सप्त दिवसीय श्रीमद् भागवत कथा:कन्यादान करने वालों को पुण्य की प्राप्ति होती है : संत हेतमराम महाराज

नागौर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • भडाना गांव के राम झोपड़ा आश्रम परिसर में किया गया आयोजन

भडाना गांव के राम झोपड़ा आश्रम परिसर में काला परिवार के तत्वावधान में सप्त दिवसीय श्रीमद् भागवत कथा के आयोजन का समापन समारोह हुआ। कथा प्रवक्ता श्री करुणा मूर्ति धाम भादवासी के मुख्य अधिष्ठाता त्यागी संत हेतमराम महाराज ने श्री कृष्ण-रुकमणि विवाह के प्रसंग में कहा कि कन्यादान करने वालों को पुण्य की प्राप्ति होती है। उन्होंने दहेज प्रथा का विरोध करते हुए कहा कि अपनी स्वेच्छा से कन्या के माता-पिता जो भी कन्या को समर्पित करे, उसे गोविंद का प्रसाद समझकर ग्रहण करना चाहिए। श्रीकृष्ण कथा सुनो जीवन को भक्तिमय बनाओ तुम्हारा जीवन धन्य हो जाएगा। हम हैं बाराती गोरी सांवरिया लाल के रूकमणि ले जाएंगे हम भंवरियां डाल के... भजनों पर भडाना के भक्तों ने सामूहिक नृत्य किया। त्यागी संत ने कहा कि भगवान के भक्तों का अपमान नहीं करना चाहिए। अपमान से समस्त कुल का नाश हो जाता है। क्योंकि, भगवान अपना अपमान सह लेते हैं लेकिन भक्तों का अपमान सहन नहीं करते हैं। पंडित मुकेश दाधीच ने हवन एवं श्रीमद् भागवत कथा महापुराण की वैदिक मंत्रों के साथ महाआरती करवाई। प्रेम काला ने बताया कि विधायक मोहनराम चौधरी ने कथा पंडाल निर्माण के लिए 10 लाख रुपयों की घोषणा की। रेवंतराम डांगा ने ₹5 लाख रुपयों की घोषणा की। इसी प्रकार भडाणा सरपंच रामनिवास जेठू ने 21 पट्टी के कमरे के निर्माण की घोषणा की है।

खबरें और भी हैं...