था बिगड़ने के आसार लग रहे थे और पुलिस जाब्ता की अनुपलब्धता को देखते हुए फिलहाल उद्घाटन कार्यक्रम को निरस्त कर दिया गया है।

डम्पिंग यार्ड के विरोध में लामबंद हुए ग्रामीण।
डम्पिंग यार्ड के विरोध में लामबंद हुए ग्रामीण।

ये है मामला
नगर पालिका डेगाना द्वारा कचरा निस्तारण का डम्पिंग यार्ड बनाने के लिए डेगाना से 27 किलोमीटर दूर ग्राम सुरियास की सीमा को चुना गया है और इस जगह को जिला कलेक्टर ने अलॉट कर दिया है। इसके बाद ग्रामीणों द्वारा उच्च न्यायालय जोधपुर में अपील पेश की गई। प्रकरण की सुनवाई 16 अगस्त को होनी है। इसके बावजूद नगर पालिका डेगाना द्वारा सोमवार को आज यहां डम्पिंग यार्ड उदघाटन समारोह रखा गया था। इसे लेकर ग्रामीणों में आक्रोश फ़ैल गया और कई गांवों के महिला-पुरुष इसे रुकवाने को लेकर भैरुन्दा पंचायत समिति प्रधान जसवंत सिंह थाटा और जिला परिषद सदस्य मनीष चौधरी की अगुवाई में लाठी-डंडों के साथ मौके पर पहुंच गए।

प्रस्तावित डम्पिंग यार्ड की जगह गौवंश चरते हुए।
प्रस्तावित डम्पिंग यार्ड की जगह गौवंश चरते हुए।

ये है परेशानी
ग्रामीणी ने बताया कि यहां डम्पिंग यार्ड बनाये जाने के बाद डेगाना नगर पालिका द्वारा यहां डालने जाने वाले गंदे कचरे और मृत पशु डालने से इलाके की आम जनता इससे होने वाली बदबू से परेशान होगी। डम्पिंग यार्ड के पास ही मोड़ी नाडी और माताजी के बांध के पानी को भी दूषित होने का खतरा है। पास ही स्थित भोलेनाथ बाबा मंदिर व गौशाला में लोगों का जाना मुश्किल हो जाएगा।

खबरें और भी हैं...