पीर बाबा से डरे चोर:नागौर में दरगाह के दानपात्र से बदमाश चुरा ले गए थे 2 लाख, महीने भर बाद 93 हजार रुपए वापस रख गए

नागौरएक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
दरगाह पहुंचे लोगों ने पुलिस को सूचना कर सारे पैसों की गिनती कर सुरक्षित रखवाया। - Dainik Bhaskar
दरगाह पहुंचे लोगों ने पुलिस को सूचना कर सारे पैसों की गिनती कर सुरक्षित रखवाया।

नागौर जिले की एक दरगाह से 2 लाख रुपए चोरी करने वाले पीर बाबा से ऐसे डरे कि वे दानपात्र से चुराई गई 2 लाख की राशि में से एक माह बाद 93,514 रुपए वापस रख गए। नोटों की स्थिति से पता चला कि ये वही नोट थे जो उन्होंने दानपात्र से चुराए थे। यह मामला जिले के शेरनी आबाद कस्बे के पास गांव बड़ी खाटू स्थित दरगाह हजरत समन दीवान का है।

दरगाह से चोरों ने 17 दिसंबर की रात दानपात्र के ताले तोड़कर करीब 2 लाख रुपए चोरी कर लिए थे। दरगाह प्रबंधन ने इसकी रिपोर्ट भी तब पुलिस में दर्ज करा दी थी। एक माह के दौरान पुलिस भी चोरों का कोई सुराग नहीं लगा पाई। अब सोमवार सुबह आसपास के लोग जब दरगाह पहुंचे तो वहां पड़े नोटों के ढेर को देखकर चौंक गए। जिस तरह की कंडीशन इन नोटों की थी, उससे स्पष्ट हो रहा था कि ये नोट दानपात्र के ही हैं। गिनती पर ये 93514 रुपए निकले।

पैसों की गिनती कर सुरक्षित रखवाया
दरगाह के पास रहने वाले शराफत अली ने सबसे पहले दरगाह परिसर में पैसों का ढेर देखा। इसके बाद आसपास के लोगों को मौके पर बुलाया गया। दरगाह पहुंचे लोगों ने पुलिस को सूचना देकर सारे पैसों की गिनती कर सुरक्षित रखवाया। जानकारी मिलने पर बड़ी खाटू थाना के एएसआई सोहनलाल फिरड़ोदा व उनके साथ पुलिस के जवान दरगाह पहुंचे।

दरगाह परिसर में पड़े मिले नोट।
दरगाह परिसर में पड़े मिले नोट।

दोनों वक्त बंद पड़े थे सीसीटीवी
दरगाह में सीसीटीवी कैमरे लगे हुए हैं, जो 17 दिसंबर की रात घटना के समय बंद थे। इसके चलते चोर कैमरे में कैद नहीं हो सके। इसी प्रकार 19 जनवरी को भी दरगाह के सीसीटीवी कैमरे बंद पड़े मिले। इससे चोरी की राशि वापस रखने वाला भी सीसीटीवी कैमरे में कैद नहीं हो सका। यह कैमरे खराब थे या बंद पड़े थे, इस बारे में जानकारी नहीं मिल पाई है।

(रिपोर्ट- अलीशेर खान शेरानी)

खबरें और भी हैं...