• Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Nagaur
  • The Path Of The Minister Stopped In The Nagaur Collectorate For Many Demands Including PG Course In The College, Sloganeering Fiercely

जिला प्रभारी मंत्री को दिखाए काले झंडे:कॉलेज में PG कोर्स सहित कई मांगों को लेकर रोका मंत्री राजेंद्र यादव का रास्ता, की नारेबाजी

नागौर5 महीने पहले
जिला प्रभारी मंत्री यादव को दिखाए काले झंडे।

जिले के प्रभारी मंत्री राजेन्द्र सिंह यादव का शुक्रवार को नागौर शहर स्थित कलेक्ट्रेट के बाहर पूर्व छात्रसंघ अध्यक्ष व RLP नेता सुरेंद्र दौतड़ व छात्र नेता वासुदेव बांता ने काले झंडे दिखाकर विरोध किया। मंत्री यादव जैसे ही कलेक्ट्रेट सभागार में मीटिंग पूरी कर बाहर निकल कर अपनी गाड़ी में बैठे, यहां पहले से इंतजार कर रहे दौतड़ व बांता ने उन्हें रोककर बीआर मिर्धा राजकीय कॉलेज में विभिन्न विषयों के पीजी कोर्स शुरू करने सहित कॉलेज में विश्वविद्यालय का सहायक केन्द्र व महिला छात्रावास में पुस्तकालय खोलने की मांग बताई और इसे पूरा नहीं करने पर उनके विरोध की चेतावनी भी दे दी।

दौतड़ व बांता के इरादे भांपते हुए पुलिसकर्मियों ने उन्हें हटाने का प्रयास किया। लेकिन तब तक उन्होंने जेब से काले झंडे निकालकर मंत्री यादव के सामने लहरा दिए। इतना ही नहीं गाड़ी के सामने आकर रास्ता भी रोक लिया। पुलिस ने जैसे-तैसे उन्हें काबू किया। फिलहाल दोनों को शांतिभंग में गिरफ्तार कर कोतवाली थाने ले जाया गया है। वहीं स्टूडेंट्स अभी भी अपनी मांगों को लेकर अडिग है।

पूर्व छात्रसंघ अध्यक्ष व RLP नेता सुरेंद्र दौतड़ को पकड़कर ले जाती पुलिस।
पूर्व छात्रसंघ अध्यक्ष व RLP नेता सुरेंद्र दौतड़ को पकड़कर ले जाती पुलिस।

दरअसल नागौर शहर स्थित बीआर मिर्धा राजकीय महाविद्यालय में विभिन्न विषयों के पीजी कोर्स शुरू करने सहित कॉलेज में विश्वविद्यालय का सहायक केन्द्र व महिला छात्रावास में पुस्तकालय खोलने की मांग को लेकर पिछले दिनों स्टूडेंट लीडर वासुदेव बांता अनशन पर बैठे थे। इसके बाद 2 बार वासुदेव बांता की तबियत भी बिगड़ी। बावजूद इसके प्रभारी मंत्री ने उनकी मांगों को नहीं माना और सरकार ने भी कोई सुनवाई नहीं की। इससे स्टूडेंट्स में गहरा आक्रोश था और वो प्रभारी मंत्री यादव का नागौर में विरोध करने की चेतावनी भी दे रहे थे।

इसी के चलते पूर्व छात्र संघ अध्यक्ष व RLP नेता दौतड़ व छात्र नेता बांता शुक्रवार को कुछ स्टूडेंट्स के साथ नागौर दौरे पर आए जिले के प्रभारी मंत्री राजेन्द्र सिंह यादव से मिलने कलेक्ट्रेट पहुंचे। यहां मीटिंग खत्म कर बाहर निकले प्रभारी मंत्री यादव से मुलाकात कर पहले उन्हें अपनी मांगे बताई गई और इन मांगों को पूरा नहीं किये जाने पर विरोध प्रदर्शन की चेतावनी भी दी गई। इसके बाद मंत्री यादव की गाड़ी का रास्ता रोककर उन्हें काले झंडे भी दिखाए गए।

5 दिन में प्रदेश सरकार के दो मंत्रियों को नागौर में झेलना पड़ा विरोध
नागौर में महज 5 दिनों में ही प्रदेश सरकार के दो मंत्रियों को विरोध झेलना पड़ा है और दोनों ही बार उन्हें काले झंडे दिखाए गए। भाजपा प्रदेशाध्यक्ष सतीश पूनिया के अलवर दौरे के बाद मंत्री जूली द्वारा उन पर किए गए जुबानी हमले को लेकर नाराज भाजपाइयों ने 5 दिन पहले केबिनेट मंत्री टीकाराम जूली का मानासर चौराहे पर जोरदार विरोध किया था। इसके बाद आज प्रभारी मंत्री यादव को स्टूडेंट्स का विरोध झेलना पड़ा है।

खबरें और भी हैं...